महासिंह ने बसाया था गांव बारवा

खिरोड़. उपखण्ड मुख्यालय नवलगढ़ से करीब 16 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मोहनवाड़ी का गांव बारवा की बसावट 400 वर्षपुरानी है। गांव के रघुवीर सिंह शेखावत ने बताया कि गांव को महासिंह ने बसाया था। उस दौरान उन्होंने गांव में गढ़ भी बनवाया था।

By: Rajesh

Published: 28 Oct 2020, 11:40 AM IST

महासिंह ने बसाया था गांव बारवा
खिरोड़. उपखण्ड मुख्यालय नवलगढ़ से करीब 16 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मोहनवाड़ी का गांव बारवा की बसावट 400 वर्षपुरानी है। गांव के रघुवीर सिंह शेखावत ने बताया कि गांव को महासिंह ने बसाया था। उस दौरान उन्होंने गांव में गढ़ भी बनवाया था। यह गांव पहले फतेहपुर के नवाब के अधीन आता था। बाद में महासिंह ने इस गांव पर अपना अधिकार कर लिया। पहाड़ी के तलहटी में बसे इस गांव में पहले 12 बास थे। इसलिए इसका नाम बारवा पड़ा। महासिंह की पीढिय़ों के सदस्य वर्तमान में कईगांवों में निवास कर रहे हैं। गांव की बसावट के साथ ही ठाकुरजी (बालमुकुन्द) के मंदिर की भी स्थापना हुई थी। यह गांव का सबसे पुराना मंदिर है। कैला देवी का मंदिर बनाने की शुरुआत बेणीशाल सिंह शेखावत ने की थी। वहीं मंदिर को बड़ारूप देने के लिए महावीर सिंह बारवा आगे आए। गांव स्थित पहाड़ी का पत्थर निर्माण कार्यके लिए दूर दराज तक जाता है।
................................................................................................
आस्था का केन्द्र हैं हरिराम जी का मंदिर
गांव के सेवानिवृत्त विकास अधिकारी भगवान सिंह भाकर ने बताया कि जनसहयोग से गांव में बाबा हरिराम का मंदिर बनवाया। मंदिर में भाद्रपक्ष शुक्ल पक्ष की पंचमी को मेला भरता है। मेले में गांव सहित आस-पास के गांवों व दूर दराज से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं। बाबा के मंदिर में मत्था टेकते हैं। इसके अलावा गांव के केलादेवी, झूजार सिंह, भोमियाजी महाराज, बालाजी, भगवान शिव का मंदिर भी लोगों की आस्था का केन्द्र है।
........................................................................................................
गांव की शख्सियत
गांव के सोहन सिंह कै प्टन के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। वहीं भैरोसिंह शेखावत थानाधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। वहीं गांव के मगन सिंह राइका इंग्लैण्ड में व्यवसाय करते हैं। इसके अलावा गांव में फौज, पुलिस समेत अन्य विभागों में भी काफी संख्या में युवा अपनी सेवाएं दे रहे हैं।
......................................................
ये हैं गांव की समस्याएं
गांव के प्रभुसिंह शेखावत, मदन सिंह ने बताया कि गांव में पेयजल समस्या है। गांव में 10वीं तक ही राजकीय विद्यालय है। इसको क्रमोन्नत कर 12वीं तक किया जाना चाहिए। गांव में उपस्वास्थ्य केन्द्र है। लेकिन उसको भी वर्षों से क्रमोन्नति का इंतजार है।

महासिंह ने बसाया था गांव बारवामहासिंह ने बसाया था गांव बारवा
Rajesh Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned