scriptनहीं हो रही जलापूर्ति, भीषण गर्मी में ग्रामीण हलकान,नलों में नही टपक रहा पानी : पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा | jhalawar Top News. | Patrika News
झालावाड़

नहीं हो रही जलापूर्ति, भीषण गर्मी में ग्रामीण हलकान,नलों में नही टपक रहा पानी : पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा

There is no water supply, rural areas in the scorching heat, water is not dripping from the taps: one has to wander for drinking water.

झालावाड़May 14, 2024 / 11:49 am

jagdish paraliya

  • भीमसागर. सरकार दावा कर रही है कि जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नलों में पानी पहुंचा रहे हैं। उसके विपरीत खानपुर जलप्रदाय योजना से जुड़े बाघेर कस्बे में घर-घर जल तो दूर की बात पीएचडी द्वारा लगाए सार्वजनिक नल प्वाइंट में ही करीब डेढ़ साल से पानी नहीं आया है। इसके विपरीत ग्रामीणों को भीषण गर्मी में पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में टंकी बनी है लेकिन शोपीस ही नजर आ रही है।
भीमसागर. सरकार दावा कर रही है कि जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नलों में पानी पहुंचा रहे हैं। उसके विपरीत खानपुर जलप्रदाय योजना से जुड़े बाघेर कस्बे में घर-घर जल तो दूर की बात पीएचडी द्वारा लगाए सार्वजनिक नल प्वाइंट में ही करीब डेढ़ साल से पानी नहीं आया है। इसके विपरीत ग्रामीणों को भीषण गर्मी में पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में टंकी बनी है लेकिन शोपीस ही नजर आ रही है।
खानपुर जलप्रदाय योजना से जुड़े बाघेर कस्बे में उस वक्त पांच सार्वजनिक नल प्वाइंट स्थापित किए जिसमें पुलिस चौकी के सामने, तेजाजी मंदिर, आयुर्वेद अस्पताल, बोर भेरू जी, सरकारी स्कूल के पास। इन प्वाइंट में पानी कब आता किसी को नहीं पता। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि करीब डेढ़ साल से नलों में पानी नहीं आया है।
हैंडपंप व ट्यूबवैल से ला रहे पानी

बाघेर कस्बे में जलदाय विभाग द्वारा नियमित जलापूर्ति नहीं होने की वजह महिलाओं को बड़ी मुसीबत उठानी पड़ती है। बाघेर कस्बे की ममता बाई, कौशल्या बाई, नन्दकंवर, चमेली बाई समेत दर्जनों महिलाओं ने बताया कि गांव में सड़कें तो खोद दी परन्तु नलों में पानी कब आएगा पता नहीं है। इस वक्त भीषण गर्मी में हैंडपंप समेत ट्यूबवैल के आसरे पानी भरना पड़ रहा जिसकी वजह से बड़ी परेशानी उठानी पड़ रही है।
जल जीवन मिशन काम अधूरा

बाघेर कस्बे में जल जीवन मिशन का काम भी कछुआ चाल से चल रहा है। गांव की कुछ गलियों में अभी तक पाइप लाइन नहीं बिछाने समेत अधूरे कार्य की वजह घर-घर जल पहुंचाने में विभाग बाघेर कस्बे में पिछड़ा हुआ है। जबकि इस कस्बे में पहले से पानी लाइन बिछी होने के बावजूद जलदाय विभाग की नाकामियों की सजा अब ग्रामीणों को जल के लिए इधर-उधर भटकर पूरी करनी पड़ रही है।
पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। नलों में पानी नही आने की वजह से हैंडपंप पर बहुत सी बार लंबी लाइन लगाकर पानी भरना पड़ता समेत भीषण गर्मी में दिक्कत आ रही है।
मकसूदा बेगम निवासी बाघेर

गांव में नल तो लगे हैं पर पानी नहीं आता। अब पता नहीं कब मिलेगा। गर्मी में एक दिन भी पानी नहीं मिलता। ट्यूबवैल से पानी लेते हैं। बहुत परेशानी उठानी पड़ रही है।
श्यामा बाई निवासी बाघेर

सरकारी पांच प्वाइंट समेत जल जीवन मिशन समेत किसी योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है। बहुत सी बार लिखित में दे चुके हैं। गांव में जलदाय विभाग की योजना शोपीस बनी हुई है।
कांति बाई भील सरपंच बाघेर

सप्लाई तो हो रही है फिर भी दिखवा लेंगे। जल जीवन मिशन का कार्य चल रहा है। ग्रामीणों की समस्या है तो समाधान करेंगे।

  • ओमप्रकाश महावर, कनिष्ठ अभियंता, जलदाय विभाग खानपुर

Hindi News/ Jhalawar / नहीं हो रही जलापूर्ति, भीषण गर्मी में ग्रामीण हलकान,नलों में नही टपक रहा पानी : पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा

ट्रेंडिंग वीडियो