7 करोड़ की लागत से बने इस ऑडिटोरियम का हुआ ये हाल, देखकर आपको भी नहीं होगा यकीन

झुंझुनूं शहर में सात करोड़ की लागत से बन रहे ऑडिटोरियम का निर्माण रूक गया है।

By: Vinod Chauhan

Published: 15 May 2018, 10:51 AM IST

झुंझुनूं.

शहर में सात करोड़ की लागत से बन रहे ऑडिटोरियम का निर्माण रूक गया है। शहर के एक नम्बर रोड पर ऑडिटोरियम का ढांचा खड़ा होने के बाद जिम्मेदार नगर परिषद और राणी सती मंदिर ट्रस्ट एक दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं। बैठकों के बाद भी सहमति नहीं बनने से निर्माण पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। काम बंद होने का प्रमुख कारण ट्रस्ट की दूसरे स्थानों पर स्थित भूमि पर अतिक्रमण होना भी बताया जा रहा है। जिला प्रशासन और नगर परिषद ने ट्रस्ट की जमीन को अतिक्रमण से मुक्त करवाने का प्रयास नहीं किया।


दो वर्ष में होना था पूरा
ऑडिटोरियम का निर्माण दो वर्ष में पूरा होना था, लेकिन छह वर्ष बाद भी शहर की जनता को इसका फायदा नहीं मिल पाया है। जानकारों का मानना है कि सात करोड़ के इस प्रोजेक्ट में तीन करोड़ रुपए की राशि खर्च हो चुकी है। वहीं ऑडिटोरियम के काम को शुरू करने को लेकर मंदिर ट्रस्ट एवं नगर परिषद के बीच कई बार बैठकें हो चुकी है लेकिन कुछ मुद्दों को छोडकऱ सहमती बन गई है।


छह वर्ष पहले शुरू हुआ था निर्माण
शहर के एक नंबर रोड पर नगर परिषद के पास ऑडिटोरियम का निर्माण वर्ष 2012 में शुरू किया गया था।ऑडिटोरियम के निर्माण के लिए जमीन नगर परिषद ने उपलब्ध करवाई थी।इसके बाद ट्रस्ट और परिषद के बीच एमओयू हुआ। जिसके तहत ऑडिटोरियम का ढांचा मंदिर ट्रस्ट को बनवाना था तथा इसके बाद फिनिशिंग कार्य परिषद को करवाना था। ऑडिटोरियम के भवन का ढांचा तैयार होने के बाद ट्रस्ट ने निर्माण का काम बंद कर दिया। अब प्रशासन चाहता है कि इसका पूरा निर्माण ट्रस्ट की ओर से कराया जाए, लेकिन दोनों पक्षों के बीच सहमति नहीं बन पाई जिससे काम अटका पड़ा है।


अतिक्रमण कौन हटाएं
एक चर्चा यह भी है कि राणी सती मंदिर ट्रस्ट की भूमि पर कुछ लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। इस जमीन को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए ट्रस्ट की ओर से परिषद पर दबाव बनाया जा रहा है, लेकिन जमीन निजी होने के कारण परिषद ने मामला जिला प्रशासन के पास भेज दिया। प्रशासन ने इसे अभी तक गंभीरता से नहीं लिया, जिससे इस प्रोजेक्ट से हाथ खींच लिए।


इनका कहना है...
हमने एमओयू के अनुसार जहां तक ऑडिटोरियम का काम करना था उसे पूरा कर दिया है। अब अगला काम नगर परिषद का करवाना है। इसके लिए आगे का काम वह करवाये। -रमेश चन्द्र पाटोदिया, सचिव राणी सती मंदिर ट्रस्ट झुंझुनूं


एमओ के अनुसार ढाचा खड़ा करने का काम राणी मंदिर ट्रस्ट का था। बाकि काम नगर परिषद को करवाना है। लेकिन फिर से ट्रस्ट से काम पूरा कराने को लेकर चर्चा चल रही है। वे मान जाते है तो ठीक नहीं तो बोर्ड में प्रस्ताव लेकर काम को पूरा करवाया जाएगा। -विनयपाल सिंह, आयुक्त नगर परिषद झुंझुनूं


ऑडिटोरियम का काम मंदिर ट्रस्ट को पूरा कराना है। इसके लिए हमने भूमि उपलब्ध करवा दी थी। मंदिर ट्रस्ट उनकी भूमि पर हुए अतिक्रमण को हटाने के लिए दबाव डाल रहा है, जो हमारे क्षेत्राधिकार में नहीं है। काम को लेकर दो तीन बैठके भी हुई है और ट्रस्ट को लिखा भी है। -सुदेश अहलावत, सभापति नगर परिषद झुंझुनूं

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned