यह कैसी नीति! बाजरे की पैदावार अधिक हुई फिर भी मूंगफली व मूंग खरीदेगी सरकार

जिले में एक नवंबर से मूंग व 10 नवम्बर से मूंगफली समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी। किसानों को मूंग के 7 हजार 196 रुपए तथा मूंगफली के 5 हजार 275 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से पैसा मिलेगा।

By: Jitendra

Published: 18 Oct 2020, 11:07 AM IST

झुंझुनूं. जिले के किसान मूंग व मूंगफली समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार की ओर से स्वीकृति जारी कर दी गई है, लेकिन जिले में सबसे ज्यादा बाजरा हुआ है, सरकार वह नहीं खरीदेगी। राजफैड के माध्यम से जिले में एक नवंबर से मूंग व 10 नवम्बर से मूंगफली समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी। किसानों को मूंग के 7 हजार 196 रुपए तथा मूंगफली के 5 हजार 275 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से पैसा मिलेगा। इसके लिए सहकारी समितियों ने तैयारियां शुरू कर दी है।

31 अक्टूबर से करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन
मूंग और मूंगफली को समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए किसान अपना रजिस्टे्रशन इ-मित्र पर 31 अक्टूबर से करा सकेंगे। अनाज की खरीद पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगी।यानि जिन्होंने पहले रजिस्ट्रेशन कराए उनका अनाज पहले खरीदा जाएगा। रजिस्ट्रेशन का समय सुबह नौ बजे से शाम सात बजे तक होगा।

13 केंद्रों पर होगी खरीद
जिले की 13 सहकारी समितियों में अनाज की खरीद होगी। विभाग की ओर से जिले के सभी क्रय-विक्रय सहकारी समितियों समेत ग्राम सेवा सहकारी समितियों को मिलाकर 13 केंद्रों के प्रस्ताव भेजे गए थे।

90 दिन के लिए होगी खरीद
अधिकारियों की मानें तो इस बार समर्थन मूल्य पर खरीद 90 दिन के लिए होगी। खरीद का यह मय एक नवम्बर से मान्य होगा।

जानिए : किसान क्या दस्तावेज लाएं
-जन आधार कार्ड
-बैंक पासबुक
-बायोमेट्रिक सत्यापन
-गिरदावरी

आदेश मिल चुके हैं....
केंद्र व राज्य सरकार की ओर से राजफैड के माध्यम से समर्थन मूल्य पर खरीद के आदेश आ चुके हैं। मूंग की खरीद एक नवम्बर व मूंगफली की खरीद दस नवम्बर से शुरू हो जाएगी। 31 अक्टूबर से रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए जाएंगे। किसानों से मूंग 7196 और मूंगफली 5275 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से खरीदी जाएगी। सहकारी समितियों की तरफसे खरीद के लिए तैयारियां पूरी हैं।
संदीप शर्मा, डिप्टी रजिस्ट्रार सहकारी समितियां (झुंझुनूं)

बेहतर उत्पादन....
इस बार जिले मूंग व मूंगफली का बेहतर उत्पादन हुआ है। समर्थन मूल्य पर जिले में मूंगफली की खरीद से किसानों को संबल मिलेगा और इसकी बुआईके प्रति रूझान बढ़ेगा।
डा. राजेंद्र लाम्बा, उप निदेशक कृषि विस्तार (झुंझुनूं)

Jitendra Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned