scriptKnow how much rain in Jhunjhunu district | जानिए अब तक झुंझुनूं जिले में कहां कितनी बरसात हुई | Patrika News

जानिए अब तक झुंझुनूं जिले में कहां कितनी बरसात हुई

14-15 वर्षों के आंकड़ों के तुलनात्मक अध्ययन से पता चलता है कि वर्ष 2010 में रेकॉर्ड बरसात हुई थी। उस वर्ष पूरे जिले में 767.57 एमएम बरसात दर्ज की गई थी। 2010 के बाद अभी तक यह रेकॉर्ड नहीं टूटा है। वहीं सबसे कम बरसात वर्ष 2009 में हुई थी। तब जिले के अधिकांश हिस्से को सूखे का सामना करना पड़ा था। किसानों को काफी नुकसान हुआ था।

झुंझुनू

Published: August 03, 2022 06:37:40 pm

Know how much rain in Jhunjhunu district
राजस्थान के झुंझुनूं जिले में इस बार मानसून मेहरबान है। सावन आधे से ज्यादा बीता है। अभी पूरा भादो बाकी है। अच्छी बरसात से अच्छी फसल की उम्मीद है। मानसून के बादल सबसे ज्यादा खेतड़ी व गुढ़ागौड•ाी में बरसे। खेतड़ी में पूरे जिले की सर्वाधिक बरसात हुई। यहां 31 जुलाई तक 513 एमएम बरसात हो चुकी। वहीं गुढ़ागौड•ाी में भी 471 एमएम बरसात दर्ज हो चुकी। जबकि सबसे कम बरसात बुहाना व मंडावा में हुई। बुहाना में अभी मात्र 233 एमएम बरसात हुई है। यह आंकड़ा पूरे जिले में सबसे कम है। वहीं मंडावा में भी अभी तक 312 एमएम बरसात हुई है।
जानिए अब तक झुंझुनूं जिले में कहां कितनी बरसात हुई
जानिए अब तक झुंझुनूं जिले में कहां कितनी बरसात हुई
#Mansoon News Jhunjhunu 2022
2010 में हुई सर्वाधिक
14-15 वर्षों के आंकड़ों के तुलनात्मक अध्ययन से पता चलता है कि वर्ष 2010 में रेकॉर्ड बरसात हुई थी। उस वर्ष पूरे जिले में 767.57 एमएम बरसात दर्ज की गई थी। 2010 के बाद अभी तक यह रेकॉर्ड नहीं टूटा है। वहीं सबसे कम बरसात वर्ष 2009 में हुई थी। तब जिले के अधिकांश हिस्से को सूखे का सामना करना पड़ा था। किसानों को काफी नुकसान हुआ था।

जुलाई तक हुई बरसात
सेंटर बरसात एमएम में
झुुझुनूं 408
मलसीसर 328
चिड़ावा 334
सूरजगढ़ 365
खेतड़ी 513
बुहाना 233
नवलगढ़ 317
उदयपुरवाटी 454
मंडावा 312
गुढ़ागौड•ाी 471
कुल औसत 373.50
(एक जनवरी से 31 जुलाई 2022)
--------------------------------------
14 साल में इस प्रकार हुई बरसात (एमएम में)
वर्ष बरसात
2009 290
2010 767.57
2011 678.14
2012 517.71
2013 552.14
2014 514.86
2015 485.43
2016 543.50
2017 329.88
2018 470.50
2019 683.88
2020 410.13
2021 614.125
(01 जनवरी से 31 दिसम्बर तक)

एक्सपर्ट बोले

जुलाई तक पूरे राज्य में अच्छी बरसात हुई है। अब तक राजस्थान में 270 एमएम बारिश हो चुकी। यह औसत से ज्यादा है। अगस्त में भी अच्छी बरसात होगी। सावन आधे से ज्यादा बीता है। अभी पूरा भादो बाकी है। अच्छी बरसात से अच्छी फसल की उम्मीद है।
-दीपेन्द्र बुडानिया, एक्सपर्ट एवं वरिष्ठ व्याख्याता भूगोल, डाइट झुंझुनूं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Independence Day Live Updates : अपनी वीरांगनाओं पर हर भारतवासी को गर्व: PM मोदीIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोIndependence Day 2022 : 26 जनवरी और 15 अगस्त के झंडारोहण में क्या फर्क है? जानिए झंडा फहराने के नियम'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलIndependent Day Special: 15 अगस्त भारत ही नहीं इन तीन देशों का भी स्वतंत्रता दिवस, जानिए इनकी कहानीश्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.