'जश्न-ए-आजादी' में कवियों ने पेश की बदलते भारत की ऐसी तस्वीर

'जश्न-ए-आजादी' में कवियों ने पेश की बदलते भारत की ऐसी तस्वीर

Brij Kishore Gupta | Updated: 16 Aug 2018, 10:15:17 PM (IST) Jhansi, Uttar Pradesh, India

'जश्न-ए-आजादी' में कवियों ने पेश की बदलते भारत की ऐसी तस्वीर

झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में 'जश्न-ए-आजादी' के अवसर आयोजित कार्यक्रम में कवियों ने बदलते भारत की तस्वीर पेश की। इस कार्यक्रम का आयोजन यूनिवर्सिटी की राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई द्वितीय एवं इकाई पंचम के तत्वावधान में आयोजित किया गया। इसमें स्वयं सेवकों ने भी काव्यपाठ किया। इस मौके पर देश के जाने माने गीतकार अर्जुन सिंह चांद ने कहा कि कवि सत्ता का स्थाई विपक्ष होता है। जनता के साथ जो हमेशा खड़ा रहे, वही सच्चा कवि है। कवि कभी निराशा के भाव को अपने मन में जगह नहीं देता है। हमें हमेशा उल्लास के साथ जीवन यापन करना चाहिए।
हमेशा सत्य के पक्ष में लिखना चाहिए
कवि अर्जुन सिंह चांद ने कहा कि रचनाकार को हमेशा सत्य के पक्ष में लिखना चाहिए। नवोदित रचनाकारों द्वारा राष्ट्रीय व सामाजिक समस्याओं पर काव्य सृजन करना बदलते भारत की तस्वीर है। वहीं मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार मदन मानव ने कहा कि कविता का सृजन मौलिक तथ्यों से होता है। कवि की काव्य वेदना प्रसव पीड़ा की तरह होती है।
ये लोग रहे उपस्थित
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि राजकीय महिला महाविद्यालय, झांसी के हिन्दी विभाग के सहायक आचार्य डा. अनिल अविश्रान्त ने कहा कि सामाजिक पुनर्जागरण का कार्य हमेशा नौजवानों ने किया है। साहित्यकार जब युवा हो तो सामाजिक परिवर्तन निश्चित तौर पर होता है। इस अवसर पर स्वयंसेवकों संस्कृति गिरवासिया, प्रतीक्षा गुप्ता, जितिन सोनी, संजय सतोइया, आशुतोष त्रिपाठी, सुबोध प्रजापति, अर्चना कुशवाहा, सत्येन्द्र प्रताप चौधरी तथा वासुदेवशरण दुबे ने काव्य पाठ किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मदन मानव, विशिष्ट अतिथि अर्जुन सिंह चांद, डा. अनिल अविश्रान्त, अविनाश मिश्रा ‘‘अंजान’’, पुनीत कुमार, डा. श्वेता पाण्डेय, डा. मुहम्मद नईम ने भी काव्य पाठ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्थान के पूर्व विभागाध्यक्ष डा. सी. पी. पैन्यूली ने की। कार्यक्रम में आमंत्रित अतिथियों का स्वागत डा. श्वेता पाण्डेय ने किया। आभार उमेश शुक्ला ने व्यक्त किया। इस अवसर पर डा. अजय कुमार गुप्ता, डा. उमेश कुमार, दिलीप कुमार, जयराम कुटार, शेख अरशद, पंकज भारद्वाज सहित एनएसएस के स्वयंसेवक व छात्र-छात्रायें उपस्थित रहे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned