टी-20 विश्वकप का प्रबंधन संभालेगा झुंझुनूं का लाडला अभिषेक

अभिषेक ने ओमान से पत्रिका को बताया कि क्रिकेट विश्वकप जैसे आयोजन की मेजबानी करना चुनौतीपूर्ण व बड़ा कार्य है। जिसे दुनिया भर में करीब 3.5 अरब लोग देखेंगे। वे इस कार्य को सफल बनाने के लिए पूर्ण रूप से उत्सुकता के साथ तैयार हैं। विश्वकप आयोजन की पूर्व तैयारियों का कार्य तेजी से शुरू हो चुका है।

By: Jitendra

Updated: 21 Jul 2021, 11:43 AM IST

झुंझुनूं. झुंझुनूं जिले के मोजास (मंडावा) गांव के अभिषेक शेखावत ओमान में 17 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक होने वाले टी20 क्रिकेट विश्व कप का प्रबंधन संभालेंगे। उनको मार्केटिंग व कॉमर्सियल प्रबंधक बनाया गया है। वे क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया कोचिंग प्रोग्राम के महाप्रबंधक तथा ओलंपिया स्पोट्र्स एंड इवेंट्स के उपाध्यक्ष के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। अभिषेक ने ओमान से पत्रिका को बताया कि क्रिकेट विश्वकप जैसे आयोजन की मेजबानी करना चुनौतीपूर्ण व बड़ा कार्य है। जिसे दुनिया भर में करीब 3.5 अरब लोग देखेंगे। वे इस कार्य को सफल बनाने के लिए पूर्ण रूप से उत्सुकता के साथ तैयार हैं। विश्वकप आयोजन की पूर्व तैयारियों का कार्य तेजी से शुरू हो चुका है। गत 18 जुलाई को मस्कत (ओमान) में आईसीसी के पदाधिकारियों, बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली, जय शाह और राजीव शुक्ला के साथ तैयारियों को लेकर बैठक हुई। क्रिकेट मैदान का अवलोकन किया।


#Abhishek will handle the management of T-20 World Cup

रह चुके कप्तान
अभिषेक शेखावत ने इंटरनेशनल स्पोट्र्स मैनेजमेंट मुम्बई से एमबीए की डिग्री हासिल की है। मुम्बई व महाराष्ट्र की क्रिकेट टीम के कई बार कप्तान भी रहे हैं। उनके पिता डॉ. हनुमान सिंह शेखावत गांव मोजास हाल निवासी मंडावा ने बताया कि अभिषेक की बचपन से ही क्रिकेट में रूचि है। उन्होंने बिड़ला पब्लिक स्कूल पिलानी से विज्ञान संकाय से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की। इंजीनियरिंग करने के बाद मुम्बई से खेल प्रबंधन से एमबीए किया। अभिषेक के भाई-भाभी डॉक्टर हैं।

#sports news

सभी वर्गों को जोड़ते हैं खेल
अभिषेक का कहना है कि जब भारत ने क्रिकेट विश्व कप जीता था, तब वानखेड़े स्टेडियम मुम्बई से वापस जाते समय सड़कों पर उत्सव था। उम्र, धर्म, जाति, सामाजिक-आर्थिक स्थिति, शैक्षिक योग्यता, समाज में स्थिति के आधार पर सभी को एकजुट करना खेल की सबसे बड़ी ताकत है। उन्होंने बताया कि वे क्रिकेट के विकास में योगदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। झुंझुनंू जिले से आने वाली प्रतिभाओं को उच्च स्तर पर देखना उनकी हसरत है। क्रिकेट के प्रबंधन सिखाने में डीसीए के पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़, हरीश चंद्र सिंह तथा वीरेंद्र सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Jitendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned