scriptBullies demanded 10 lakh extortion money from MLA Devar | MLA के देवर से मांगी 10 लाख की रंगदारी, नहीं देने पर दबंगों ने की गाली-गलौज, 5 के खिलाफ मामला दर्ज | Patrika News

MLA के देवर से मांगी 10 लाख की रंगदारी, नहीं देने पर दबंगों ने की गाली-गलौज, 5 के खिलाफ मामला दर्ज

locationझांसीPublished: Nov 26, 2023 09:44:19 am

Submitted by:

Ramnaresh Yadav

झांसी के मऊरानीपुर से विधायक रश्मि आर्य के देवर से दबंगों ने 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी है। डिमांड पूरी नहीं करने पर उनके साथ जमकर गाली-गलौज किया गया। फिलहाल पुलिस ने 5 आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

Mauranipur MLA Rashmi Arya
अपने पति के साथ विधायक रश्मि आर्य।
झांसी के मऊरानीपुर कोतवाली क्षेत्र में एक हाई प्रोफाइल फैमिली से रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। मऊरानीपुर से दूसरी बार चुनी गई सत्ता पक्ष की विधायक रश्मि आर्य के देवर जो मौजूदा में जिला पंचायत सदस्य हैं। उनसे कुछ दबंगों ने 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी है। जब उन्होंने दबंगों की डिमांड पूरी नहीं की तो उनके साथ गाली-गलौज कर जाति ***** शब्दों का प्रयोग किया गया। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

राजनीतिक परिवार से है पीड़ित

विधायक रश्मि आर्य के देवर हेमंत आर्य मौजूद में मऊरानीपुर के वार्ड नंबर 18 के गांधी गंज मोहल्ले के रहने वाले हैं। वे राजनीतिक परिवार से जुड़े हुए हैं। उनके एक भाई पूर्व में नगर पालिका अध्यक्ष थे और हेमंत खुद भी जिला पंचायत सदस्य हैं।

पहले जमीन को लेकर धोखाधड़ी आई सामने

बीते महीने की 26 तारीख को हेमंत आर्य के घर रति अहिरवार, सूरज अहिरवार, काली अहिरवार आए और अपनी जमीन बेचने के नाम पर 4 लाख रुपए मांगे। रति अहिरवार ने कहा था कि उन्हें रुपयों की आवश्यकता है। अभी 4 लाख दे दो तो रजिस्ट्री कर देंगे। बाकी रुपए बाद में दे देना।

रुपए देते समय पीड़ित ने बनाया था वीडियो

पीड़ित हेमंत आर्य के मुताबिक, उन्होंने चंद्रशेखर चंदन, राजेंद्र शान्तनु के सामने उन तीनों लोगों को 4 लाख रुपए नगद दे दिए। जब वे रुपए दे रहे थे तो उन्होंने इसका वीडियो भी बना लिया था। रुपए मिल जाने के बाद काली अहिरवार कह कर गया था कि एक महीने के भीतर वो रजिस्ट्री कर देगा।

फर्जी जमीन बता कर ले गया था रुपए

आगे हेमंत आर्य बताते हैं कि कुछ समय बीत जाने के बाद जब काली से रजिस्ट्री करने की बात कही गई तो वह आनाकानी करने लगा। इसके बाद जब मऊरानीपुर तहसील में पता किया गया तो काली के नाम से कोई भी कृषि भूमि नहीं थी। इसके बाद हेमंत ने अपने रुपए वापस मांगे।

रुपए न देकर धमकी देना शुरू कर दिया

हेमंत आर्य जब रुपए मांग रहे थे तो उन्हें रुपए वापस न देकर धमकी देना शुरू कर दिया। हेमंत बताते हैं कि बीते 19 नवंबर को शाम लगभग 4 बजे पुराने पुल के पास मौन साधना केंद्र पर रवि परिहार और विजय शर्मा आए और काली अहिरवार की पैरवी करते हुए गाली-गलौज करने लगे। 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी साथ ही जातिसूचक शब्दों से गालियां दी।

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया

पीड़ित हेमंत आर्य की तहरीर पर मऊरानीपुर कोतवाली में आरोपी काली अहिरवार, रति अहिरवार, सूरज अहिरवार, रवि परिहार और विजय शर्मा के खिलाफ धारा 420, 387, 504 और SC/ST एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है।

ट्रेंडिंग वीडियो