आयुर्वेद के अच्छे दिन: हर औषधालय में ज्यादा दवा

उप निदेशक डॉ चंद्रकांत गौतम ने बताया कि पहली बार एक साथ एक करोड़ छह लाख 94 हजार रुपए और 42 पैसे की दवा आई है। खास बात यह है कि जो दवा आई है उनकी अधिकांश की एक्सपायरी डेट चार से पांच साल बाद हैं।

By: Rajesh

Updated: 20 Feb 2021, 11:25 PM IST

झुंझुनूं. आयुर्वेद के अच्छे दिन शुरू हो गए हैं। अब जिले के आयुर्वेद के हर चिकित्सालय और औषधालय में पहले से ज्यादा दवा मिलनी शुरू हो गई है। ऐसा कई वर्षों बाद हुआ है।
आयुर्वेद विभाग के उप निदेशक डॉ चंद्रकांत गौतम ने बताया कि पहली बार एक साथ एक करोड़ छह लाख 94 हजार रुपए और 42 पैसे की दवा आई है। इनमें अनेक दवा ऐसी है जो पहली बार आई है। पहले मरीज जब आयुर्वेद विभाग के औषधालयों में जाता था तो उसे निशुल्क दवा नहीं मिलती थी। अब ऐसा नहीं होगा। खास बात यह है कि जो दवा आई है उनकी अधिकांश की एक्सपायरी डेट चार से पांच साल बाद हैं। ऐसे में मरीजों को लम्बे समय तक यह सुविधा मिलेगी। इससे आमजन को फायदा होगा। ज्यादा फायदा ग्रामीण क्षेत्रों में होगा। इसके अलावा राजकीय भगवान दास खेतान अस्पताल में बंद पड़े पंचकर्म चिकित्सा केन्द्र को फिर से शुरू किया जाएगा। इसकी तैयारी की जा रही है।

आयुर्वेद के प्रति रूझान
कोरोना के बाद एक बार फिर आमजन का आयुर्वेद के प्रति रूझान बढ़ा है। लोग आयुर्वेद में बताए अनुसार खान-पान पर ध्यान देने लगे हैं। योग प्रणायाम पहले से ज्यादा करने लगे हैं। आयुर्र्वेद से उपचार करवाने वालों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने बताया कि सुबह दो गिलास गुनगुना पानी, दोपहर में खाने के बाद छाछ और रात को सोते समय गर्म दूध सेहत के लिए अच्छे रहते हैं।

#Good Days of Ayurveda in jhunjhunu
यह दवा आई

अश्वगंधा चूर्ण, लवंगादीवटी, हिंग्वाष्टक चूर्ण, पुष्यानुग चूर्ण, लवणभास्कर चूर्ण, दशमूल क्वाथ, अविपत्तिकारक चूर्ण,श्वेत पर्पटी, मधुयष्टि चूर्ण, गंधक रसायन, जात्यादि तेल, फलत्रिकादी क्वाथ, तालिसादी चूर्ण, एरंड तेल, हरिद्राखंड, महासुदर्शन चूर्ण, आमलकी चूर्ण, बहेड़ा चूर्ण, हरितकी चूर्ण, दशांग लेप, संजीवनी वटी, कुटजघन वटी, गोक्षुरादि गुग्गल, योगराज गुग्गुल, सर्पगंधाधन वटी, चंद्रप्रभावटी सहित अनेक प्रकार की दवा, चूर्ण आदि आए हैं। यह मरीजों को निशुल्क वितरित किए जाएंगे।

#Good Days of Ayurveda in jhunjhunu

आंकड़ों में अस्पताल/औषधालय
विभागीय औषधालय 155
विभागीय चिकित्सायल 03
एनएचएम के अधीन 44
कुल 202

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned