scriptJhalawar Medical College, Jhalawar News, Jhalawar Medical College quar | Jhalawar Medical College.मेडिकल कॉलेज के 9 छात्र निष्कासित, प्रोफेसर के बेटे को बचाया | Patrika News

Jhalawar Medical College.मेडिकल कॉलेज के 9 छात्र निष्कासित, प्रोफेसर के बेटे को बचाया

- Jhalawar Medical College, Jhalawar News, झालावाड़ मेडिकल कॉलेज के एक गुट के छात्रों का आरोप झगड़े में जो छात्र तलवार लहराता दिख रहा, उसे क्यों नहीं कॉलेज से निलम्बित किया गया, क्योंकि वह प्रोफेसर का बेटा है

झालावाड़

Updated: February 19, 2022 09:27:41 pm

झालावाड़. Jhalawar Medical College, Jhalawar News, मेडिकल कॉलेज के छात्रावास में 24 जनवरी को छात्रों के दो गुटों में हुए झगड़े की मेडिकल प्रशासन ने जांच पूरी कर ली है। इसमें नौ छात्रों को छात्रावास परिसर में शराब पार्टी करने, सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने, परिसर में धारदार हथियार लेकर घूमने का दोषी मानते हुए कार्रवाई की है। उधर छात्रों के एक गुट ने सीएम,स्वास्थ्य मंत्री व जिला कलक्टर को पत्र लिखकर कॉलेज प्रशासन पर दबाव में पक्षपातपूर्ण कार्रवाई की शिकायत की है। उनका आरोप है कि झगड़े में जो छात्र तलवार से हमला करता दिख रहा है, उसके कॉलेज से निलम्बित नहीं किया गया है। क्योंकि वह एक प्रोफेसर का बेटा है। उसे बचाया जा रहा है, जबकि दलित छात्रों पर कार्रवाई की गई जो अनुचित है। उधर मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य डा. पी. झंवर का कहना है कि छात्रों में मारपीट मामले में दोषियों के खिलाफ अनुशासन समिति ने एक्शन लिया। जूनियर छात्रों के एग्जाम खत्म होने पर उन्होंने शराब पार्टी की सीनियर छात्रों के समझाने के बाद भी नहीं माने और उनके साथ मारपीट की। इस पर अनुशासन समिति ने जांच कर दोषियों को सजा दी। अब जो भी आरोप लगा रहे हैं वह गलत है।
आठ छात्र निलम्बित
दोषी आठ छात्रों को छह माह के लिए कॉलेज के सभी सत्रों से निलम्बित कर छात्रावास से निष्कासित कर दिया है साथ ही प्रत्येक छात्र पर जुर्माना लगाया गया है। मेडिकल कॉलेज के डीन ने झगड़े के समूचे मामले की जांच स्थानीय अनुशासन समिति से करवाई थी। कमेटी ने मेडिकल कॉलेज के छात्र विक्रम मीणा, महेन्द्र जावा, आशीष मीणा, सचिन मीणा, रविन्द्र मीणा, योगेश गड़वाल को सीनियर छात्रों से मारपीट, सरकारी सम्मति को नुकसान पहुंचाने, शराब पार्टी करने का दोषी माना है। इसके अलावा प्रतापसिंह जोधा, धर्मेन्द्र मीणा को ज्यूनियर छात्रों को मारपीट के लिए उकसाने ,व मारपीट में सहयोग करने का दोषी पाया गया है। अनुशासन समिति की अनुशंसा पर दोषी छात्रों को तत्काल प्रभाव से मेडिकल कॉलेज छात्रावास से स्थायी रूप से निष्कासित किया गया है। साथ ही छह माह के लिए कॉलेज के समस्त शैक्षणिक सत्रां से भी तत्काल प्रभाव से निलम्बित किया गया है।
उधर दूसरे गुट के छात्रा पुलकित सिहाग को प्रतिबंधित धारदार हथियार साथ रखने एवं हथियार के साथ बेवजह रात में कैम्पस में घूमने, जूनियर एवं सीनियर छात्रों के झगड़े में शामिल होने का दोषी पाया गया है। उसे छह माह के लिए छात्रावास से निष्कासित किया गया है। छात्रावास में प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है।
प्रत्येक छात्र पर 10 हजार का जुर्माना
सरकारी सम्पत्ति के नुकसान की भरपाई के लिए प्रत्येक छात्र दस हजार रुपए रुपए आर्थिक दण्ड से दण्डित किया गया है। जिससे से दस हजार रुपए छात्र कैफ अहमद को निजी नुकसान की भरपाई के लिए दिए जाएंगे। पेनल्टी जमा नहीं कराने पर निष्कासन की अवधि छह माह बढ़ाई जाएगी। इस अवधि के दौरान महाविद्यालय परिसर, छात्रावास परिसर या छात्रावास किसी भी कमरे दिखाई देते हैं तो दो हजार रुपए हर बार के हिसाब से पेनल्टी वसूल की जाएगी।
निष्पक्ष जांच की मांग
छात्र धर्मेन्द्र, महेन्द्र जावा व इस गुट के अन्य छात्रों न मेडिकल प्रशासन की कार्रवाई पर असंतोष जताते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि जांच कमेटी को घटना का वीडियो सौंपा था, जिसमें एक छात्र तलवार लेकर हमला करता हुआ दिखाई दे रहा है, लेकिन उसके कॉलेज से निष्कासित नहीं किया है, जबकि जांच कमेटी ने भी दोषी माना है। उन्होंने बताया कि दूसरे पक्ष के एक दर्जन छात्रों ने हमला किया था, लेकिन उनको मेडिकल प्रशासन ने बचा लिया है। गौरतलब है कि छात्रावास में 24 जनवरी की रात छात्रों के दो गुटों में झगड़ा हो गया था। तलवार व अन्य धारदार हथियारों से हमले का प्रयास किया गया था। छात्रों के एक गुट ने छात्रावास के कक्ष के फर्नीचर और गेट को तोड़ दिया था। इस घटनाक्रम का वीडियो भी वायरल हुआ था। मामला पुलिस तक पहुंच गया था। दोनों पक्षों ने मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस मामले की जांच कर रही हैं। दोनों पक्षों के छात्रों के बयान दर्ज हो चुके हैं। इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था। मेडिकल कॉलेज ने भी जांच कमेटी गठित की थी।
Jhalawar Medical College.मेडिकल कॉलेज के 9 छात्र निष्कासित, प्रोफेसर के बेटे को बचाया
Jhalawar Medical College.मेडिकल कॉलेज के 9 छात्र निष्कासित, प्रोफेसर के बेटे को बचाया

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

IPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाWatch: टेक्सास के स्कूल में भारतीय अमेरिकी छात्र का दबाया गला, VIDEO देख भड़की जनताHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.