स्टूडेंट्स के लिए शुरू हुई ‘सॉफ्ट इंप्लायमेंट स्किल्स’ ट्रेनिंग, जनवरी से सीधे मिलेंगे रोजगार के नए अवसर

बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय से निकलने वाले छात्रों को अब रोज़गार के लिये मेट्रो शहरों की तरफ भागना नहीं पड़ेगा।

झांसी. बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय से निकलने वाले छात्रों को अब रोज़गार के लिये मेट्रो शहरों की तरफ भागना नहीं पड़ेगा। अब कंपनियां सीधे विश्वविद्यालय से ही छात्रों को देंगी अवसर। पिछले कुछ वर्षों से विश्वविद्यालय का ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट सिस्टम कई कंपनियों में छात्र-छात्राओं को रोज़गार के मौके मुहैया करा रहा है। इसके बावजूद कुछ कमियों के कारण छात्र-छात्राएं इसका लाभ नहीं ले पा रहे थे। इसी को ध्यान में रखते हुए एवं छात्रों की कमियों को दूर करने के लिये ‘सॉफ्ट इंप्लायमेंट स्किल्स’ की ट्रेनिंग विश्वविद्यालय में प्रारंभ हो गयी है। यह संपूर्ण ट्रेनिंग 30 घंटे की होगी। इसके लिये 16 विभागों के छात्र छात्राओं को 9 जगह मिलेगी ट्रेंनिग। यह 22 दिसम्बर तक चलेगी। इसमें लगभग 1500 छात्र होंगे प्रभावित।

प्लेसमेंट की तैयारी में जुटा बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय
प्रदेश में अग्रणी विश्वविद्यालय में से एक बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय अब देश के बड़े विश्वविद्यालय से प्लेसमेंट को लेकर पिछड़ता रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए अब छात्रों को विश्वविद्यालय से सीधे ही रोज़गार के अवसर देने की प्रक्रिया में तेजी लाने के प्रयास प्रारंभ कर दिये हैं। रोज़गार के अवसर बढ़ने से विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने वालों की संख्या में भी वृद्धि होगी।

इससे करेंगे रोजगार की बाधाओं को दूर
‘सॉफ्ट इंप्लायमेंट स्किल्स’ के अंतर्गत व्यक्तित्व विकास, संचार कौशल, प्रस्तुतीकरण, साक्षात्कार में बरती जाने वाली सावधानियों एवं किस प्रकार अपने बायोडाटा को तैयार किया जाये, आदि पर विषेशज्ञों द्वारा व्याख्यान दिया जा रहा है।

ये छात्र होंगे लाभान्वित
इस ट्रेनिंग के अंतर्गत विश्वविद्यालय में वार्षिक परीक्षाओं वाले कोर्सों में पढ़ रहे अंतिम वर्ष के छात्र एवं उसके पहले वर्ष के छात्र-छात्राओं को मौका दिया जाएगा। जनवरी से सेमेस्टर परीक्षाओं वाले छात्र-छात्राओं को मिलेगा मौका।

30 घंटे की रोजगारपरक ट्रेंनिग दिलायेगी सफलता
यह संपूर्ण ट्रेनिंग 30 घंटे की होगी। इसके लिये 16 विभागों के छात्र छात्राओं को 9 जगह मिलेगी ट्रेंनिग। यह 22 दिसम्बर तक चलेगी। इसमें लगभग 1500 छात्र प्रभावित होंगे। बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट प्रभारी प्रो प्रतीक अग्रवाल ने बताया कि जनवरी से कंपनियां का आना शुरू हो जाएगा। उसके बाद विश्वविद्यालय में जॉब फेयर लगेगा। इसी को ध्यान रखते हुए दिसम्बर से ही छात्रों को तैयार किया जा रहा है। जिससे छात्र आने वाले रोज़गार के मौके भुना सके। इस अवसर पर विशेषज्ञ आशीष अत्री एवं मनीष गुप्ता ने कहा कि यह कार्यक्रम निश्चित ही छात्रों के लिये उपयोगी साबित होगा।

 

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned