scriptझालावाड़ मेडिकल कॉलेज हर वर्ष तैयार करेगा आठ सर्जन, 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे पीजी रेजिडेंट | - अपग्रेड होगा कॉलेज | Patrika News
झालावाड़

झालावाड़ मेडिकल कॉलेज हर वर्ष तैयार करेगा आठ सर्जन, 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे पीजी रेजिडेंट

– अपग्रेड होगा कॉलेज

झालावाड़Jun 21, 2024 / 11:54 am

harisingh gurjar

.मेडिकल कॉलेज झालावाड़ के लिए खुशी खबर है, अब यहां मरीजों को 24 घंटे पीजी रेजिडेंट मिलेंगे। एनएमसी ने झालावाड़ मेडिकल कॉलेज को सर्जरी विभाग में 8 सीट आवंटन की है। गौरतलब है कि गत दिनों सर्जरी में पीजी के लिए एनएमसी ने ऑनलाइन निरीक्षण किया था। डीन कार्यालय द्वारा ऑनलाइन आवेदन सबमिट किया था, उसके बाद अब सीटें मिली है। अब झालावाड़ मेडिकल कॉलेज प्रति वर्ष 8 सर्जन तैयार करेगा। वहीं यहां लगातार सर्जरी में शोध होने से कई नई जानकारियां भी डॉक्टरों को सीखने को मिलेगी। सर्जरी विभाग में डॉक्टरों की कमी से लगने वाली लंबी कतारों से भी निजात मिल सकेगी। ऐसे में जो मरीज पहले सर्जरी विभाग में पहुंच भी रहे थे, लेकिन उन्हें समय पर इलाज नहीं मिली रहा था। लेकिन अब 8 पीजी रेजिडेंट के आने से समय पर ऑपरेशन सहित ओपीडी-आईपीडी में हर वक्त डॉक्टर उपलब्ध रहेंगे।
राजस्थान पत्रिका ने लगातार प्रकाशित किया

गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने सर्जरी विभाग में पीजी का मामला लगातार प्रकाशित किया था। पत्रिका ने 22 दिसंबर को 2022 को ‘सर्जरी विभाग खुद बीमार: इलाज हो रहा न ऑपरेशन’ उसके बाद 11 मार्च 2023 को ‘झालावाड़ मेडिकल कॉलेज खुद बीमार, मरीजों को नहीं मिल रहा समय पर उपचार, दिनभर कतार’नामक शीर्षक से प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। उसके बाद राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग ने मरीजों की परेशानी को समझते हुए झालावाड़ मेडिकल कॉलेज को आठ एमएस जनरल सर्जरी में आठ सीटों की अनुमति प्रदान की।
समय पर होंगे ऑपरेशन-

मेडिकल कॉलेज झालावाड़ में पांच यूनिट है, लेकिन उनमें पर्याप्त मैन पावर नहीं होने से मरीजों के ऑपरेशन भी समय पर नहीं हो पा रहे थे। अभी एक माह में करीब 100 ऑपरेशन ही हो रहे थे। लेकिन अब पीजी रेजिडेंट आने से इनकी संख्या दोगुणी हो जाएगी। वहीं आईसीयू व वार्ड भी पीजी रेजिडेंट 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे। अभी सुबह के समय ही राउंड हो रहा था। लेकिन अब हर समय डॉक्टर उपलब्ध रहने से मरीज को थोड़ी बहुत परेशानी होने पर तुरंत तिमारदार संपर्क कर सकेंगे।
अब इस परेशानी से मिलेगी मुक्ति-

झालावाड़ मेडिकल कॉलेज में लंबे समय से सर्जरी में पीजी की मांग की जा रही थी। लेकिन अब एक दशक बाद जाकर आठ सीटें मिलने से विभाग में आ रही कई परेशानियों से निजात मिल सकेगी। कॉलेज में पीजी रेजिडेंट आने से इमरजेंसी कॉल, ओपीडी, मेडिकल बोर्ड ड्यूटी सहित कई काम करने में आसानी रहेगी। वहीं सर्जरी में पीजी नहीं होने से जेआर का एक साल का कार्यकाल पूरा होने से वो भी चले जाते है, लेकिन अब हर साल आठ पीजी रेजिडेंट मिलते रहेंगे।
अब फैकल्टी भी बढ़ेगी-

मेडिकल कॉलेज में पीजी सीट आवंटित होने से अब यहां फैकल्टी सहित अन्य संसाधन भी अपग्रेड होंगे। इससे मेडिकल कॉलेज में पहले की अपेक्षा सर्जरी में गुणवत्ता आएगी।

इसी सत्र से होगा अध्ययन शुरू-
संबंधित पैरामिटर के बाद एसएएफ व स्कू्रटनी एक्सपर्ट ने संतुष्ठ होने के बाद झालावाड़ मेडिकल कॉलेज को 8 सीट अनुमति 11 जून 2024 को दी गई है। इसका मेल हमें आज मिल चुका है। इसी सत्र से सर्जरी में आठ पीजी विद्यार्थी मिल जाएंगे और अध्ययन शुरू होगा।
डॉ.सुभाष जैन, डीन मेडिकल कॉलेज, झालावाड़।

कॉलेज होगा अपग्रेट-

सर्जरी में पीजी खुलने के बाद कॉलेज का अपडेशन होगा। अभी तक एमबीबीएस निकल रहे थे, अब सर्जन तैयार होंगे। फैकल्टी भी बढ़ेगी, इससे मरीजों को सुविधा मिलेगी। नए-नए शोल होंगे।
डॉ.अशोक शर्मा, विभागाध्यक्ष, सर्जरी विभाग, मेडिकल कॉलेज, झालावाड़।

Hindi News/ Jhalawar / झालावाड़ मेडिकल कॉलेज हर वर्ष तैयार करेगा आठ सर्जन, 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे पीजी रेजिडेंट

ट्रेंडिंग वीडियो