लॉकडाउन के कारण पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, फिर की आत्महत्या

लॉकडाउन के कारण अपराधिक घटनाओं में तो कमी आई हैं, लेकिन घरेलू हिंसा के मामले बढ़ गए हैं। लोग घरों में रहने को मजबूर हैं, काम पर बाहर नहीं जा पा रहे।

By: Abhishek Gupta

Published: 29 Mar 2020, 09:05 PM IST

झांसी. लॉकडाउन के कारण अपराधिक घटनाओं में तो कमी आई हैं, लेकिन घरेलू हिंसा के मामले बढ़ गए हैं। लोग घरों में रहने को मजबूर हैं, काम पर बाहर नहीं जा पा रहे। ऐसी स्थिति में कुछ जगहों में तनाव बना हुआ है। आज इसी कारण एक इंसान ने गुस्से में आकर पहले अपनी पत्नी की हत्या कर दी, फिर आत्महत्या कर ली। मामला झांसी के गांव खिलारा का है जहां लखन कुशवाहा अपनी पत्नी राजकुमारी और 6 बेटियों के साथ रहता था। घर की आर्थिक स्थिति खराब थी और इस कारण गृह कलह भी होता था।

ये भी पढ़ें - लॉकडाउन में आटा मिलेगा 30 रुपए प्रति किलो, सरकार ने अन्य सभी खाद्य सामानों के भी तय किए दाम, देखें लिस्ट

मृतक की बेटियों की मानें तो पिता खेती-किसानी करते थे। कम जोत होने के कारण गुजर बसर नहीं होता था इसलिए मजदूरी भी करते थे। लेकिन लॉकडाउन ने तो जैसी उनकी कमर ही तोड़ दी। उन्हें कोई काम नहीं मिल रहा था। खाने तक के लाले पड़ गए थे। इसलिए घर में झगड़े बढ़ने लगे। इसी बात पर शनिवार को लखन का पत्नी से झगड़ा हो गया। गुस्से में आकर लखन ने पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद कमरे में जाकर फांसी लगा ली। बेटियां जब तक कुछ समझ पातीं दोनों की मौत हो चुकी थी। चीख-पुकार सुनकर जुटे ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। थाना पुलिस का कहना है कि आर्थिक तंगी की वजह से पति-पत्नी में अक्सर झगड़ा होता था। काम धंधा न होने से लखन मानसिक तनाव में था।

coronavirus
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned