scriptराजस्थान के इस जिले में ढाई लाख परिवारों को तेल, शक्कर-मसाले का इंतजार, जानिए क्यों | Two and a half lakh families in Jhalawar district are waiting for oil, sugar and spices | Patrika News
झालावाड़

राजस्थान के इस जिले में ढाई लाख परिवारों को तेल, शक्कर-मसाले का इंतजार, जानिए क्यों

Rajasthan News: झालावाड़ जिले में पिछले छह माह से फूड पैकेट का वितरण बंद

झालावाड़Jun 17, 2024 / 12:59 pm

Rakesh Mishra

Rajasthan News: पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की ओर से पिछले साल 15 अगस्त पर प्रदेश के 1.04 करोड़ गरीब परिवारों के लिए शुरू की गई अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना बीते छह माह से बंद पड़ी है। अंतिम बार वितरण दिसबर 2023 में किया गया था। इसके बाद वितरण बंद हो गया और फिर लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लग गई। झालावाड़ जिले में 10 लाख 34 हजार लोग इससे वंचित हैं। अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना गहलोत सरकार की महत्वपूर्ण दस योजनाओं में से एक थी। योजना के तहत केवल पांच माह ही फूड पैकेट वितरित हो सके। विधानसभा चुनाव के बाद दिसंबर में अंतिम बार फूड पैकेट आए थे।

एक बार बिना फोटो के वितरण, फिर बंद

योजना की शुरुआत के समय पैकेट पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का फोटो लगा था। राज्य में भाजपा सरकार बनने के बाद एक बारगी फूड पैकेट से पूर्व मुख्यमंत्री का फोटो हटाकर वितरण किया था, लेकिन जिले में पिछले छह माह से वितरण बंद है।

तेल व मसाले मिलते हैं

राशन दुकानों पर पोस मशीन के माध्यम से फूड पैकेट वितरित करने की यह योजना है। इसमें एक-एक किलो चना दाल, चीनी, एक लीटर सोयाबीन रिफाइंड खाद्य तेल, नमक, 100-100 ग्राम मिर्च पाडडर व धनिया पाउडर तथा 50 ग्राम हल्दी पाउडर निशुल्क मिलता है। एक पैकेट की कीमत लगभग 360 रुपए थी। मजदूर रामप्यारी, कौशल्याबाई, रमेशचन्द्र आदि ने बताया कि महंगाई के जमाने में ढाई तीन सौ रुपए कमाते हैं, लेकिन कम पड़ते हैं। सरकार द्वारा पहले दिए जा रहे फूड पैकिट फिर से दिए जाने चाहिए ताकि गरीबों को थोड़ी तो राहत मिले

जिले में इतने राशनकार्ड है

ब्लॉक राशनकार्ड

अकलेरा 35161
बकानी 27173
भवानीमंडी 24415
डग 35994
झालरापाटन 28517
खानपुर 29854
मनोहरथाना 32796
पिड़ावा 41503
अकलेरा 3301
भवानीमंडी 5665
झालावाड़ 6598
झालरापाटन 5023
पिड़ावा 2238
कुल 278238

फैक्ट फाइल

  • प्रदेश में 1.04 करोड़ राशन कार्ड हैं
  • प्रदेश में 4.33 करोड़ लोगों को हर महीने मिलता है नि:शुल्क पांच किलो गेहूं
  • झालावाड़ जिले में 10 लाख 34 हजार एनएफएस लाभार्थी हैं।
  • एनएफएस में जिले में हैं 2 लाख 78 हजार राशनकार्ड
जिले में दिसंबर तक फूड पैकिट का वितरण हुआ था, उसके बाद कोई वितरण नहीं हुआ। अभी आगे से कोई निर्देश नहीं है। जिले में 2 लाख 78 हजार को पैकिट मिलते थे।
जितेन्द्र कुमार, जिला रसद अधिकारी, झालावाड़

Hindi News/ Jhalawar / राजस्थान के इस जिले में ढाई लाख परिवारों को तेल, शक्कर-मसाले का इंतजार, जानिए क्यों

ट्रेंडिंग वीडियो