नांगल टोल नाका पर धरना देकर वाहनों को करवाया टोल फ्री

उदयपुरवाटी. कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर मंगलवार को किसान संगठनों के पदाधिकारियों की ओर से नांगल टोल नाका पर धरना दिया गया। धरने के दौरान टोल नाका से गुजरने वाले वाहनों को टोल फ्री करवाया गया। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले पूर्व उप जिला प्रमुख विद्याधर गिल, पूर्व प्रधान विद्याधर ओलखा के नेतृत्व में नांगल टोल नाका पर लोग एकत्रित हुए और कृषि कानूनों वापस लेने की मांग को लेकर टोल नाका पर धरने बैठ गए और वाहनों से टोल वसूलना बंद करवाया दिया।

By: Datar

Published: 24 Feb 2021, 12:20 PM IST

कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों ने दिया धरना
उदयपुरवाटी. कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर मंगलवार को किसान संगठनों के पदाधिकारियों की ओर से नांगल टोल नाका पर धरना दिया गया। धरने के दौरान टोल नाका से गुजरने वाले वाहनों को टोल फ्री करवाया गया। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले पूर्व उप जिला प्रमुख विद्याधर गिल, पूर्व प्रधान विद्याधर ओलखा के नेतृत्व में नांगल टोल नाका पर लोग एकत्रित हुए और कृषि कानूनों वापस लेने की मांग को लेकर टोल नाका पर धरने बैठ गए और वाहनों से टोल वसूलना बंद करवाया दिया। वाहनों को टोल फ्री करवाने पर किसानों व टोलकर्मियों के बीच कुछ बहस भी हुई। इस दौरान धरने को पार्षद अजय तसीड़, पूर्व सरपंच अर्जुनलाल नांगल, ताराचंद नांगल, दशरथसिंह शेखावत नांगल ने भी संबोधित किया। धरने में जगदीश गोस्वामी, प्रहलाद योगी, सुरेन्द्र सिंह शेखावत, रामलाल, रामनिवास, राजेन्द्र ओला, मूलचंद, दयाराम, विद्याधर, नाथू सैनी, प्रताप सिंह शेखावत, बनवारीलाल सैनी सहित अन्य लोग शामिल थे।


सुलताना-चनाना रोड क्षतिग्रस्त, राहगिर परेशान


सुलताना/चिड़ावा.सुलताना-चनाना रोड जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होने से राहगिरों को परेशानी हो रही है। सड़क टूटने से आए दिन हादसे हो रहे हैं। हालांकि कुछ माह पहले पेचवर्क किया गया था। वह भी कुछ दिनों में ही उखड़ गए। जानकारी के अनुसार कुछ साल पहले सुलताना-चनाना रोड पर डामरीकरण किया गयाथा।जिसके बाद सड़क की सार-संभाल नहीं की गई। जिस कारण सड़क में जगह-जगह गहरे गडढ्े पड़ गए। सड़क टूटने से वाहन चालकों को परेशानी होने लगी। सड़क पर कंक्रीट-पत्थर बिखरे होने के कारण आए दिन दुपहिया वाहन स्लीप होते रहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ माह पहले सड़क पर पेचवर्क कार्य किया गया था। जो कि कुछ महीने बाद ही उखडऩे लगे। उन्होंने बताया कि संबंधित विभाग को सड़क की मरम्मत करवाने बाबत लिखा जा चुका है। मगर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। ग्रामीणों ने बताया कि क्षतिग्रस्त सड़क के कारण पदमपुरा, किशोरपुरा, लोदीपुरा, भुकाना, चनाना सहित अन्य गांवों के राहगिरों को परेशानी होती है। वहीं यह सड़क जयपुर से भी जोड़ती है। ऐसे में लंबी दुरी के वाहन चालकों को भी परेशानी उठानी पड़ती है। ग्रामीणों ने सड़क की मरम्मत करवाने की मांग की।

नांगल टोल नाका पर धरना देकर वाहनों को करवाया टोल फ्री

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned