मां को बचाने के लिए राजस्थान के चिड़ावा में बेटी ने दे दी जान

एक व्यक्ति जब अपनी ही पत्नी पर लोहे के पाइप से बार-बार वार कर रहा था तो बेटी से मां पर किया यह हमला देखा नहीं गया। वह कूद पड़ी अपनी जन्म देने वाली को बचाने के लिए। पिता ज्यों ही फिर से लोहे के पाइप से वार करने लगा तो 19 साल की बेटी मां के आगे आ गई। पिता का जानलेवा वार मां की जगह खुद पर झेल लिया। खतरनाक वार से बेटी तो चल बसी, लेकिन मां पर किया दूसरा हमला रोक गई।

By: Rajesh

Published: 14 Jun 2020, 12:01 PM IST

चिड़ावा. मां-बेटी का रिश्ता अनमोल होता है। मां अपनी बेटी के लिए सबकुछ न्योछावर कर देती है तो जरूरत पडऩे पर बेटी भी अपना पूरा फर्ज निभाती है, चाहे इसमें उसकी जान ही क्यों नहीं चली जाए। राजस्थान के झुंझुनूं जिले के चिड़ावा में एक व्यक्ति जब अपनी ही पत्नी पर लोहे के पाइप से बार-बार वार कर रहा था तो बेटी से मां पर किया यह हमला देखा नहीं गया। वह कूद पड़ी अपनी जन्म देने वाली को बचाने के लिए। पिता ज्यों ही फिर से लोहे के पाइप से वार करने लगा तो 19 साल की बेटी मां के आगे आ गई। पिता का जानलेवा वार मां की जगह खुद पर झेल लिया। खतरनाक वार से बेटी तो चल बसी, लेकिन मां पर किया दूसरा हमला रोक गई। हालांकि मां अभी पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है। वह जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रही है।

#daughter story of chirwa
चिड़ावा शहर के वार्ड 13 में घरेलू कलह व जमीन विवाद के चलते घर के मुखिया ने पत्नी, बेटी और बेटे पर लोहे के पाइप से जानलेवा हमला कर दिया। जिसमें तीनों जने गंभीर रूप से घायल हो गए। जिसमें से बेटी ने जयपुर ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी को हिरासत में ले लिया। वारदात के काम में लिए पाइप को भी बरामद कर लिया गया।
जानकारी के अनुसार वार्डवासी संजय कुमावत (40 साल) का पत्नी और बच्चों से मनमुटाव चल रहा था। जिसके कारण वह ज्यादातर समय दूसरे घर पर रहता था। रात को वह घर आया हुआ था। सुबह करीब पांच बजे संजय की पत्नी सरोज देवी (38) अपने घर के पीछे बने मंदिर में पूजा-अर्चना करने पहुंची। जहां आरोपी संजय ने पीछे से पाइप से सरोज के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। हमले के बाद सरोज की चीख सुनकर अंदर के कमरे से उसकी बेटी नीतू कुमारी (19) बाहर आने लगी। जहां आरोपी ने रसोई के गेट पर ही नीतू के सिर पर पाइप से वार कर दिया। इस बीच बड़ा बेटा विक्रम बीच-बचाव करने के लिए आया। जिस पर भी संजय ने ताबड़तोड़ वार कर दिए। हमले के बाद आरोपी बाहर आकर बैठ गया। घर में हो-हल्ला सुनकर आस-पड़ौस के लोग घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस को भी इतला दी।जिसके बाद पुलिस ने हमले में घायल तीनों जनों को एंबुलेंस की मदद से सरकारी अस्पताल पहुंचाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को पहले झुंझुनूं व बाद में जयपुर रैफर कर दिया गया। जहां नीतू ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। वहीं हमले में घायल सरोज और विक्रम की हालत गंभीर बनी हुई है।

#neetu kumari chirawa


थानाधिकारी लक्ष्मीनारायण सैनी ने घटनास्थल का जायजा लिया। उन्होंने वार्ड पार्षद और पालिका उपाध्यक्ष राजकुमार राव, वार्डवासी प्रदीप नेहरा, जयदेव सिंह राठौड़ सहित अन्य लोगों से जानकारी ली। मामले को लेकर आरोपी के ससुर महपालवास निवासी ताराचंद ने रिपोर्ट दी है।

#murder in chirwa

खुद के नाम जमीन करवाने का दबाव बना रही थी पत्नी
विवाद की वजह पुश्तैनी जमीन को माना जा रहा है। जानकारी के अनुसार झुंझुनूं रोड के पास आरोपी संजय कुमावत की करीब साढ़े चार बीघा जमीन है। जिसे पत्नी सरोज अपने बच्चों या स्वयं के नाम करवाना चाह रही थी। वहीं आरोपी संजय जमीन को इनके नाम दर्ज करवाने के पक्ष में नहीं था। इसी बात को लेकर घर में अक्सर कहासुनी होती रहती थी। इस जमीन का मामला भी कोर्ट में विचाराधीन बताया जा रहा है।

कमरे में सो रहा था छोटा बेटा-
आरोपी संजय का दूसरा पुत्र प्रेम कुमार(13 साल) घर के दूसरे कमरे में सो रहा था। जो कि हमले के समय नींद में होने के कारण बाहर नहीं आया।जिससे हमले से बच गया। आरोपी के माता-पिता वारदात स्थल से कुछ ही दूरी पर दूसरे घर में रहते हैं।

घर में पहले भी होता रहा विवाद-
जमीन व रुपयों को लेकर घर में आए दिन विवाद होता रहता था। कुछ दिन पहले भी विवाद हुआ था। तब कमरों की चोखट, किवाड़ और फ्रीज टूट गए थे। संजय ने जमीन का कुछ हिस्सा बेच दिया था। इस पर संजय की पत्नी ने खरीदार के खिलाफ रिपोर्ट दी थी। इस कारण भी संजय गुस्से में था।


किसी ने गंभीरता से नहीं लिया
आरोपी ने अनेक परिचितों व रिश्तेदारी को पहले ही कह दिया था कि अगर हर दिन विवाद होता रहा तो घर के सभी लोगों को जान से मार देगा। मगर किसी ने ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया। हालांकि घर के सदस्यों को हमला होने का डर था। जिस कारण रात को संजय के अलावा चारों सदस्य अंदर सो गए। वहीं संजय बाहर सोया। घर के सदस्यों ने डर के चलते कमरों को अंदर से बंद कर रखा था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned