आपके बाथरूम में गैस गीजर है तो सावधान!

राजकीय जटिया अस्पताल बिसाऊ के डॉ राजेश चौधरी के अनुसार गैस गीजर की बजाय इलेक्ट्रिक गीजर का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि गैस गीजर इस्तेमाल कर रहे हैं तो बाथरूम का गेट खुला रखना बहुत जरूरी है। लीकेज के दौरान कार्बन मोनोऑक्साईड का रिसाव शुरू हो जाता है।

By: Rajesh

Published: 10 Jan 2021, 10:17 PM IST


झुंझुनूं/बिसाऊ. यदि आपके घर में गैस गीजर है तो सावधान हो जाएं। छोटी सी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है। बाथरूम में गीजर है तो उसमें वेंटीलेशन की पूरी व्यवस्था करें। अन्यथा यह नुकसान कर सकता है। राजस्थान के झुंझुनूं जिले के बिसाऊ कस्बे में रविवार सुबह मलसीसर बस स्टैंड के पास रहने वाला युवक सुमित अपने घर के बाथरूम में लगे गैस गीजर के गर्म पानी से नहाने गया, जहां वह बेहोश हो गया। घटना के दौरान घर में सुमित अकेला था, बाद में उसकी बहन घर में पहुंची तो उसने सुमित को आवाज लगाई। सुमित की आवाज नहीं आने तथा बाथरूम का गेट भी अंदर से बंद होने पर सभी के हाथ पांव फू ल गए। बाद में पड़ौस के दुकानदार विजय सैनी ने लोहे के सरिए से बाथरूम का गेट तोड़ा तो सुमित बेहोश मिला। तुरंत परिजन उसे पास के सांईं हॉस्पिटल ले गए। जहां डॉ अमित चाहर व डॉ लोकश यादव ने उसका उपचार शुरू किया। एक माह में गैस गीजर से दो हादसे घटित हो चुके हैं।

#gas geyser
एक्सपर्ट व्यू -

राजकीय जटिया अस्पताल बिसाऊ के डॉ राजेश चौधरी के अनुसार गैस गीजर की बजाय इलेक्ट्रिक गीजर का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि गैस गीजर इस्तेमाल कर रहे हैं तो बाथरूम का गेट खुला रखना बहुत जरूरी है। लीकेज के दौरान कार्बन मोनोऑक्साईड का रिसाव शुरू हो जाता है। हिमोग्लोबिन में कार्बन मोनोऑक्साईड की मात्रा बढऩे के कारण पहले बेहोशी आती है ओर ज्यादा देर होने पर मृत्यु की आशंका बढ़ जाती है।

#alert gas geyser
सूरजगढ़: गैस गीजर ने ली जान
सूरजगढ़. कस्बे में पिछले कुछ दिनो में बाथरूमों में लगे गैस गीजर के कारण तीन हादसे हो चुके। एक व्यापारी की तो मौत हो चुकी। कस्बे की 16 साल की युवती बाथरूम में नहाने गई। जहां वह बेहोश हो गई। तुरंत उपचार मिलने से उसकी जान बच गई। युवा व्यापारी मनीष सुबह मोर्निंग वाक कर के आया और अपने बाथरूम में नहाने गया । जब वह काफी देर तक बाथरूम से बाहर नहीं आया तो घर में मौजूद बड़े भाई ने दरवाजा तोड़कर अंदर देखा तो मनीष बाथरूम में बेहोश पड़ा था । घरवाले उसे लेकर अस्पताल पहुंचे तबतक उसकी मौत हो गई ।

#gas geyser

यह बरतें सावधानी
शिशु रोग विशेषज्ञ डा हरेंद्र चौधरी ने बताया कि गैस गीजर कार्बन मोनोऑक्साइड पैदा करता है । बाथरूम में लगाए गैस गीजर को चालू कर के जब नहाया जाता है तो बाथरूम में वेंटिलेशन के अभाव में कार्बन मोनोऑक्साइड फैल जाता है। युवा व्यापारी के साथ भी इस प्रकार से हुआ जिसमें उसका हार्ट फैल हो गया और उसकी मौत हो गई । चिकित्सक डा हरेंद्र चौधरी ने आमजन को सलाह देते हुए बताया कि गेस गीजर को बाथरूम में ना लगाएं । अगर लगाया गया है तो बाथरूम में पर्याप्त वेंटिलेशन रखें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned