महिला आयोग की अध्यक्ष के सामने महिलाओं ने रखी समस्याएं...

-अधिकारियों व जन प्रतिनिधियों को संवेदनशीलता से निस्तारण के दिए निर्देश

By: jitendra jakiy

Published: 07 Jun 2018, 06:59 PM IST

महिला आयोग की अध्यक्ष के सामने महिलाओं ने रखी समस्याएं...
-अधिकारियों व जन प्रतिनिधियों को संवेदनशीलता से निस्तारण के दिए निर्देश
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा के सामने गुरुवार केा जिले व आसपास से आई दर्जनों महिलाओं ने अपनी समस्याएं रखी। इस दौरान अधिकतर के पारिवारिक मतभेद सामने आए। जनसुनवाई के दौरान सास-बहू, पति-पत्नी, पड़ौसियों एवं स्थानान्तरण इत्यादि प्रकरणों पर महिला परिवादियों की सुनवाई की गई। गुरूवार को मिनी सचिवालय के सभागार में आयोजित जनसुनवाई में उन्होने महिला परिवादियों की समस्याओं को सुना तथा उनके निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलक्टर कार्यालय के 11 व पुलिस अधीक्षक कार्यालय के 6 प्रकरणों पर महिला आयोग की अध्यक्ष द्वारा सुनवाई की गई। इस अवसर पर अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि उन्होंने कहा कि कई बार बलात्कार के मामलों में पीडि़त महिला पुलिस में गलत एफआरआई दर्ज करा का देती है और प्रतिकर राशि न्यायालय के माध्यम से गलत तरीके से प्राप्त कर लेती हैं, उसके बाद आरोपी से ही विवाह कर लेती है। उन्होंने कहा कि बलात्कार के ऐसे मामलों में उचित व गहराई से अनुसंधान के पश्चात ही पीडि़त को पीडि़त प्रतिकर योजना का लाभ प्रदान किया जाए ताकि जिले और राज्य को ऐसे झूठे मामलों के कारण लज्जित न होना पड़े। आयोग ने झालावाड से पहले राज्य के अन्य 20-२२ जिलों में जनसुनवाई की है परन्तु झालावाड़ में महिला जनसुनवाई करने के उपरान्त सुखद अनुभव हुआ कि यहां के जनप्रतिनिधि व अधिकारी बहुत ही संवदेनशीलता से पीडि़तों की सहायता करते हैं। पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सरोकार से जुड़ी पेंशन व छात्रवृत्तियां दिलाने के लिए तत्परता व तल्लीनता से कार्य करते है। उन्होंने जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक से कहा कि महिला आयोग द्वारा भेजे गए परिवादों के निस्तारण के उपरांत उसकी पालना रिपोर्ट आयोग को भी शीघ्र भिजवाएं।
-प्रियंका ने बनाया शर्मा को मां
जन सुनवाई के दौरान शहर के राड़ी के बालाजी क्षेत्र मे रहने वाली एक युवती प्रियंका ने कहा कि उसकी एक साल पहले बेमेल विवाह हो गया था, पति कम पढ़ा लिखा, नाटा व कुछ काम नही करता था, मारपीट करता था, उसने काफी समझा लेकिन कोई हल नही निकला मजबूरन वह महिला सुरक्षा व सलाह केंद्र की मदद से अलग हो गई। अपनी बात खत्म करते ही प्रियंका ने आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा से भावानात्क रुप से कहा कि मेरी मां नही है और मै आपको एक बार मां कहना चाहती हूं। उसने रुधे गले से शर्मा को मां कह कर पुकारा व पैर छुकर आर्शिवाद लिया।
-महिला सुरक्षा सलाह केन्द्र से ली जानकारी
महिला सुरक्षा सलाह केन्द्र की सलाहकार संगीता देवड़ा तथा विधि सलाहकार रत्नेश झाला ने बताया कि केन्द्र द्वारा समय-समय पर पीडि़त महिलाओं को काउन्सिलिंग के माध्यम से राहत प्रदान की जाती है। आपसी समझाइश से दोनों पक्षों में सुलह करवाई जाती है। केंंद्र की निदेशक नेहा सौलंकी ने उन्हे केंद्र की गतिविधियों की जानकारी दी।
-यह रहे उपस्थित
जन सुनवाई के दौरान जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र सोनी, महिला आयोग की सदस्य सचिव अमृता चौधरी, आयोग की सदस्य अरूणा मीणा, पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर भवानी सिंह पालावत, सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक गौरीशंकर मीना, महिला आधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक मैरिंगटन सोनी, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय जैन, योगिता उद्यमिता एवं विकास संस्थान की प्रतिमा चौहान, पायल जनकल्याण संस्थान की अध्यक्ष गीता राजपाल सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

बच्चों का स्वागत कर किया सुपोषण दिवस का शुभारम्भ
-महिला आयोग की अध्यक्ष ने जाने बच्चों के हाल
झालावाड़. राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों पर संचालित होने वाले सुपोषण दिवस का शुभारम्भ गुरुवार को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने किया। मिनी सचिवालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में शर्मा ने राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत आंगनबाड़ी केन्द्र के बच्चों में पोषण की मात्रा बढ़ाने के लिए फलों का वितरण व स्वास्थ्य पोषण की सलाह दी। इस अवसर पर उन्होने आंगनबाड़ी के बच्चों को तिलक लगा कर, माला पहना कर व फल वितरण कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक डॉ. जीएम सैय्यद ने बताया कि अभियान के तहत जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले बच्चों के बेहतर पोषण के लिए फलों इत्यादि का वितरण किया जाएगा।

jitendra jakiy Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned