एथलेटिक्स के क्षितिज की उभरती हुई स्टार हैं ममता, कदम चूम रही सफलता

एथलेटिक्स के क्षितिज की उभरती हुई स्टार हैं ममता, कदम चूम रही सफलता
Athletics Mamta Chaudhary

Shatrudhan Gupta | Publish: Sep, 10 2017 07:04:50 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2017 07:07:16 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

ममता चौधरी स्टेट स्कूल गेम्स की पांच किलोमीटर की क्रास कंट्री दौड़ में गोल्ड मेडल कर चुकी हैं हासिल।

डॉ. बीके गुप्ता

झांसी. 'दूर दृष्टि, पक्का इरादा और कड़ी मेहनत' के सक्सेज मंत्र को लेकर तेजी से आगे बढ़ रही झांसी की ममता चौधरी एथलेटिक्स के क्षितिज की उभरती हुई स्टार हैं। पिछले दिनों उन्होंने गाजियाबाद में आयोजित स्टेट स्कूल गेम्स-2016-17 में 5 किलोमीटर की क्रास कंट्री में गोल्ड और 800-1500 मीटर में सिल्वर मेडल हासिल करके अपने सुनहरे भविष्य के संकेत दे दिए हैं। उनके कोच दिनेश कुमार भी ममता को लेकर काफी आशान्वित हैं।

साधारण परिवार से है ताल्लुक
झांसी के सीपरी बाजार क्षेत्र में प्रेमगंज मुहल्ले में रहने वाली ममता चौधरी एक साधारण से परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता रामकिशन चौधरी की एक दुकान है। उसी से परिवार चलता है। यहां के आर्य कन्या डिग्री कालेज में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा ममता एथलेटिक्स के क्षेत्र में सफलता के नए-नए आयाम छूने में लगी हैं। 5 किमी क्रास कंट्री में स्वर्ण और 800-1500 मीटर में रजत पदक के साथ ही वह लखनऊ में आयोजित ओपन स्टेट अंडर-16 स्टेट चैंपियनशिप में एक किलोमीटर रेस में कांस्य पदक हासिल कर चुकी हैं। वह नित नई-नई ऊंचाइयों को पाने के लिए लगातार कड़ी मेहनत करती हैं। इसके लिए उन्होंने झांसी का ध्यानचंद स्टेडियम चुना है। यहां वह कोच दिनेश कुमार के निर्देशन में अपने प्रदर्शन को निखारने के लिए प्रतिदिन करीब छह घंटे पसीना बहाती हैं।

ये कहना है कोच दिनेश कुमार
एथलेटिक्स में तेजी से उभर रही ममता चौधरी के कोच दिनेश कुमार का कहना है कि वह प्रतिदिन तीन घंटे सुबह और तीन घंटे शाम को ट्रैक पर मेहनत करती हैं। जिस तरह से वह अपने लक्ष्य को हासिल करती हैं, उससे लगता है कि एक दिन वह जरूर ऊंचाइयों के शिखर को छूने में कामयाब होगी। इस दौरान वह ममता द्वारा पिछले कुछ समय में हासिल किए गए पदकों का भी सिलसिलेवार ब्योरा देते हैं। उन्हें ममता से काफी उम्मीदें हैं। इसके लिए वह खुद भी काफी परिश्रम करते हैं। हर बारीकियों से ममता को अवगत कराते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned