कल तक जो थी आम बात, अब हो गया दंडनीय अपराध

कल तक जो थी आम बात, अब हो गया दंडनीय अपराध

By: BK Gupta

Published: 24 Jul 2018, 09:57 PM IST

झांसी। प्रगतिपथ द्वारा संचालित रेलवे चाइल्ड लाइन (महिला एवं बाल विकास मंत्रालय एवं रेलवे मंत्रालय) की परियोजना के अंतर्गत स्टेशन प्रबंधक गिरीश कंचन की अध्यक्षता में जागरूकता रैली निकाली गई। इस दौरान रेलवे स्टेशन को पॉलीथिन मुक्त बनाने का संकल्प लिया गया।

अब ये है दंडनीय अपराध

इस दौरान सीटीआई आर पी शुक्ला, पी एस सोनी, उमर खान, श्रीमती मंजू श्रीवास्तव, श्रीमती आरती एवं चाइल्ड लाइन डायरेक्टर बृजेन्द्र सिंह चौहान, प्रोग्राम कोआर्डिनेटर बिलाल उल हक आदि ने पॉलीथीन मुक्त स्टेशन बनाने के लिये इस अभियान में रेल्वे चाइल्ड लाइन टीम के साथ सहयोग दिया। इस अभियान में यात्री एवं विक्रेताओं को पॅालीथिन से फैलने वाले दुष्प्रभावों से स्टेशन परिसर को बचाने एवं स्वच्छ भारत निर्माण के उद्देश्य पूर्ति में सहयोग हेतु रेलवे चाइल्ड लाइन ने अपील की। इस अभियान के अंतर्गत रेलवे चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने विक्रेताओं को जानकारी दी कि स्टेशन पर पॅालीथीन केा रखना व उपभोक्ता केा पालीथीन देना एक दण्डनीय अपराध है। इसमें जुर्माना भी हो सकता है।

ये दिया संदेश

रेलवे चाइल्ड लाइन काउंसलर भारती गहलोत ने वेन्डरों से कहा कि विक्रेता अपने पास पेपर के थैले रखें, जिससे यात्रियों को सुविधा हो । अगर वे ऐसा नहीं कर सकते तो यात्रियों से कहें कि वे स्वयं अपने साथ थैले लेकर चलें। इससे स्टेशन परिसर को पॅालीथीन मुक्त बनाने में एक कदम आगे बढ़ेगा। रेलवे चाइल्ड लाइन प्रोग्राम कोआर्डिनेटर बिलाल उल हक ने कहा कि पॅालीथीन का उपयोग संसार के लिये हानिकारक है क्योंकि पॅालीथिन एक अविनाशी पदार्थ है जो कि पर्यावरण के लिये हानिकारक है। लोगों को इसके स्थान पर इको फ्रेंडली बैग जैसे पेपर व कपड़े का बना बैग ही इस्तेमाल करना चाहिए। इससे हमारे देश में स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में एक पहल होगी।

ये लोग रहे उपस्थित

इस कार्य अभियान में रेलवे चाइल्ड लाइन से काउंसलर भारती गहलोत, टीम सदस्य आलोक कुमार, गोविन्द दास, रेखा आर्य, हेमलता, राखी यादव आदि उपस्थित रहे। अन्त में रेलवे कोआर्डिनेटर बिलाल उल हक ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Show More
BK Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned