दो लाख रुपयों के लिए कर दी थी विवाहिता की हत्या, अब हुआ ये अंजाम

दो लाख रुपयों के लिए कर दी थी विवाहिता की हत्या, अब हुआ ये अंजाम

Brij Kishore Gupta | Publish: Jun, 14 2018 02:47:44 PM (IST) Jhansi, Uttar Pradesh, India

दो लाख रुपयों के लिए कर दी थी विवाहिता की हत्या, अब हुआ ये अंजाम

झांसी। शादी के बाद दो लाख रुपये की मांग पूरी नहीं होने पर एक विवाहिता की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में अदालत ने अपना फैसला सुना दिया है। इसमें आरोपी युवक को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है।

पचास हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया

अपर सत्र न्यायाधीश शकील अहमद खां ने हत्या का आरोप प्रमाणित होने पर बड़ागांवगेट बाहर क्षेत्र में रहने वाले सुनील कुशवाहा धारा 302 के तहत आजीवन कारावास की सजा तथा पचास हजार रुपये अर्थदंड से दंडित किया है। अर्थदंड अदा नहीं करने पर आरोपी को छह माह के अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी पड़ेगी। कोर्ट ने अर्थदंड में आधी रकम मृतका के माता-पिता भी दिए जाने का आदेश दिया है।

ये था मामला

इस पूरे मामले की जानकारी सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता श्याम यादव ने दी है। उन्होंने बताया कि बाहर दतियागेट क्षेत्र में रहने वाले प्रेमपाल कुशवाहा ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी थी कि उनकी बेटी संध्या कुशवाहा की शादी 3 नवंबर 2013 को नानाभाऊ का बाग निवासी सुनील के साथ हुई थी। उसने अपनी बेटी की शादी में अपनी सामर्थ्य के हिसाब से रुपये व सामान दिए थे। इसके बावजूद उसकी ससुराल पक्ष के लोग संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने दो लाख रुपये की और डिमांड करनी चालू कर दी। रुपये दे पाने में असमर्थता जताने पर उसको प्रताड़ित किया जाने लगा। अंततः उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई।

ये हुई कार्रवाई

यह सूचना मिलने पर पुलिस ने सुनील के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दे दिए। इसके बाद उस पर मुकदमा दर्ज किया गया। मामले की विवेचना के बाद पुलिस ने न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया। कोर्ट ने फाइल के अनुसार यह माना कि संध्या ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि उसकी हत्या कर दी गई। इस पर कोर्ट ने धारा 498ए, 304 बी एवं दहेज प्रतिषेध अधिनियम के आरोप में सुनील को दोष मुक्त कर दिया, जबकि हत्या के आरोप में आजीवन कारावास एवं 50000 रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned