शहीद के अंतिम संस्कार के लिए गांव में बनाया नया श्मशान घाट, लग रहे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

शहीद के अंतिम संस्कार के लिए गांव में बनाया नया श्मशान घाट, लग रहे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

Dinesh Saini | Publish: Jul, 13 2018 04:25:23 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2018 04:28:29 PM (IST) Jhalawar, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

जयपुर/झालावाड़। श्रीनगर कुपवाड़ा के जंगलों में छिपे आतंकियों की तलाश में सुरक्षाबलों की ओर से शुरू किए गए सर्च अभियान के दौरान मुठभेड़ में झालावाड़ जिले के खानपुर तहसील के लड़ानिया गांव के शहीद हुए सपूत कमांडो मुकुट बिहारी मीना की पार्थिव देह करीब 1 बजे जयपुर पहुंची। वीर सपूत के गांव में परिजनों सहित ग्रामीणों को शहीद के पार्थिव देह का इंतजार हो रहा है।

 

लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे
पार्थिव देह जयपुर पहुंचने पर शहीद के गांव में लोगों ने जमकर पाकिस्तान के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए साथ ही मुकुट अमर रहे...मुकुट अमर रहे, भारत माता की जय...,के नारे के साथ शहीद की देह को शीघ्र लाने की मांग कर रहे हैं।

 

लाल को देखने के लिए परिजनों की पथराई आंखे
वहीं परिजनो का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। अपने लाल के दर्शन में परिजनों सहित गांव वालों की आंखे पथरा गई है। गांव में प्रशासन का पूरा अमला जुटा हुआ है। जिले के कई नेता भी लड़ानियां गांव पहुंच चुके हैं। अब इंतजार सिर्फ शहीद के पार्थिव देह का हो रहा है। हालांकि गांव में जिला प्रशासन सहित सार्वजनिक निर्माण विभाग के आला अधिकारी मौजूद है।

 

बनाया गया नया श्मशान घाट
शहीद के लिए गांव में नया श्मशान घाट बनाया गया है। जयपुर पार्थिव देह पहुंच चुकी है। लड़ानिया आने के बाद सेना सहित राज्य सरकार की ओर से राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।


शहीद मुकुट बिहारी की पार्थिव देह आज सुबह तक जयपुर एयरपोर्ट पर नहीं पहुंच पाई थी। कश्मीर घाटी में मौसम खराब होने की वजह से सेना का विमान आज सुबह श्रीनगर से उड़ान नहीं भर पाया था। जिससे लोगों को काफी इंतजार करना पड़ा।

गौरतलब है कि श्रीनगर कुपवाड़ा के जंगलों में छिपे आतंकियों की तलाश में सुरक्षाबलों की ओर से शुरू किए गए सर्च अभियान के दौरान मुठभेड़ में झालावाड़ जिले के खानपुर तहसील के लड़ानिया गांव का सपूत कमांडो मुकुट बिहारी मीना शहीद हो गए और एक अन्य कमांडो घायल हो गया। जैसे ही मीना के शहीद होने की सूचना गांव में पहुंची गांव में सुबह से ही ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी है। शहीद के परिवार में है पत्नी अंजना मीणा और पिता जगननाथ मीणा हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned