शकराचार्य ने दिया बड़ा बयान, भगवान श्रीराम के तंबू में रहने की बताई सच्चाई

शकराचार्य ने दिया बड़ा बयान, भगवान श्रीराम के तंबू में रहने की बताई सच्चाई

Abhishek Gupta | Publish: Nov, 14 2017 04:07:08 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

उन्होंने कहा है कि यदि अभी तक मंदिर नहीं बन पाया है, तो इसके लिए कहीं न कहीं ये लोग जिम्मेदार हैं।

झांसी. अयोध्या में भगवान राम के मंदिर की स्थापना को लेकर अभी तक मंथन हो रहा है। हालांकि पहले के मुकाबले वर्तमान में इसको लेकर ज्यादा लोगों का समर्थन सामने आ रहा है। और सराहनीय यह है कि मुस्लिम कौम के लोग भी भगवान राम के मंदिर के लिए इच्छा जाहिर कर रहे हैं और बढ़ चढ़कर मंदिर बनाने के सामग्रियों को ट्रकों में भर-भर कर अयोध्या भेज रहे हैं। वहीं गोवर्धन मठ पुरी के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती महाराज ने भी इस पर अपनी राय पेश की है। साथ ही उन्होंने कहा है कि यदि अभी तक मंदिर नहीं बन पाया है, तो इसके लिए कहीं न कहीं हम जिम्मेदार हैं।

ये भी पढ़ें- युवक ने कहा तू जा अकेले मामी के घर में और... आगे की कहनी है हैरान करने वाली

शंकराचार्य झांसी में थे जहां उन्होंने राम मंदिर निर्माण पर अपने मन की बात कही। उन्होंने कहा, "मैं कई बार रामलला के दर्शन के लिए जाता हूं। मैं सोचता हूं, मंदिर-मस्जिद दोनों बन जाते, तो रामलला आज तंबू में नहीं होते। वो इस वक्त मंदिर में विराजमान होते। ये हमारा दुर्भाग्य है कि हम स्वतंत्र भारत में मंदिर नहीं बनवा पा रहे हैं।"

ये भी पढे़ं- गजब! मान्यता बेसिक की भी नहीं, लेकिन यहां चल रहा है इण्टरमीडिएट तक का विद्यालय

पीएम मोदी पर कसा तंज-

शंकराचार्य ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा, "इस वक्त 300 से ज्यादा गोरक्षक मार दिए गए। इसमें सेना और पुलिस के जवान भी शामिल हैं। कौन किसको मार रहा है। इसकी सच्चाई नहीं बताई जा रही है। बीजेपी पर आरोप लगाते हुए महाराज ने कहा, "बीजेपी का एक मंत्री गोहत्या का समर्थन करता है, पीएम मोदी गौरक्षकों के नाम पर गलत संदेश देते हैं। गौरक्षक आतंकवादी नहीं होते हैं। देश के कई मुसलमान भी गौरक्षा का समर्थन करते हैं।

Ad Block is Banned