स्वाद ऐसा कि व्यापारी स्वयं आते हैं खरीदने

पिड़ावा के सरोनिया व आसपास के गांवों में संतरे की अच्छी पैदावार

By: arun tripathi

Published: 04 Apr 2019, 03:10 PM IST

पिड़ावा. क्षेत्र में इस वर्ष संतरे की बम्पर पैदावार हुई है। भारत में महाराष्ट्र के नागपुर के बाद झालावाड़ जिले का संतरा सबसे अधिक लोकप्रिय है।
सरोनिया गांव व उसके आस पास के किसान काफी समय पहले से ही संतरा उत्पादन कर रहे हंै। क्वालिटी इतनी बढिय़ा है कि किसानों को बेचने के लिए मंडियों के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ते है। यहां महाराष्ट्र से आए व्यापारी किसानों के खेत में ही संतरे से लदे बगीचों का सौदा कर लेते हैं।
बगीचों से मजदूरों के माध्यम से संतरों को तुड़ाकर अस्थायी मंडी में लाते हैं। वहां मजदूरों से संतरे की ग्रेडिंग व पेकिंग का कार्य होता है। यही से देश के कोने-कोने में सप्लाई किया जाता है। क्षेत्र में लगभग दो दशकों से संतरे का उत्पादन किया जा रहा है। इससेे पाटीदार बहुल गांव सरोनिया में संतरे की खेती अस्तित्व में आने के बाद गांव की दशा व दिशा बदल गई। महाराष्ट्र के संतरा व्यापारी समीर ने बताया कि नागपुर के बाद सरोनिया में सबसे अच्छी क्वालिता का संतरा मिलता है। 2003 से सरोनिया आ रहे हैं, ग्रामवासियों व किसानों का अच्छा सहयोग मिलता है।
वहीं किसान संजय पाटीदार ने बताया कि कई वर्षों संतरे का उत्पादन कर रहे हैं, हमारे बुजुर्ग भी संतरे का उत्पादन करते थे, जब से क्षेत्र में महाराष्ट्र के व्यापारी आने लगे हैं जब से मेहनत रंग लाई है, आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है, यहां का संतारा महाराष्ट्र, बांग्लादेश सहित अन्य राज्यों व विदेशों में प्रसिद्ध है।

समयावधि निकलने और निर्माण पूरा नहीं होने से ठेका निरस्त
भवानीमंडी ञ्च पत्रिका. पंचायत समिति भवन के निर्माण कार्य में शुरु हुए विघ्न अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। ठेकेदार द्वारा इसकी निर्माण समयावधि निकलने और 20 फीसदी काम भी नहीं होने से प्रशासन अब निर्माण कार्य का ठेका निरस्त कर दिया। आचार संहिता के बाद नए टैण्डर निकाले जाएंगे, जिससे अब इस भवन के पूरा होने की संभावना जताई।
गत भाजपा सरकार में भवानीमंडी मेें नई पंचायत समिति बनाने की घोषणा की। बाद में भवन निर्माण के लिए दो करोड़ रुपए की राशि मंजूर हो गई, लेकिन लंबे समय तक जमीन नहीं मिल सकी। जल संसाधन विभाग के पास इसके लिए 6 बीघा 2 बिस्वा जमीन मिलने के बाद टेंडर हुए। इसमें 2.79 करोड़ रुपए लागत से भवन का निर्माण कार्य दिया। 10 जुलाई 2017 को शुरू हुए इसके निर्माण कार्य को 2018 में 9 अक्टूबर को पूरा हो जाना चाहिए था, लेकिन शुरू में इसकी नींव कुर्सी की डिजाइन और निर्माण को लेकर विवाद बना रहा। नींव कुर्सी का काम हो गया तो भुगतान आदि कारणों से ठेकेदार ने इसका काम रोक दिया। निर्माण पूर्ण करने की अवधि बीतने पर इस भवन का मुश्किल से 20 प्रतिशत ही काम पूर्ण हो सका है। तब से ही ठेकेदार को काम शुरू करने के लिए नोटिस-दर-नोटिस दिए जा रहे थे, लेकिन उसने काम शुरू नहीं किया। पंचायत समिति भवन अभी भी आदर्श स्कूल चौराहा पर श्रीराधेश्याम मंदि ट्रस्ट के भवन में किराए पर संचालित है।
--पंचायत समिति निर्माण ठेकेदार का ठेका निरस्त कर दिया है। अब आचार संहिता हटने के बाद भवन निर्माण के नए सिरे से टैण्डर निकाले जाएंगे, इसके बाद भवन निर्माण शुरु होगा।
नवीन सोनी, कार्यवाह विकास अधिकारी, भवानीमंडी

शराब की दुकान का विरोध
खानपुर ञ्च पत्रिका. कस्बे के झालावाड़ रोड पर रिहायशी कॉलोनी में शराब दुकान लगाने का कॉलोनी वासियों ने विरोध कर कलक्टर के नाम ज्ञापन देकर इसे दूर लगाने की मांग की। कॉलोनी के वाशिंदों ने बताया कि आबकारी विभाग का नया ठेका स्वीकृत होने पर केसर विहार कॉलोनी में शराब की दुकान खोली है। दुकान के आसपास के कई जैन समाज के मकान हैं, दुकान खुलने से आए-दिन गाली गालौच होती है। महिलाओं व बालिकाओं का घर से निकलना दूभर हो गया है। नियमानुसार शराब की दुकान आबादी से 200 मीटर दूर लगाने का प्रावधान है लेकिन दुकान आबादी से 90 मीटर दूर लगी है।

बाइक फिसलने से चालक घायल
पिड़ावा ञ्च पत्रिका. कस्बे में सुबह 8 बजे वार्ड 12 के माताचौकी चौराहे पर बाइक फिसलने से युवक (22) गोविंद मेहर गंभीर घायल हो गया। घायल को वार्डवासियों ने निजी वाहन से सीएचसी पहुंचाया। चौराहे पर ऊबड़ खाबड़ सीसी रोड बना है। वहीं ब्रेकर भी नहीं है। प्रशासन को कई बार अवगत कराया, लेकिन ध्यान नहीं दिया।

arun tripathi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned