scriptउत्तराखंड हादसे में झांसी की साफ्टवेयर इंजीनियर की मौत, सहेली वेंटिलेटर पर | Patrika News
झांसी

उत्तराखंड हादसे में झांसी की साफ्टवेयर इंजीनियर की मौत, सहेली वेंटिलेटर पर

उत्तराखंड में हुए एक दर्दनाक हादसे में झांसी की एक युवती की जान चली गई। हादसे में 14 लोगों की मौत हुई और 12 लोग घायल हुए हैं।

झांसीJun 17, 2024 / 02:02 pm

Ramnaresh Yadav

उत्तराखंड हादसे में झांसी की साफ्टवेयर इंजीनियर की मौत, सहेली वेंटिलेटर पर

आकांक्षा चौरसिया की. फाइल फोटो

उत्तराखंड में शनिवार को हुए टैंपो ट्रैवलर हादसे में झांसी की रहने वाली 25 वर्षीय साफ्टवेयर इंजीनियर आकांक्षा चौरसिया की मौत हो गई। हादसे में 14 लोग मारे गए और 12 घायल हुए।

660 फीट नीचे गिरा था टेंपो

आकांक्षा अपने परिवार और दोस्तों के साथ टूंगनाथ मंदिर के लिए रवाना हुई थीं। 14 जून की रात को उनका टैंपो ट्रैवलर 660 फीट नीचे अलकनंदा नदी में गिर गया। हादसे में आकांक्षा की मौके पर ही मौत हो गई। आकांक्षा के पिता मनोज चौरसिया, मां सुषमा, भाई अंश और अन्य परिजन रविवार शाम को रुद्रप्रयाग पहुंचे। बेटी की लाश देखकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। शव खराब होने के कारण अंतिम संस्कार हरिद्वार में किया गया।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर थी आकांक्षा

आकांक्षा बचपन से ही पढ़ने में होशियार थीं। उन्होंने भोपाल से बीटेक किया था और दिल्ली में एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम कर रही थीं। हादसे में घायल हुई उनकी सहेली छवि श्रीवास्तव की हालत गंभीर है। उन्हें ऋषिकेश के एम्स में वेंटिलेटर पर रखा गया है।

नौकरी के बाद भी दोस्ती चलती रही

आकांक्षा और छवि बचपन से ही दोस्त थीं। दोनों 5वीं कक्षा से साथ में पढ़ रहीं थीं और इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी साथ-साथ की थीं। नौकरी के बाद भी उनकी दोस्ती का सफर जारी रहा। यह हादसा झांसी के लिए एक बड़ा दर्द है। आकांक्षा की मौत से उनके परिवार और दोस्तों में गहरा शोक है।

Hindi News/ Jhansi / उत्तराखंड हादसे में झांसी की साफ्टवेयर इंजीनियर की मौत, सहेली वेंटिलेटर पर

ट्रेंडिंग वीडियो