scriptJhansi railway station renamed as veerangana laxmibai railway station | Jhansi Railway Station: झांसी रेलवे स्टेशन हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन, योगी सरकार ने जारी की अधिसूचना | Patrika News

Jhansi Railway Station: झांसी रेलवे स्टेशन हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन, योगी सरकार ने जारी की अधिसूचना

Jhansi Railway Station: अब झांसी रेलवे स्टेशन वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाएगा। प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने बुधवार को गृह मंत्रालय के प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की अधिसूचना भी जारी कर दी है।

झांसी

Published: December 29, 2021 10:20:25 pm

Jhansi Railway Station: योगी सरकार ने एक और नाम बदल दिया है। जी हाँ अब झांसी रेलवे स्टेशन वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाएगा। प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने बुधवार को गृह मंत्रालय के प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की अधिसूचना भी जारी कर दी है। इस संबंध में रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि रेल मंत्रालय से आदेश मिलते ही स्टेशन के नाम बदलने की विभागीय प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसके तहत स्टेशन कोड भी बदला जाएगा।
Jhansi Railway Station
Jhansi Railway Station
गृह मंत्रालय के पास तीन महीने पहले ही झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने का प्रस्ताव भेजा गया था। दरअसल, झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई करने की मांग लंबे समय से की जा रही थी। बुंदेलखंड की जनता की मांग पर जनप्रतिनिधियों की तरफ से इसका प्रस्ताव सरकार के पास भेजा गया था। जिसके बाद बीते तीन अगस्त को केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा को इस बात की जानकारी दी थी। इसके बाद गृह मंत्रालय ने संबंधित एजेंसियों की टिप्पणियां और विचार आमंत्रित किए थे। इस प्रक्रिया के पूरी होने के बाद 24 नवंबर 2021 को गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को नाम बदलने के लिए पत्र लिखा था।
एक जनवरी वर्ष 1889 को हुआ था झांसी रेलवे स्टेशन का उद्घाटन

झांसी रेलवे स्टेशन एक जनवरी को अपने 133 साल पूरे कर लेगा। इसका उद्घाटन एक जनवरी वर्ष 1889 को हुआ था। ग्रेट इंडियन पेनिनसुलर रेलवे ने इसको स्थापित किया था। शुरुआत में भाप के इंजन से इक्का-दुक्का ट्रेनें ही चलती थीं, आज यह स्टेशन देश के प्रमुख स्टेशनों में शुमार है। यहां से प्रतिदिन 250 से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं। इनमें शताब्दी एक्सप्रेस, गतिमान और राजधानी एक्सप्रेस जैसी वीआईपी ट्रेनें भी शामिल हैं।
आपको बता दें कि इससे पहले योगी सरकार तीन प्रमुख स्टेशन इलाहाबाद को प्रयागराज, मुगलसराय को दीनदयाल उपाध्याय नगर और फैजाबाद को अयोध्या रेलवे स्टेशन का नाम दे चुकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथरेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालनTesla In India: हमारे यहां लगाएं अपनी इलेक्ट्रिक कार का प्लांट, इस राज्य ने Elon Musk को दिया खुला न्योतासपा को बड़ा झटका, कैराना से प्रत्याशी नाहिद हसन गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.