पेट्रोल-डीजल के विरोध ठेले पर सिलेंडर रख किया प्रदर्शन

पेट्रोल-डीजल के विरोध ठेले पर सिलेंडर रख किया प्रदर्शन

harisingh gurjar | Publish: Sep, 11 2018 11:14:58 AM (IST) Jhalawar City, Jhalawar, Rajasthan, India

- जिलेभर में करीब ढ़ेड करोड का काम हुआ प्रभावित

 

झालावाड़.कांग्रेस की ओर से पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस की बेलगाम कीमतों के विरोध में सोमवार सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक भारत बन्द के किए गए आह्वान पर झालावाड़ जिला बंद रहा। शांतिपूर्ण माहौल में शहर के अधिकांश क्षेत्रों में प्रतिष्ठान 2.30 बजे तक बंद रहे। इसके बाद प्रतिष्ठान खुलने शुरू हो गए। वहीं मुख्य बाजारों में चहल-पहल कम नजर नहीं आई। भारत बंद को लेकर पुलिस चाक-चौबंद दिखी। पेट्रोल व डीजल में लगातार बढ़ रहे दामों को लेकर आमजन में बढ़ रहे रोष के चलते सरकार की ओर से रविवार रात को कम की गई कीमतों के चलते लोगों ने राहत की सांस जरूर ली है। लेकिन कांग्रेस का विरोध प्रखर नजर आया। जिले में मामा भांजा चौराहे पर एक पेट्रौल पम्प के सामने कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

रैली निकाल बंद करवाए बाजार-
शहर में सुबह मामा-भांजा से शुरू हुई कांग्रेस की रैली में ठेले पर रसोई गैस सिलेंडर रखकर निकाली रैली मंगलपुरा, बड़ा बाजार, बस स्टैंड होते हुए वापस मामा-भांजा चौराहे पर पहुंची। यहा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर पेट्रोल-डीजल के दामें में वृद्धि का विरोध प्रकट किया। रैली में कांग्रेस जिलाध्यक्ष कैलाश मीणा, पीसीसी सदस्य शैलेन्द्र यादव, सुरेश गुर्जर, सभापति मनीष शुक्ला, उपसभापति शफीक खान, सुनील गुप्ता,आमीर खान, राहुल गोयल, ओमपाठक, पार्षद गजेन्द्र गुर्जर,फारुख अहमद, महावीर गौड़, डॉ.नन्द सिंह राठौड़, ब्लॉक अध्यक्ष फरीद चौधरी, राकेश गौड, पवन जैन, सुरेन्द्र सिंह हाड़ा, आशीष शर्मा सहित कई कांग्रेसी नेता मौजूद रहे। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कई क्षेत्रों में बाइक पर घूम कर दुकानें बंद करवाई। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने केन्द्र व राज्य सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

आवश्यक सेवाओं को बंद से रखा बाहर-
जिले में आवश्यक सेवाएं बंद से बाहर रखी गई थी, इसके चलते सुबह से मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप सहित अन्य आवश्यक सुविधाएं सुचारू रुप से चालू रही। वहीं कई शिक्षण संस्थान भी खुले हुए नजर आए।

दूसरी बार बंद से परेशान दिखे लोग-
जिले में 6 सितम्बर को एसटीएसी एक्ट के विरोध में ओबीसी व सवर्ण समाज ने बंद करवाया,तीसरी बार कांग्रेस ने बंद करवाया इससे कई व्यापारी बार-बार बंद के नाम पर नाराज नजर आए, एक किराना व्यापारी ओमप्रकाश ने बताया कि बार-बार बंद से छोटे दुकानदारों को काफी नुकसान होता है। सरकार को बंद का स्थाई समाधान निकालना चाहिए।

बंद से कारोबार प्रभावित-
जिलेभर में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहने से करीब ढेड़ करोड़ का करोबार प्रभावित रहा है। हालांकि कुछ स्थानों पर 12 बजे ही सब्जी मार्केट व मंडियां खुलने से ज्यादा कारोबार प्रभावित नहीं हुआ है। ढ़ाई बजे से झालावाड़ शहर में भी दुकाने खुलनी शुरू हो गई थी।

जिले में इतना आया तेल के दामों में सुधार
- पेट्रोल के दाम
रविवार-83.55
सोमवार -81.37
2.21 रुपए कम हुआ

डीजल के दाम
रविवार- 77.42
सोमवार-75.93
2.19 रुपए कम हुआ

जिले में कुल पैट्रोल पंप-70
पैट्रोल की खपत-
जिले में पेट्राल की करीबन प्रतिदिन 2 लाख 10 हजार लीटर की खपत होती है।
फायदा- 4 लाख 20 हजार प्रतिदिन का हुआ।
डीजल की खपत-
जिले में प्रतिदिन डीजल की खपत प्रतिदिन करीब 2 लाख 80 हजार लीटर
फायदा- 5 लाख 80 हजार
वर्जन-
पैट्रोल के दाम सरकार ने कांग्रेस के दबाव में 2 रुपए कम किए है, लेकिन सरकार इसे 65 रुपए तक कर सकती है। सरकार को तेल के दामों को स्थाई समाधान निकालना चाहिए।
सत्यनारायण गुप्ता,खानपुर
रसोई गैस सिलेंडर 8 सौ रुपए का हो गया है। शहर में ही छोटे-छोटे काम के लिए बाइक में 100 रुपए का पैट्रोल प्रतिदिन डलवाना पड़ रहा है। पहले बाइक 100 रुपए में दो दिन चल जाती थी।
शाकिब हुसैन, झालावाड़

जिलेभर में बंद शातिपूर्व रहा, सभी संगठनों का बंद के लिए आभार प्रकट करते हैं। सरकार ने 4 फीसदी वेट कम किया है, जबकि इसे 15 फीसदी तक कम किया जाना चाहिए। गैस पर प्रतिसिलेंडर 100 रुपए कम किए जाने चाहिए थे।
कैलाश मीणा, जिलाध्यक्ष कांग्रेस, झालावाड़।
राज्य सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 4 फीसदी वेट कम किया है। इससे लोगों को निश्चित रुप से फायदा होगा। केन्द्र सरकार भी अगर वेट कम करती है तो दाम में ओर कमी हो सकती है। पहले मध्यप्रदेश में दाम कम होने से बोर्डर के निकट के लोग वहां से तेल ला रहे थे, इस लिए खपत कम हो रही थी, अब यहां भी दाम कम हुए है, तो बिक्री बढ़ जाएगी।
राम पाटीदार, जिलाध्यक्ष पेट्रोल पंप एसोसिएशन, झालावाड़।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned