चंद्रभागा विकास के लिए सर्वे शुरू, इंजीनियर पहुंचे

arun tripathi

Publish: Jun, 14 2018 05:05:51 PM (IST)

Jhalawar, Rajasthan, India
चंद्रभागा विकास के लिए सर्वे शुरू, इंजीनियर पहुंचे

साबरमती नदी की तर्ज पर होगा विकास

झालरापाटन. मोक्षदायिनी चंद्रभागा नदी के विकास और संरक्षण के लिए सर्वे का कार्य शुरू हो गया है। शीघ्र ही इसके लिए निविदाएं आमंत्रित कर निर्माण शुरू करा दिया जाएगा।
नगरपालिका अधिशासी अधिकारी महावीर सिंह सिसौदिया और जल संसाधन विभाग अधिशासी अभियंता अजीत कुमार जैन ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर अहमदाबाद की अर्थ फाउण्डेशन कंसलटेंट कंपनी ने साबरमती नदी की तर्ज पर नदी के विकास को लेकर कवायद शुरू कर दी।
--तीन दिन में रिपोर्ट देंगे
दिनेश कंसलटेंट कंपनी के इंजीनियर यहां पहुंच गए हैं और उन्होंने बुधवार से नदी के उद्गम स्थल मूंड़लियाखेड़ी तालाब से लेकर मुक्तिधाम तक का सर्वेक्षण कार्य शुरू कर दिया। यह एजेंसी तीन दिन में पूरे नदी क्षेत्र का सर्वे कर रिपोर्ट कलक्टर को देगी। इसके बाद काम की निविदाएं आमंत्रित कर निर्माण शुरू कराया जाएगा। इसमें पशुपतिनाथ मंदिर से चंद्रमौलेश्वर तक मुख्य विकास कार्य होंगे।
--हटेंगे कब्जे
अधिकारियों ने बताया कि उद्गम स्थल से लेकर अंतिम छोर तक नदी के दोनों किनारों को २५० मीटर तक खाली कराया जाएगा। इसमें आने वाले खेत, कच्चे-पक्के मकान, कच्ची बस्ती व अन्य सभी तरह के अतिक्रमणों को हटाया जाएगा।
--लक्ष्मण झूला बनेगा
सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से निजी कन्सलटेन्ट कंपनी के माध्यम से नदी पर बनाए जाने वाले लक्ष्मण झूले के लिए बोरिंग मशीन से मिट्टी निकालकर इसका बोरिंग केपिसिटी सर्वे किया जा रहा है। इससे झूला स्थायी रूप से मजबूत बनाया जा सके।
--सौंदर्यीकरण होगा
नदी के दोनों और घाट, पार्क , बारह द्वारी, छतरियां, हैगिंग ब्रिज, पार्किंग, पाथ-वे, रास्ते, बिजली के पोल व सौंदर्यीकरण के लिए अन्य संसाधन लगाए जाएंगे। इस मामले को लेकर कलक्टर ने संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर इस कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए हंै।

सहकारी बैंक यूनियन सदस्यों का प्रदर्शन
झालरापाटन. यूनाईटेड फोरम ऑफ को ऑपरेटिव बैंक यूनियन्स जिला शाखा के आह्वान पर १५ वें वेतन समझौते की मांग को लेकर यूनियन सदस्यों ने बुधवार को लंच समय में सहकार भवन पर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।
यूनियन सदस्य दोपहर को सहकार भवन के समक्ष एकत्र हुए। इन्होंने कर्मचारियों की लंबित मांगों को पूरा नहीं करने के विरोध में राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन स्थल पर हुई सभा में ऑल राजस्थान को ऑपरेटिव बैंक एम्पलाईज यूनियन जिला सचिव महेन्द्र कुमार जैन व राजस्थान सहकारी बैंक कमर्चारी संघ जिला सचिव अनुराग शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार व सहकारी विभाग प्रशासन ने ५३ माह से १५ वें वेतन समझौते को लागू करने के लिए अभी तक कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की। यदि २४ जून तक इसे लागू नहीं किया तो राज्य के सहकारी बैंक अधिकारी व कर्मचारी २५ व २६ जून को हडताल करेंगे।
--यूनियन से वार्ता नहीं की
सहकारी बैंक कर्मचारियों के वेतनमान के संबंध में पूर्व में हुए १४ वें वेतन समझौते की अवधि ३१ दिसम्बर २०१३ को समाप्त हो गई है। इस संबंध में सरकार ने १८ अप्रेल २०१६ को प्रमुख शासन सचिव सहकारिता की अध्यक्षता में कमेठी का गठन किया था। इस कमेटी को तीन माह में यूनियन पदाधिकारियों से वार्ता कर सरकार को रिपोर्ट देनी थी, लेकिन दो वर्ष बाद तक भी कमेटी ने यूनियन से वार्ता नहीं की और मांगों के प्रति उपेक्षापूर्ण रुख अपनाया। इसे लेकर सदस्यों में रोष व्याप्त है। प्रदर्शन में सहकारी बैंक और झालावाड़ भूमि विकास बैंक के यूनियन सदस्यों ने भाग लिया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned