script1.72 करोड़ का पानी बहा! स्मार्ट सिटी के स्मार्ट वाटर बूथ सूखे, प्यासे राहगीरों की बढ़ी परेशानी | Smart Water Booths in Smart City Fail to Deliver Leaving Pedestrians Parched and Frustrated | Patrika News
झांसी

1.72 करोड़ का पानी बहा! स्मार्ट सिटी के स्मार्ट वाटर बूथ सूखे, प्यासे राहगीरों की बढ़ी परेशानी

स्मार्ट सिटी मिशन के तहत बनाए गए आठ स्मार्ट वाटर बूथ महज एक साल में ही सूख गए हैं। इन बूथों को बनाने में 1.72 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे। रखरखाव के अभाव में इन बूथों की यह दुर्दशा देखने को मिल रही है।

झांसीJul 06, 2024 / 12:30 pm

Ramnaresh Yadav

Smart Water Booths in Smart City Fail to Deliver Leaving Pedestrians Parched and Frustrated, 1.72 करोड़ का पानी बहा! स्मार्ट सिटी के स्मार्ट वाटर बूथ सूखे, प्यासे राहगीरों की बढ़ी परेशानी

झांसी में 1.72 करोड़ गटकने के बाद सूख गए स्मार्ट वाटर बूथ

Jhansi Smart City: स्मार्ट सिटी के नाम पर 1.72 करोड़ रुपये पानी में बहा दिए गए। राहगीरों की प्यास बुझाने के लिए बनाए गए स्मार्ट वाटर बूथ महज एक साल में ही सूख गए हैं। रखरखाव के अभाव में इन बूथों की दुर्दशा देखने को मिल रही है। कहीं पानी नहीं मिलता है, तो कहीं इन बूथों को तोड़कर उनका अस्तित्व ही खत्म कर दिया गया है।

पानी के लिए तरस रहे राहगीर

पिछले साल, झांसी स्मार्ट सिटी मिशन ने इलाइट चौराहा, बीकेडी चौराहा, सीपरी बाजार, नई बस्ती पुलिस चौकी के पास, सीपरी बाजार, जेल चौराहा, खंडेराव गेट के पास और बस स्टैंड सहित आठ स्थानों पर ये वाटर एटीएम बूथ स्थापित किए थे। लोगों को स्वच्छ पानी मुहैया कराने के लिए संग्रहालय के पास एक प्यूरीफायर सिस्टम भी बनाया गया था। इस योजना के तहत, एक रुपये के सिक्के पर 200 मिलीलीटर और पांच रुपये में पांच लीटर पानी मिलना था। शुरुआत में लोगों को इसका फायदा भी हुआ, लेकिन धीरे-धीरे इन एटीएम बूथों की देखभाल नहीं होने लगी और वे खराब होते गए।

अब सिर्फ शोपीस बने हुए हैं

आज इन बूथों की स्थिति बेहद खराब है। कुछ बूथों में पानी ही नहीं है, तो कुछ जगहों पर इनको तोड़कर उनका सामान भी चुरा लिया गया है। राहगीरों का कहना है कि पानी के लिए इन बूथों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

Hindi News/ Jhansi / 1.72 करोड़ का पानी बहा! स्मार्ट सिटी के स्मार्ट वाटर बूथ सूखे, प्यासे राहगीरों की बढ़ी परेशानी

ट्रेंडिंग वीडियो