अब शुरु होगा चिकित्सालय का नया 1750 लाख से बना आपातकालीन ब्लॉक

-चिकित्सालय प्रशासन की सभी अड़चने हुई दूर
-नये उपकरण व सामानों के लिए मेडिकल कॉलेज को मिले 4 करोड़

अब शुरु होगा चिकित्सालय का नया 1750 लाख से बना आपातकालीन ब्लॉक
-चिकित्सालय प्रशासन की सभी अड़चने हुई दूर
-नये उपकरण व सामानों के लिए मेडिकल कॉलेज को मिले 4 करोड़
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. राजकीय एसआरजी चिकित्सालय परिसर में 1750 लाख रुपए की लागत से नवनिर्मित आपातकालीन ब्लॉक एक साल बाद अब शुरु हो पाएगा। हालाकि इसे नवम्बर 2018 में पूरा तैयार होना था लेकिन इसके निर्माण के बाद चिकित्सालय प्रशासन ने ब्लॉक में बनाए ऑपरेशन थियटेर में कुछ तकनीकी व अन्य सामान्य खामियां होने से इसके हेण्डओवर में आपत्ति लगा दी थी। आरएसआरडीसी राजस्थान स्टेट रोड़ डेवलोपमेंट कॉरपोरेशन ने अब उन सभी खामियों को दूर कर दिया है। इन दिनो मेडिकल कॉलेज की ओर से यहां स्थापित किए जाने वाले उपकरण आदि व्यवस्थित करने व अन्य तैयारियों के लिए कार्य किया जा रहा है।
-4 करोड़ में आएगे सारे सामान
चिकित्सालय परिसर में मेडिकल कॉलेज को आपातकालीन ब्लॉक के लिए भवन में चिकित्सा के उपकरण व अन्य सामानों के लिए 4 करोड़ रुपए स्वीकृत हो गए है। इन दिनो कॉलेज प्रशासन की ओर से मेडिसिन, सर्जरी, आर्थोपेटिक्स, एनेस्थनिया सहित अन्य सभी विभागों से आपातकालीन ब्लॉक में अपने विभाग के लिए उपकरण व अन्य सामानों की लिस्ट मांगी जा रही है। यहां 60 पलंग होगें व अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएगी।
-हर सुविधा से परिपूर्ण होगा नया आपातकालीन ब्लॉक
आरएसआरडीसी राजस्थान स्टेट रोड़ डेवलोपमेंट कॉरपोरेशन की ओर से राजकीय एसआरजी चिकित्सालय में 1750 लाख रुपए की लागत से नये आपातकालीन ब्लॉक शुरु होने के बाद जहां एक ओर चिकित्सालय के आऊटडोर में भीड़ कम होगी वहीं आपातकालीन में पूर्ण सुविधाएं उपलब्ध हो जाएगी। इसमें भूतल पर 3366 वर्ग मीटर क्षेत्र में पुर्नजीवन वार्ड, ऑब्जर्रवेशन वार्ड, परीक्षण कक्ष, आईसीयू, सोनोग्राफी कक्ष, एक्सरे कक्ष, ड्रेसिंग रुम यूनिट, इन्जेक्शन रुम, ब्लड़ कलेक्शन रुम, माइनर ओटी व वेटिंग रुम आदि बनाए गए है। इसके प्रथम तल पर 2803 वर्ग क्षेत्र में ऑपरेशन थियटर, आईसीयू, ऑपरेटिव वार्ड, पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड, चिकित्सक व स्टाफ सब स्टेशन आदि का निर्माण किया गया है।
-खामिया दूर कर दी गई है
आरएसआरडीसी राजस्थान स्टेट रोड़ डेवलोपमेंट कॉरपोरेशन के परियोजना निदेशक मनोज माथुर का कहना है कि राजकीय एसआरजी चिकित्सालय परिसर में आपतकालीन ब्लॉक की इमारत को हालाकि इसे एक वर्ष पहले तैयार कर लिया गया था, लेकिन चिकित्सालय प्रशासन ने इसके ऑपरेशन थियटर में कुछ कमियां बता दी थी इसे अब ठीक करवा दिया गया है। शीघ्र ही इसे चिकित्सालय प्रशासन को सौप दिया जाएगा।
- ब्लॉक में उपकरण आदि जमाने का काम होगा
इस सम्बंध में मेेडिकल कॉलेज के उपाचार्य डॉ. पी झंवर का कहना है कि राजकीय एसआरजी चिकित्सालय परिसर में आपातकालीन ब्लॉक में निर्मित किए ऑपरेशन थियटर में जलापूर्ति की खामियां रही थी। कुछ स्थानों पर जहां अत्यंत आवश्यकता होती है वहां नल नही लगाए गए थे। इसी प्रकार जलापूर्ति की उचित व्यवस्था नही हो पाई थी मेडिकल कॉलेज के प्रशासन के कहने पर अब आरएसआरडीसी ने उसे दुरस्त कर दिया है। अब शीघ्र ही पूरा कार्य व्यवस्थित होने के बाद इसे शुरु करवा दिया जाएगा।

jitendra jakiy Photographer
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned