राजस्थान के इस सूबेदार के इशारे पर नाचती है फुटबाल

उनके मित्र चंदू शर्मा ने बताया कि वे अभी सौ किमी तक साइकिल चलाने की प्रैक्टिस कर चुके हैं। वे जहां भी जाते हैं फुटबाल तो अब साथ ही रहती है। ऐसा लगता है मानो फुटबॉल उनके इशारे समझती है और उनको इशारों पर कभी नाचती है तो कभी स्थित रह जाती है।

By: Rajesh

Published: 25 Jan 2021, 11:07 PM IST

#aajad singh shekhawat

गुढागौडज़ी. राजस्थान के झुंझुनूं जिले के बड़ागांव निवासी सेना के रिटायर्ड सूबेदार मेजर आजाद सिहं शेखावत ने फुटबाल सिर पर रखकर अनेक रिकॉर्ड बनाए हैं। ऐसा लगता है मानो फुटबॉल उनके इशारे समझती है और उनको इशारों पर कभी नाचती है तो कभी स्थित रह जाती है। उनके नाम फुटबाल सिर पर रखकर चलने, दौडऩे तथा योग प्राणायाम करने के विश्व रेकॉर्ड दर्ज हो चुके हैं।
नवलसिंह के पुत्र आजादसिंह शेखावत 1988 में 17 साल की उम्र में सेना में भर्ती हो गए थे। तीस साल की नौकरी करके वे 2018 में सेवानिवृत हो गए। खेल की गतिविधियों में इनकी विशेष रूचि थी। वहां सेना में रहते हुए अपने खाली समय में वे इसका अभ्यास करते थे।

#aajad singh shekhawat footbal
ऐसे शुरू हुआ जुनून का सफर

51 वर्षीय आजादसिंह ने बताया कि एक दिन उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के जॉनसन को सिर पर दूध से भरी बोतल लेकर चलने का वल्र्ड रेकॉर्ड टीवी पर देखा। जिसके बाद उनके मन में भी इस प्रकार का रेकॉर्ड बनाने का जुनून शुरू हुआ। सेना में रहते ही आजादसिंह ने इसकी प्रैक्टिस शुरू कर दी। इन्होंने सिर पर बोतल रखकर 6 घण्टे 32 मिनट साइकिल चलाने का अपना पहला रिकॉर्ड बनाया जो कि लिम्का बुक में दर्ज हुआ। उसके बाद फुटबाल सिर पर रखकर चलने की प्रैक्टिस शुरू कर दी। बांग्लादेश के अब्दुल हलीम का फुटबाल सिर पर रखकर 15 किमी चलने का विश्व रिकॉर्ड आजादसिंह ने वर्ष 2015 में तोड़ दिया। इन्होंने फुटबाल सिर पर रखकर लगातार 45 किमी की दूरी तय की जो कि इनका दूसरा रेकॉर्ड था। तीसरा रिकॉर्ड सौ मीटर फास्ट रनिंग में अमेरिका के डेनियल केटिंग के नाम था उसे भी आजादसिंह ने तोड़ दिया।

#footbal wala fouji

लगातार 4 घंटे 32 मिनट सिर पर रखी फुटबाल

वर्ष 2019 में बड़ागांव के गोमती देवी कॉलेज में विश्व योग दिवस कार्यक्रम में आजादसिंह ने फुटबाल सिर पर रखकर योग प्राणायाम करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया। उस दौरान उन्होंने लगातार 4 घण्टे 32 मिनट तक फुटबाल सिर पर रखकर योग प्राणायाम करने अनूठा कीर्तिमान अपने नाम किया। आजादसिंह फिलहाल फुटबाल सिर पर रखकर साइकिल चलाने का विश्व रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में लगे हुए है। उनके मित्र चंदू शर्मा ने बताया कि वे अभी सौ किमी तक साइकिल चलाने की प्रैक्टिस कर चुके हैं। वे जहां भी जाते हैं फुटबाल तो अब साथ ही रहती है। ऐसा लगता है मानो फुटबॉल उनके इशारे समझती है और उनको इशारों पर कभी नाचती है तो कभी स्थित रह जाती है।

#footbal wala fouji
तीन पीढियां कर चुकी देशसेवा

आजादसिंह ने बताया कि उनके दादा प्रभुसिंह सेना में थे। उनके पिता नवलसिंह सेना में रहने के साथ-साथ वॉलीबाल के नेशनल खिलाड़ी रह चुके। आजाद सिंह के भाई डॉ शहजादसिंह तलवारबाजी में तथा हवलदार अशोक सिंह वॉलीबाल के नेशनल खिलाड़ी हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned