अवैध बूचड़खानों के बाद अब योगी सरकार के निशाने पर आए नकली अंडे, शुरू हुई कार्रवाई

अंडों की दुकानों पर छापे, लाइसेंस नहीं मिलने पर दो दुकानदारों को नोटिस। सिंथेटिक के शक में भरे गए अंडों के नमूने।

झांसी. अवैध बूचड़खानों के बाद अब योगी आदित्यनाथ सरकार का निशाना अब अंडों के अवैध कारोबार पर है। इसके तहत शासन के निर्देश पर खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम ने अंडों के थोक व्यापारियों की दुकानों पर छापा मारा। इसमें बिना लाइसेंस अंडों की बिक्री करते पाए जाने पर दो दुकानदारों को नोटिस जारी किया गया। इसके साथ ही सिंथेटिक अंडों की बिक्री के शक में अंडों के पांच नमूने भरे गए। इन नमूनों को जांच के लिए प्रयोगशाला भिजवाया गया है।

 

 यह भी पढ़ें: सर्राफा व्यापारी अपहरणकांड का मास्टर माइंड गिरफ्तार, निशाने पर थे चार और व्यापारी

 

शासन स्तर पर पहुंचने वाली सूचनाओं के आधार पर शुरू हुई कार्रवाई

आपको बता दें कि शासन स्तर पर लगातार सूचनाएं पहुंच रही थीं कि प्रदेश में व्यापक पैमाने पर सिंथेटिक अंडों की बिक्री की जा रही है। इस पर शासन स्तर से प्रदेश भर के सभी जिलों को अलर्ट जारी किया गया है। शासन स्तर से अलर्ट जारी होते ही खाद्य एवं औषधि प्रशासन अमला हरकत में आ गया और अंडों के थोक कारोबारियों की दुकानों पर ताबड़तोड़ छापों की कार्रवाई शुरू कर दी है।

 

 यह भी पढ़ें: सीएम की चरणवंदना में जुटे डीएम साहब, खुश करने का निकाला नया फार्मूला!

 

ये टीमें हुईं सक्रिय

जिले की खाद्य सुरक्षा विभाग ने टीमें बनाकर अलग-अलग इलाकों में छापेमारी की गई। विभाग की इन टीमों में खाद्य सुरक्षा अधिकारी रवींद्र कुमार परमार, विजय बहादुर पटेल, आजाद कुमार व दीपक कुमार आदि ने कई थोक अंडा व्यापारियों के प्रतिष्ठानों को चेक किया। इसमें कच्चा पुल के पास स्थित शरीफ एग स्टोर व बस स्टैंड स्थित रफीक एग स्टोर एवं कानपुर रोड स्थित राजीव एग स्टोर पर जांच की गई। इन स्थानों से अंडों के पांच नमूने लेकर जांच के लिए भेज दिया। यह तीनों अंडों के थोक सप्लायर हैं। इनमें से रफीक एग स्टोर एवं राजीव एग स्टोर के पास बिक्री का लाइसेंस न होने पर नोटिस जारी किया गया।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned