अतिक्रमण पर चला पीला पंजा, किढ़वाना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई

सूरजगढ़ . उपखण्ड के गांव किढ़वाना में सूरजगढ़ तहसील प्रशासन टीम की ओर से बुधवार को सरकारी जोहड़ की भूमि से अतिक्रमण हटाया गया। तहसीलदार सतीश राव ने बताया कि किढ़वाना गांव में गैर मुमकिन जोहड़ व गैर मुमकिन बाड़ा की करीब 2 बीधा से अधिक की भूमि पर कुछ ग्रामीणों ने पक्का निर्माण कर अतिक्रमण कर रखा था। जिसके लिए बार-बार नोटिस भी दिए गए। लेकिन अतिक्रमण नहीं हटाया गया। प्रशासन की ओर से करीब चार घंटे लम्बे समय तक चली अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई में सरकार की लाखों रुपए की जमीन से दो जेसीबी मशीन की सहायता

By: Datar

Published: 17 Jun 2021, 05:03 PM IST

सूरजगढ़ . उपखण्ड के गांव किढ़वाना में सूरजगढ़ तहसील प्रशासन टीम की ओर से बुधवार को सरकारी जोहड़ की भूमि से अतिक्रमण हटाया गया। तहसीलदार सतीश राव ने बताया कि किढ़वाना गांव में गैर मुमकिन जोहड़ व गैर मुमकिन बाड़ा की करीब 2 बीधा से अधिक की भूमि पर कुछ ग्रामीणों ने पक्का निर्माण कर अतिक्रमण कर रखा था। जिसके लिए बार-बार नोटिस भी दिए गए। लेकिन अतिक्रमण नहीं हटाया गया। प्रशासन की ओर से करीब चार घंटे लम्बे समय तक चली अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई में सरकार की लाखों रुपए की जमीन से दो जेसीबी मशीन की सहायता से अतिक्रमण हटाया गया और अतिक्रमियों को मौके से बेदखल करते हुए पुन: अतिक्रमण नहीं करने के लिए पाबंद भी किया गया।
तहसीलदार राव व पटवारी अनूप सिंह ने बताया कि सरकारी भूमि पर 5 व्यक्तियों ने 6 पक्के मकान बना रखे थे। इनके खिलाफ उपखण्ड प्रशासन ने जनवरी 2020 में जोहड़ में बनाए गए मकान को अतिक्रमण मानते हुए बेदखली के आदेश दिए थे। लेकिन मामले की अपील पुन: जिला कलक्टर व कोर्ट में की गई। जहां भी इसे अतिक्रमण माना व सूरजगढ़ तहसील के आदेशों को यथावत रखते हुए तोडऩे के आदेश दिए गए। अतिक्रमण तोडऩे की कार्रवाई के बीच प्रशासन को एक अतिक्रमी परिवार की ओर से विरोध का भी सामना करना पड़ा। लेकिन अधिकारियों की ओर से समझाइश के बाद मामला शांत हुआ।
अतिक्रमण की इस कार्रवाई में उपखण्ड अधिकारी अभिलाषा की मौजूदगी में तहसीलदार सतीश राव, चिड़ावा वृत्ताधिकारी सुरेश शर्मा सूरजगढ़ एसएचओ अरुण सिंह, पिलानी, मण्ड्रेला, चिड़ावा थाना प्रभारी एवं गिरदावर, पटवारी व बड़ी तादात में पुलिस टीम के जवान मौजूद रहे।
गौरतलब है कि किढ़वाना गांव के सुरेश मीणा व अमर सिंह मीणा ने इस संबंध में न्यायालय में रिट पेश की थी। संबंधित पब्लिक लैण्ड पोटेक्शन सैल (पीएलपीसी) में दर्ज प्रकरण में राजस्थान उ"ा न्यायालय के आदेश पर जिला कलक्टर द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को अंजाम दिया गया है।


गोचर भूमि से अतिक्रमण हटाने के लिए पत्र भेजा
बुहाना. कलोठड़ा-निहालपुरा गांव की गोचर भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर बुधवार को ग्रामीणों ने जिला कलक्टर उमरदीन खान एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजकर अतिक्रमण हटाने की मांग की है। पत्र में प्रशासन पर राजनैतिक दबाव के चलते अतिक्रमण हटाने में उदासीनता बरतने का आरोप लगाया है। प्रेषित पत्र में लिखा गया है कि कलोठड़ा-निहालपुरा गांव की गोचर भूमि के करीब सौ बीघा जमींन पर प्रभावशाली लोगों ने अतिक्रमण करके क"ो एवं पक्के मकान बना लिए है। अतिक्रमियों ने गोचर भूमि के पास बने शमशान घाट की ओर जाने वाले रास्ते पर भी अतिक्रमण करके चार दिवारी निर्माण कर लिया है। ग्रामीणों का आरोप है कि पटवारी ने अतिक्रमण चिन्हित करके रिपोर्ट तहसील कार्यालय को भेज दी है। लेकिन अतिक्रमियों के खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है। इस बारे में तहसीलदार मांगेराम पूनीया का कहना है कि अतिक्रमण चिन्हित करके नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है।

अतिक्रमण पर चला पीला पंजा, किढ़वाना में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned