scriptParents their minor daughter married Child Welfare stopped them | मां-बाप करवा रहे थे नाबालिग बेटी की शादी, बाल कल्याण ने जाकर रोक दिया | Patrika News

मां-बाप करवा रहे थे नाबालिग बेटी की शादी, बाल कल्याण ने जाकर रोक दिया

locationझांसीPublished: Jan 20, 2024 09:50:42 am

Submitted by:

Ramnaresh Yadav

झांसी के समथर थाना क्षेत्र में माता-पिता करा रहे थे नाबालिग लड़की के हाथ पीले, बाल कल्याण समिति ने रुकवाया विवाह। समथर पुलिस के समझाने पर अभिभावक बालिग होने पर विवाह कराने को तैयार।

Marriage of minor girl stopped in Jhansi
झांसी में नाबालिग लड़की की रोकी गई शादी - फोटो : सोशल मीडिया
तमाम जागरूकता अभियान चलाने और कानून तौर पर दण्डनीय होने के बाद भी बाल विवाह की कुप्रथा थमने का नाम नहीं ले रही है। समथर में 15 वर्ष की एक लड़की का विवाह कराया जा रहा था, जिसे बाल कल्याण समिति ने पुलिस के सहयोग से रुकवा दिया।

आधार कार्ड में लड़की की उम्र 15 साल निकली

16 जनवरी को चाइल्ड लाइन की शहर प्रभारी प्रीति त्रिपाठी ने बाल कल्याण समिति में सूचना दी कि 17 जनवरी को समथर में एक नाबालिग लड़की का विवाह रचाने की तैयारी की जा रही है। इस पर समिति ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जिला प्रोबेशन अधिकारी, चाइल्ड लाइन प्रभारी एवं जन साहस संस्था को मौके पर भेजकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश एस. के आदेश पर समथर पुलिस ने लड़की के माता-पिता को थाने बुलाया। उन्होंने बताया कि लड़की ने कक्षा 5 के बाद पढ़ाई छोड़ दी है और आधार कार्ड के अनुसार उसकी आयु 15 वर्ष है।

समझाने पर मान गए लड़की के मां-बाप

परिजनों को किशोर न्याय एवं बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम की जानकारी देते हुए बताया गया कि बाल विवाह कराने पर सजा का भी प्रावधान है। इस पर लड़की के माता-पिता विवाह न कराने पर सहमत हो गए तथा अहमदाबाद से आने वाली बारात को समथर आने से रोक दिया। लड़की के माता-पिता ने आश्वासन दिया कि उसका विवाह 18 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद ही किया जाएगा। कार्यवाही के दौरान बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष राजीव शर्मा, सदस्य कोमल सिंह, परवीन खान, दीप्ति सक्सेना, समथर थाना की महिला सिपाही ज्योति, जन साहस संस्था के मुकेश एवं उर्मिला उपस्थित रहीं।

ट्रेंडिंग वीडियो