समझा दर्द, बसों से यूपी भेजे मजदूर, अब बिहार जाएगी रेल

झुंझुनूं. राजस्थान पत्रिका में मजदूरों की समस्या लगातार प्रकाशित होने के बाद आखिर यूपी व बिहार के मजदूरों का घर जाना आसान हुआ है। गुुरुवार को 22 बसों से मजदूरों को उत्तरप्रदेश के अलग-अलग जिलों में भेजा गया।

By: Datar

Updated: 22 May 2020, 03:00 PM IST

समझा दर्द, बसों से यूपी भेजे मजदूर, अब बिहार जाएगी रेलझुंझुनूं. राजस्थान पत्रिका में मजदूरों की समस्या लगातार प्रकाशित होने के बाद आखिर यूपी व बिहार के मजदूरों का घर जाना आसान हुआ है। गुुरुवार को 22 बसों से मजदूरों को उत्तरप्रदेश के अलग-अलग जिलों में भेजा गया। अब 23 मई को बिहार के लिए रेल चलाने की तैयारी है। इसके लिए कलक्टर ने पत्र लिखा है। मंजूरी मिलने के बाद बिहार के लिए ट्रेन चलाई जाएगी। इसमें सैकड़ों मजदूरों को बिहार भेजा जाएगा। इस संबंध में पत्रिका में साहब! मां बीमार हैए छप्पर उड गयाए बिहार भेज दो्य तथा श्बिहार के लिए उठ रही ट्रेन की मांगए प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान्य शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर मजदूरों का दर्द बताया था। जिला कलक्टर उमर दीन खान ने बताया कि जिला मुख्यालय सहित सभी उपखण्ड स्तर से बसों के माध्यम से श्रमिकों को रवाना किया। जिला कलक्टर ने कहा कि राज्य सरकार के आदेशों के तहत इन लोगों को पूरे सम्मान के साथ जिले से विदा किया गया है। रवाना करने से पहले उन्हें भोजनए पानी की बोतलए मास्कए बिस्किट वितरित किए गए। रवाना होते समय बस स्टेण्ड पर जाने वाले श्रमिकों तथा उनके परिवार के लोगों की मेडिकल जांच की गईए उनके दस्तावेज चैक करने के बाद उन्हें भोजन के पैकेट तथा पीने के पानी की बोतल वितरित कर उन्हें निर्धारित बसों में बैठाया गया। उपखण्ड अधिकारी सुरेन्द्र यादव ने बताया कि श्रमिकों को भिजवाने में तहससीलदार योगेश कुमार सहित गिरदावरए पटवारीए मेडिकल टीमए पुलिस सहित विभिन्न राजकीय कार्मिकों तथा भामाशाहों का सहयोग रहा। स्काउट गाईड की झुंझुनू टीम की ओर से रोडवेज बस स्टेण्ड पर निरूशुल्क पानी की आपूर्ति की गईए वहीं बसों में बैठे यात्रियों को भोजन के पैकेट तथा पानी की बोतल वितरण का कार्य किया गया। वहीं सर्व समाज एवं अलराइन सेवा समिति के पदाधिकारियों की ओर से 100 श्रमिक जिन्होंने रोजे रखे हुए थेए उनको फलों का वितरण किया गयाए इस व्यवस्था में इदरिशए इकबालए आरिफए फारूकए इमरानए साजिद अली ने अपनी सेवा दी।सैंकड़ों मजदूर घरों के लिए हुए रवानाखेतड़ी. उपखण्ड के अलग-अगल गांवो में अन्य प्रदेशो के कार्य करने वाले मजदूरों को उनके घर भिजवाने का सिलसिला लगातार जारी है। उपखण्ड अधिकारी शिवपाल जाट ने बताया कि गुरुवार को राजकीय जयसिंह उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर से उतरप्रदेश के हाथरस के लिए राजस्थान रोडवेज की दो बसो में 60 श्रमिकों को बैठा कर रवाना किया गया। खेतड़ी से उतरप्रदेश के 83 मजदूरों ने पंजीयन करवाया था। उसमें से 60 अपने घर जाने के लिए तैयार हुए। शेष ने जाने से इंकार कर दिया। इन मजदूरों को मेडीकल करवा कर,खाना खिलाकर, मास्क व सेनेटाईजर देकर रवाना किया। इस अवसर पर प्रभारी अधिकारी रामानंद शर्मा,तहसीलदार कृष्ण कुमार यादव,बीसीएमओ डा.हरीश यादव व डा.सुरेश मील व कांग्रेस के तहत अध्यक्ष गोकुलचन्द सैनी मौजूद थे।लॉकडाउन में फंसे श्रमिक को सूरजगढ़ से किया रवानायूपी के लिए भेजे 205 श्रमिक सूरजगढ़. कोविड़ 19 महामारी के कारण सूरजगढ़ उपखण्ड में फंसे 205 प्रवासी मजदूरों को गुरुवार अपने घर के लिए रवाना किया गया। शाम 6 बजे बजे उपखण्ड अधिकारी अभिलाषा ने हरी झंडी दिखाकर बस को रवाना किया। अधिकारी ने बताया सभी श्रमिकों को झुंझुनूं आगार की बस से यूपी के हाथरस तक भेजा गया। जिसमें महिला बच्चे व पुरुष शामील है। भेजे गए सभी श्रमिकों की पहले चिकित्सकों की टीम ने मेडिकल जांच की। जनसतर्कता समिति की ओर से श्रमिकों के लिए मास्क, सेनेटाइजर, मिठाई व पानी बोतल की व्यवस्था की गई थी। वहीं जीवन ज्योति रक्षा समिति की ओर से भोजन व पानी की बोतल दी गई।

समझा दर्द, बसों से यूपी भेजे मजदूर, अब बिहार जाएगी रेल
Datar Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned