सपा को एक और झटका, अब ये नेता आए शिवपाल के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में

सपा को एक और झटका, अब ये नेता आए शिवपाल के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में

BK Gupta | Publish: Sep, 08 2018 01:22:11 PM (IST) Jhansi, Uttar Pradesh, India

सपा को एक और झटका, अब ये नेता आए शिवपाल के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में

झांसी। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के भाई और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव द्वारा अलग समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन कर लेने से समाजवादी पार्टी को झटके पर झटके लगने शुरू हो गए हैँ। पहले रानी लक्ष्मीबाई अरबन कोआपरेटिव बैंक के चेयरमैन डा.वीरेंद्र सिंह यादव व जिला सहकारी बैंक के पूर्व डायरेक्टर भगवान सिंह के मोर्चा में शामिल होने के बाद अब नई लिस्ट सामने आई है। इसमें अब तक समाजवादी पार्टी से जुड़े रहे तमाम नेता अब शिवपाल के साथ हो लिए हैं। उन्होंने मोर्चा का काम पूरे दमखम से करने का संकल्प लिया है।
अब फूटने लगा है आक्रोश
अब तक समाजवादी पार्टी में अन्दर खाने पनप रहा आक्रोश अब उभरकर सामने आने लगा है। इसी के तहत सपा के नेता पूर्वमंत्री शिवपाल सिंह यादव के सेक्युलर मोर्चा का दामन कई नेताओं ने थाम लिया। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की बैठक नन्दू कालोनी स्थित दीपमाला सिंह कुशवाहा के आवास पर हुई। इसमें प्रदेश में सेक्यूलर मोर्चा के गठन पर प्रकाश डाला गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए दीपमाला सिंह कुशवाहा ने पूर्व मंत्री, शिवपाल सिंह यादव के संदेश की जानकारी देते हुये कहा कि सभी को एकजुट होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को मजबूत करना है।
ये लोग रहे उपस्थित
समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की बैठक में रानी लक्ष्मीबाई अरबन कोआपरेटिव बैंक के चेयरमेन डा. वीरेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि शिवपाल यादव पूरे प्रदेश में ऐसे लोगों के सम्मान की लड़ाई लड़ रहे हैं जो किसी न किसी रूप में उपेक्षित रहे हैं। उन्होंने जो बीड़ा उठाया है उसे अंजाम तक पहुंचाने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इस अवसर पर जिला सहकारी बैंक के पूर्व डायरेक्टर भगवान सिंह यादव, अधिवक्ता डा. देवेन्द्र सिंह यादव, अधिवक्ता बाबूलाल यादव, राकेश यादव, शिक्षक नेता शिवा यादव पूर्व प्रधान अनिल दाऊ, रविन्द्र यादव,मो. शाहिद अहमद, गट्टू कुशवाहा सौरभ जैन, जयसिंह परिहार, हैरी, रोहित कुशवाहा आदि दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे। बैठक में सभी ने मोर्चा का साथ पूरे दमखम से देने का संकल्प लिया।

Ad Block is Banned