scriptDigital water level in recorder in jhunjhunu | अब मशीन बताएगी कितना गहरा है पानी | Patrika News

अब मशीन बताएगी कितना गहरा है पानी

जिलेभर में 109 पीजो मीटर लगे हुए हैं। इनमें फीता डालकर देखा जाता था कि कितना भूजल स्तर घटा है या बढ़ा है। इसकी रिपोर्ट जयपुर व दिल्ली स्थित जल शक्ति मंत्रालय को भेजी जाती है। अब प्रायोगिक तौर पर झुंझुनूं के निकट आबूसर गांव के आंगनबाड़ी केन्द्र तथा अलसीसर में पंचायत समिति के सामने जोहड़ के निकट बने पीजो मीटर पर डिजीटल वाटर लेवल रेकॉर्डर लगाया गया है।

झुंझुनू

Published: March 31, 2022 06:09:50 pm

#Digital water level in recorder in jhunjhunu

झुंझुनूं. जमीन के नीचे पानी नापने के लिए अब नई तकनीक काम में ली जाएगी। नए वित्तीय वर्ष में जिले के खेतड़ी उपखंड के 44 स्थानों पर डिजीटल वाटर लेवल रेकॉर्डर लगाए जाएंगे।
जिले में पहले साल में दो बार भूजल का स्तर नापा जाता था। एक बरसात से पहले। दूसरा बरसात के बाद। बरसात से पहले 15 मई से 15 जून तथा बरसात के बाद 15 अक्टूबर से 15 नवम्बर तक भूजल का स्तर नापा जाता है। इसके लिए जिलेभर में 109 पीजो मीटर लगे हुए हैं। इनमें फीता डालकर देखा जाता था कि कितना भूजल स्तर घटा है या बढ़ा है। इसकी रिपोर्ट जयपुर व दिल्ली स्थित जल शक्ति मंत्रालय को भेजी जाती है। अब प्रायोगिक तौर पर झुंझुनूं के निकट आबूसर गांव के आंगनबाड़ी केन्द्र तथा अलसीसर में पंचायत समिति के सामने जोहड़ के निकट बने पीजो मीटर पर डिजीटल वाटर लेवल रेकॉर्डर लगाया गया है। दोनों ही जगह प्रयोग सफल रहा है।
अब मशीन बताएगी कितना गहरा है पानी
अब मशीन बताएगी कितना गहरा है पानी
water level in jhunjhunu
ऐसे काम करेंगे नए मीटर
पीजो मीटर के ऊपर विशेष डिजीटल मीटर लगाया गया है। इसमें एक चिप, बैट्री व अन्य उपकरण लगाए गए हैं। यह पूर्णत स्वचालित है। इसके माध्यम से दिन में दो बार भूजल का स्तर नापा जाएगा। दोपहर में बारह बजे और रात बारह बजे यह उपकरण सीधे सैटेलाइट को भूजल के आंकड़े भेजेंगे। वहां से आंकड़े दिल्ली स्थित जल शक्ति मंत्रालय के मुख्यालय की वेबसाइट पर अपने आप पहुंचे जाएंगे। इन आंकड़ों के आधार पर ही भूजल आंकलन की रिपोर्ट तैयारी की जाएगी। इसी के आधार पर क्षेत्र के लिए कार्ययोजना बनाई जाएगी।
#Digital water level in recorder in jhunjhunu
जिले में पीजो मीटर 109
डिजीटल लगाए 2
डिजीटल लगाएंगे 44

बरसात का सच
वर्ष एमएम
2016 543.50
2017 329.88
2018 470.50
2019 683.88
2020 410.13
---------------------

झुंझुनूं व सीकर के हाल खराब
केन्द्रीय भूजल बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2011 व 2021 की औसत तुलना में भूजल स्तर में काफी गिरावट आई है। झुंझुनूं के आठ प्रतिशत कुओं में जल स्तर बढ़ा है जबकि 92 फीसदी में कमी आई है। सीकर में 21 प्रतिशत कुओं का जल स्तर बढ़ा है जबकि 79 फीसदी कुओं का जल स्तर गिरा है। वहीं चूरू के हाल चिंताजनक नहीं हैं। वहां पिछले दस साल में 57 फीसदी कुओं का जल स्तर बढ़ा है जबकि 43 फीसदी कुओं का जल स्तर गिरा है।

इनका कहना है
प्रायोगिक तौर पर अलससीर व आबूसर में डिजीटल वाटर लेवल रेकॉर्डर लगाए गए थे। इनकी सफलता के बाद अब खेतड़ी में 44 स्थानों पर डिजीटल वाटर लेवल रिकॉर्डर लगाए जाएंगे। इनसे दिन में दो बार भूजल के आंकड़े अपने आप आ जाएंगे।
-राजेश पारीक, भूजल वैज्ञानिक झुंझुनूं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Udaipur Murder Case: राजस्थान में एक माह तक धारा 144, पूरे उदयपुर में कर्फ्यू, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंUdaipur Murder: कन्हैया के परिवार को 31 लाख मुआवजे का ऐलान, आतंकी हमले की आशंका से केंद्र ने Rajasthan भेजी NIA की टीमअमरनाथ यात्रा 2022 : जम्मू से कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवानाMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के विधायक आ सकते हैं मुंबई, महाराष्ट्र कैबिनेट की आज फिर होगी बैठकMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच कल फ्लोर टेस्ट, राज्यपाल ने 30 जून को विधानसभा सत्र बुलाने के लिए भेजा पत्रनुपुर शर्मा के सपोर्टर की उदयपुर में हत्या के बाद हाई अलर्ट पर UP, अफसरों को सतर्क रहने के निर्देशदिल्ली के मंगोलपुरी में फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की 26 गाड़ियां मौके परन्यायाधीश ने दो घंटे मोबाइल की टॉर्च की रोशनी में की सुनवाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.