छाया कोहरा, तेज सर्दी से बढ़ी गलन

 

सर्दी का सितम जारी: ठिठुरा रही बर्फीली हवाएं

- एक सप्ताह से झालावाड़ में सर्द मौसम, 11बजे तक छाया रहा कोहरा
- अलाव बने सहारा

By: harisingh gurjar

Published: 03 Jan 2020, 11:39 AM IST

Jhalawar, Jhalawar, Rajasthan, India


झालावाड़. वर्ष भले ही बदल गया पर जिले में सर्दी का सितम बरकरार है। पिछले एक सप्ताह से हाड़ कंपाने वाली सर्दी पड़ रही है। तेज सर्दी के चलते सुबह दस बजे तक जरूरी काम होने पर ही लोग घरों से बाहर निकले। गुरुवार को जोरदार कोहरा छाने से वाहन चालकों को दिनभर लाइट जलाकर वाहन चलाना पड़ा, वहीं ओस व शीतलहर नेे दिनभर लोगों को ठिठुरा दिया। तो कोहरे ने सूर्य देवता के दर्शन नहीं होने दिए। लोगों ने सर्दी से बचाव के लिए अलाव का सहारा लिया। शाम तक आम जन जीवन खासा प्रभावित रहा। बाजार में अन्य दिनों की बजाए कम भीड़ रही। दोपहर में पारा 10 डिगी था जो शाम ढ़लने के साथ ही नीचे गिरता गया। शाम को पारा 7 डिग्री पर पहुंच गया। वहीं रात को पारा और नीचे जानेसे सर्द हवा के साथ गलन बढ़ गई। शाम को बाजार जल्दी ही बंद हो गए। लोग घरों में कैद हो गए। सर्दी के दौर में घरों-दुकानों व सड़कों पर लोग अलाव का सहारा लेते नजर आए।


बुजुर्गों ने बताया कि इस बार बारिश देर से आई है ऐसे में सर्दी का असर भी ज्यादा ही रहेगा। इसबार फरवरी माह तक सर्दी ज्यादा होने का अनुमान है। लगातार सर्दी का प्रकोप खाफी दिनों बाद महससू हुआ है।

बंद कमरे में भी दिनभर ठिठुरन-
जिले में जोरदार सर्दी से बंद कमरे में भी लोग दिनभर ठिठुरते नजर आए। लोगों ने दिनभर हिटर जलाकर सर्दी से राहत पाने का जतन किया। वहीं गुरुवार को बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की संख्या बहुत कम नजर आई।


पिछले सालों का रिकॉर्ड तौड़ रही सर्दी-
जिले में इस बार सर्दी पिछले सालों का रिकॉर्ड तौड़ रही है। ऐसे में सर्दी से पीडि़त काफी मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। चिकित्सकों के अनुसार निमोनिया व श्वांस से पीडि़त मरीज अधिक आ रहे हैं। तेज सर्दी से श्वांस व दमा के मरीजों को सुकून नहीं मिल पा रहा है। जिले में गुरूवार को अधिकतम तापमान 20 व न्यूनतम 7 डिग्री रहा। वहीं पिछले वर्ष 2 जनवरी को अधिकतम तापमान 27 व न्यूनतम 8 डिग्री था।

तेज सर्दी से नन्हें बच्चों भी हो रहे परेशान-
जिले में तेज सर्दी को देखते हुए 4 जनवरी तक कक्षा 1 से 8वीं तक के विद्यार्थियों के जिलाकलक्टर ने अवकाश घोषित कर रखे हैं। ऐसे में इन छात्रों को सर्दी से थोड़ी राहत मिल रही है। लेकिन जिले में महिला एवं बाल विकास विभाग ने आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले बच्चों के अवकाश करने के बजाए उनका समय 11 से 3बजे तक कर दिया है। ऐसे में इन केन्द्रों पर आने वाले बच्चे गुरुवार को ठिठुरते नजर आए। ऐसे में कुछ अभिभावकों ने बताया कि स्कूलों के बच्चों को सर्दी लगती है, लेकिन आंगनबाड़ी में आने वाले बच्चों को सर्दी नहीं लगती है क्या। इन बच्चों की भी हाड़ कंपा देने वाली सर्दी में भी अवकाश नहीं करना गलत है।

रेंगते नजर आए वाहन-
जिले में सुबह 11 बजे तक जोरदार कोहरा होने से सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए। वाहन चालकों को हैड लाइट जलाकर वाहन चलाने पड़े।

फसलों पर नजर आ रहा सर्दी का असर-
जिले में कड़ाके की सर्दी का असर फसलों पर भी नजर आ रहा है। जिले में धनिया, गेहूं, सरसों सहित अन्य फसलों पर तेज सर्दी का असर नजर आ रहा हैं। वहीं कृषि जानकार धनिया में पाला पडऩे की संभावना जता रहे हैं। ऐसे में कृषि विशेषज्ञ पाले से फसलों को बचाने के लिए मेढ़ पर धुंआ करने व हल्की सिंचाई व गंधक का स्प्रे करने की सलाह दे रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned