आठ साल इंतजार के बाद झुंझुनूं से छीना खेल विश्वविद्यालय!

आठ साल इंतजार के बाद झुंझुनूं से छीना खेल विश्वविद्यालय!

Jitendra Kumar Yogi | Updated: 15 Jul 2019, 01:25:37 PM (IST) Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan, India

शहर के निकटवर्ती गांव दोरासर में प्रस्तावित खेल विश्वविद्यालय को जोधपुर ले जाने का विरोध मुखर होने लगा है। आठ साल से खेल विश्वविद्यालय शुरू होने का इंतजार कर रहे झुंझुनूं के युवाओं को निराशा हाथ लगने से आक्रोशित हैं। प्रदेश में कांग्रेस की गहलोत सरकार ने ही 2011 में झुंझुनूं जिले को खेल विश्वविद्यालय की सौगात दी थी और आठ साल से कागजों में चलने के बाद अब इसके जोधपुर ले जाने की खबरें सामने आ रही हैं।

झुंझुनूं. शहर के निकटवर्ती गांव दोरासर में प्रस्तावित खेल विश्वविद्यालय को जोधपुर ले जाने का विरोध मुखर होने लगा है। आठ साल से खेल विश्वविद्यालय शुरू होने का इंतजार कर रहे झुंझुनूं के युवाओं को निराशा हाथ लगने से आक्रोशित हैं। प्रदेश में कांग्रेस की गहलोत सरकार ने ही 2011 में झुंझुनूं जिले को खेल विश्वविद्यालय की सौगात दी थी और आठ साल से कागजों में चलने के बाद अब इसके जोधपुर ले जाने की खबरें सामने आ रही हैं। जबकि प्रदेश की तत्कालीन भाजपा सरकार ने अपने अंतिम बजट से पहले इसे खेल विवि से खेल संस्थान में बदल दिया था और इसके लिए 31 करोड़ रुपए मंजूर किए थे। इससे पहले 2014 में इसे उयपुर ले जाने के प्रयास हुए थे, परंतु युवाओं के आंदोलन के चलते इसे दोरासर में रखने का निर्णय किया गया।

खेल विश्वविद्यालय को झुंझुनूं में रखने के लिए कलक्टर को ज्ञापन
कुलोद कलां सरपंच अर्जुनसिंह के नेतृत्व में खेल विश्वविद्यालय को जोधपुर ले जाने के विरोध में सोमवार को कलक्टर को ज्ञापन दिया गया। इसके अलावा झुंझुनूं जिले के सभी विधायकों से मिलकर इस मुददे को विधानसभा में उठाने की मांग की जाएगी। अगर फिर भी इस मांग को पूरा नहीं किया जाएगा तो धरना शुरू कर अनशन शुरू किया जाएगा। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned