आक्सीजन लेवल 30 होने के बाद भी कोरोना से जीती जंग

हौंसला: भालोठ का सुरेन्द्र बोला निजी अस्पताल मांग रहे थे 3 लाख

झुंझुनूं. बीडीके अस्पताल में भर्ती भालोठ गांव के सुरेंद्र कुमार ने कोरोना को मात दी। पीएमओ डॉ. बाजिया ने बताया कि सुरेन्द्र 8 मई को बीडीके अस्पताल मे भर्ती हुआ था। उस समय इसका ऑक्सीजन लेवल 30 था तथा सिटी स्कोर करीब 23 था। इसके बावजूद उसने हार नहीं मानी तथा 11 दिन बाद कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो गए। जिसके बाद बुधवार को उन्हें डिस्चार्ज किया गया।

By: Datar

Published: 20 May 2021, 04:20 PM IST

आक्सीजन लेवल 30 होने के बाद भी कोरोना से जीती जंग
हौंसला: भालोठ का सुरेन्द्र बोला निजी अस्पताल मांग रहे थे 3 लाख

झुंझुनूं. बीडीके अस्पताल में भर्ती भालोठ गांव के सुरेंद्र कुमार ने कोरोना को मात दी। पीएमओ डॉ. बाजिया ने बताया कि सुरेन्द्र 8 मई को बीडीके अस्पताल मे भर्ती हुआ था। उस समय इसका ऑक्सीजन लेवल 30 था तथा सिटी स्कोर करीब 23 था। इसके बावजूद उसने हार नहीं मानी तथा 11 दिन बाद कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो गए। जिसके बाद बुधवार को उन्हें डिस्चार्ज किया गया। सुरेंद्र ने बताया कि उसकी हालत नाजुक थी। दो मई को हल्का बुखार आया। इसके बाद घर पर ही दवाइया ली तथा कुछ घरेलू नुस्खे काम में लिए, लेकिन तबीयत में सुधार नहीं हुआ। फिर आठ मई को चिकित्सक को दिखाया। उन्होंने एचआरसीटी करवाई। जिसमें सिटी स्कोर 23/25 तथा 92 प्रतिशत फेफड़े संक्रमित पाए गए। चिकित्सक ने भर्ती होने की सलाह दी। पहले चिड़ावा के निजी अस्पताल मे इलाज के लिए गया। वहां करीब तीन लाख का खर्चा बताया। बाद में बीडीके अस्पताल में इलाज कराया। डिस्चार्ज करते समय सुरेंद्र ने सभी चिकित्सकों का अभिवादन कर आभार जताया। इस अवसर पर पीएमओ डॉ. वीडी बाजिया, डॉ. जितेंद्र भाम्बू, डॉ. रजनीश माथुर, डॉ. नाविद अहमद, डॉ. नेमीचंद कुमावत आदि मौजूद थे।

आक्सीजन लेवल 30 होने के बाद भी कोरोना से जीती जंग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned