script#agariculturenews | इस बार खरीफ बुआई का रकबा बढ़ा, कपास और मूंगफली का हुआ कम | Patrika News

इस बार खरीफ बुआई का रकबा बढ़ा, कपास और मूंगफली का हुआ कम

agariculturenews: पिछले साल की बजाए इस बार जिले में बरसात के चलते रकबे में भी बढ़ोतरी हुई है। कृषि अधिकारियों की मानें तो जिले में इस बार पौने चार लाख हैक्टेयर में किसानों ने मूंग, ग्वार, बाजरा, चंवला, कपास, मूंगफली, चारा व सब्जियों की बुआई की है। जबकि पिछली बार तो महज बुआई का आंकड़ा साढ़े तीन लाख हैक्टेयर को भी पार नहीं कर पाया था

झुंझुनू

Published: July 29, 2022 12:49:31 pm

जितेन्द्र योगी@झुंझुनूं

जिले के किसान इस बार बेहतर बरसात से बेहतर उत्पादन की उम्मीदें संजोए हुए हैं। अब तक जरूरत के हिसाब से हुई पर्याप्त बरसात और खरीफ फसल में किसी प्रकार के कीट-रोग के नहीं लगने से खेतों में लहलहा रही शानदार फसल हर किसी के मन को खुश कर रही है। वहीं, पिछले साल की बजाए इस बार जिले में बरसात के चलते रकबे में भी बढ़ोतरी हुई है। कृषि अधिकारियों की मानें तो जिले में इस बार पौने चार लाख हैक्टेयर में किसानों ने मूंग, ग्वार, बाजरा, चंवला, कपास, मूंगफली, चारा व सब्जियों की बुआई की है। जबकि पिछली बार तो महज बुआई का आंकड़ा साढ़े तीन लाख हैक्टेयर को भी पार नहीं कर पाया था और बरसात भी पर्याप्त नहीं थी।
इस बार खरीफ बुआई का रकबा बढ़ा, कपास और मूंगफली का हुआ कम
इस बार खरीफ बुआई का रकबा बढ़ा, कपास और मूंगफली का हुआ कम
जिले में बुआई पर एक नजर

फसल बुआई लक्ष्य (है.) बुआई (है.)

बाजरा 210000 222000

मूंग 60000 50950

ग्वार 50000 50570

चंवला 30000 28490

मूंगफली 20000 7070

कपास 18000 8100
अन्य 8000 6225

कुल लक्ष्य- 396000

कुल बुआई -373405

जिले में बरसात की स्थिति

तहसील बरसात एमएम में

झुंझुनूं 406

मलसीसर 311

चिड़ावा 334

सूरजगढ़ 390
खेतड़ी 511

बुहाना 217

नवलगढ़ 289

उदयपुरवाटी 377

मंडावा 342

गुढ़ागौडज़ी 396

कुल 3573

औसत 357.3

(जनवरी से 28 जुलाई 2022 तक)

मूंगफली और कपास की बुआई कम
जिले में कुछ सालों से किसानों का रूझान कपास व मूंगफली के प्रति बढ़ा है। परंतु इस बार बुआई के समय तापमान ज्यादा होने के किसानों ने इस बार मूंगफली व कपास की बुआई कम की। इस बार कपास की बुआई की बात की जाए तो किसानों ने 8100 व मूंगफली 7070 हैक्टेयर में बुआई की है। जबकि पिछली बार इससे दोगुना कपास व मूंगफली बोई गई थी।
इस बार अच्छी बरसात के चलते बेहतर उत्पादन होने की उम्मीद है। अभी तक खरीफ फसल में किसी भी प्रकार के कोई रोग के अभी संकेत नहीं है। पिछली बार की बजाए इस बार ज्यादा बुआई हुई है। इस बार किसानों ने बाजरे की बुआई ज्यादा की है। मई-जून में तापमान ज्यादा होने से कपास और मूंगफली की बुआई कम हुई है।
राजेंद्र लांबा, उप निदेशक कृषि विस्तार (झुंझुनूं)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

IND vs ZIM: शिखर धवन और शुभमन गिल की शानदार बल्लेबाजी, भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हरायाMaharashtra Suspected Boat: रायगढ़ में मिली संदिग्ध नाव और 3 AK-47 किसकी? देवेंद्र फडणवीस ने किया बड़ा खुलासाBihar News: राजधानी पटना में फिर गोलीबारी, लूटपाट का विरोध करने पर फौजी की गोली मारकर हत्यादिल्ली हाईकोर्ट ने फ्लाइट में कृपाण की अनुमति देने पर केंद्र और DGCA को जारी किया नोटिसSSC Scam case: पार्थ चटर्जी, अर्पिता मुखर्जी 14 दिन की न्यायिक हिरासत पर भेजे गए, 31 अगस्त को अगली पेशीRohingya Row: अनुराग ठाकुर का AAP पर आरोप, राष्ट्र सुरक्षा से समझौता कर रही दिल्ली सरकारपश्चिम बंगाल में STF को मिली बड़ी सफलता, अल-कायदा से जुड़े दो आतंकवादियों को किया गिरफ्तारBJP में शामिल होंगे JDU के पूर्व अध्यक्ष RCP सिंह, नीतीश के बारे में कहा- 7 जन्म में नहीं बन सकेंगे प्रधानमंत्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.