scriptThis disease is included in the world's ten major diseases, treatment | विश्व की दस बड़ी बीमारियों में शामिल है ये बीमारी, इलाज संभव | Patrika News

विश्व की दस बड़ी बीमारियों में शामिल है ये बीमारी, इलाज संभव


- स्क्रिजोफ्रेनिया दिवस आज

झालावाड़

Updated: May 23, 2022 09:00:21 pm

झालावाड़.स्क्रिजोफ्रेनिया ऐसी मानसिक बीमारी है, जो आत्महत्या का कारण बन जाती है। एक अध्ययन के अनुसार स्क्रिजोफ्रेनिया की चपेट में आने वाले ज्यादातर युवा होते हैं। देश की शहरी आबादी में प्रति हजार लोगों में दस इसकी चपेट में हैं। इनमें से 90 प्रतिशत लोगों का इलाज तक नहीं हो पाता। एसआरजी चिकित्सालय के वरिष्ठ मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. शकील अंसारी ने बताया कि इस बीमारी की चपेट में आने वाले ज्यादातर 16 से 45 वर्ष आयु वर्ग के होते हैं। इसमें मरीज को ऐसी चीजें दिखाई और सुनाई देती हैं,जो हकीकत में होती ही नहीं। बीमारी और इलाज के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए 24 मई को विश्व स्क्रिजोफ्रेनिया दिवस मनाया जाता है।
 This disease is included in the world's ten major diseases, treatment is possible
विश्व की दस बड़ी बीमारियों में शामिल है ये बीमारी, इलाज संभव
ऐसे होते है इस बीमारी के लक्षण-
डॉ. अंसारी ने बताया कि इस बीमारी की चपेट में आने वाले लोग सबसे अलग रहने लगते हैं, मरीज को डर लगना, गुस्सा आना, बिना वजह शक करना, कई मरीजों में गुमसुम रहना, नहाना धोना छोडऩा, अपने आप को अलग कमरे में बंद कर लेना। लोग इस बीमारी को बीमारी नहीं मानते हैं, हवा का असर का समझते हंै और झांड-फूंक में लगे रहते हैं। जबकि इसका इलाज संभव है। ऐसे में समय से समुचित इलाज बेहद जरूरी है। बीमारी का कारण आनुवांशिक, तनाव, पारिवारिक झगड़े व नशे की लत होती है। हालांकि समय से इलाज शुरू होने पर छह-सात माह में मरीज पूरी तरह ठीक हो सकता है।
बड़ी बीमारियों में शामिल-
चिकित्सकों ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने स्क्रिजोफ्रेनिया को युवाओं की सबसे बड़ी क्षमतानाशक बीमारी घोषित किया है। विश्व की 10 सबसे बड़ी अक्षम बनाने वाली बीमारियों में शामिल स्क्रिजोफ्रेनिया की चपेट में आने पर रोगी के साथ ही परिजनों की दिक्कत भी बढ़ जाती है।
जागरुक करेंगे-
स्क्रिजोफ्रेनिया बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए प्रति वर्ष २४ मई को स्क्रिजोफ्रेनिया दिवस मनाया जाता है। एसआरजी चिकित्सालय में सुबह १०बजे मनोरोग विभाग में शिविर आयोजित किया जाएगा।
डॉ. शकील अंसारी, विभागाध्यक्ष मनोरोग विभाग,जेएमसी, झालावाड़।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Britain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीपीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीलालू प्रसाद यादव की हालत नाजुक, तेजस्वी यादव बोले - '3 जगह फ्रैक्चर, दवा के ओवरडोज से तबीयत बेहद बिगड़ी'Karnataka: बागलकोट जिले के केरूर में हिंसा, चार घायल, तीन गिरफ्तारBhagwant Mann Marriage Live Updates: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अरविंद केजरीवाल ने दी बधाईMumbai: कन्हैया लाल का समर्थन करने पर नाबालिग लड़की को मिली जान से मारने की धमकी, जानें पूरा मामलाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 जुलाई को पटना जाएंगे, बिहार विधानसभा का दौरा करने वाले होंगे पहले पीएमMaharashtra Cabinet: कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभाग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.