चोरियों के विरोध में चिड़ावा कस्बा रहा बंद

Gunjan Shekhawat

Updated: 17 Jul 2019, 12:26:59 PM (IST)

Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan, India

चिड़ावा (झुंझुनूं). चिड़ावा में लगातार हुई चोरियों के विरोध में चिड़ावा बन्द है। इस दौरान गांधीचौक में आक्रोशित लोग एकत्र हो गए। इस दौरान लोगों ने सभा की सभा को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। इसके बाद सभी एकत्र होकर रैली के रूप में थाने पहुंचे। यहां पर पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद सीआई सन्दीप शर्मा ने लोगों से समझाइश के प्रयास किए। उन्होंने कहा कि चोरियों के खुलासे के लिए पुलिस पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। हरियाणा, पंजाब और दिल्ली पुलिस की भी मदद ली जा रही है। जल्द ही चोरों को पकड़ लिया जाएगा। वहीं उन्होंने थाने में स्टाफ की कमी का भी जिक्र करते हुए युवाओं से रात्रि में गश्त में सहयोग करने की अपील की। लेकिन आक्रोशित लोग धरने पर बैठ गए और डीएसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए।
उल्लेखनीय है कि चिड़ावा में गत दिनों से लगातार चोरिया हो रही हैं। कस्बे में स्टेशन रोड पर डालमिया विद्या मंदिर के सामने रात को चोरों ने मोबाइल की दुकान के शटर तोड़कर करीब 20 से 25 लाख से ज्यादा कीमत के मोबाइल व नकदी चुराकर ले गए। चोरी की बढ़ती घटनाओं के विरोध में बुधवार को चिड़ावा बंद का आह्वान किया गया था। जानकारी के अनुसार नूनिया गोठड़ा निवासी अजय नूनिया की डालमिया विद्या मंदिर के सामने मोबाइल की दुकान है। दुकानदार नूनिया सोमवार रात को दुकान बंद कर घर चला गया। मंगलवार सुबह दुकान पर पहुंचा तो दुकान का शटर ऊपर की तरफ उठा हुआ था। दुकान के बाहर ही कटर, पेचकस व दो चाकू पड़े थे। दुकान को खुलवाकर देखा करीब 68 मोबाइल, दो लाख नकद पार कर लिए, जिसकी अनुमानित कीमत करीब 20 से 25 लाख से ज्यादा आंकी जा रही है।
रात को 3.11 बजे आए 6 चोर
सीसीटीवी फुटेज के अनुसार सोमवार मध्यरात्रि करीब 3.11 के आस-पास दुकान पर पहुंचे।एक ने दुकान में लगे मीटर से बिजली के तार काट दिया।निगरानी के लिए दूसरे साथी बाहर चहल-कदमी करते रहे। दो चोरों ने शटर के सामने कपड़ा तान दिया। कटर की मदद से शटर की एंगल को काट दिया। जिससे शटर के दोनों तरफ लगे लॉक खिसककर खुल गए। बाद में चोरी की वारदात को अंजाम दिया। चोरों की उम्र करीब 25 से 35 साल के बीच मानी जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned