scriptNeither children are reaching nor are getting nutrition | ना बच्चे पहुंच रहे, ना पोषाहार मिल रहा | Patrika News

ना बच्चे पहुंच रहे, ना पोषाहार मिल रहा

jhunjhununews#कई आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन तो मरम्मत का इंतजार कर रहे हैं और कइयों में बने शौचालयों की स्थिति ठीक नहीं है। जिले में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों पर 16 हजार बच्चों का नामांकन हैं। इनमें से वर्तमान में आधे भी बच्चे आंगनबाड़ी केंद्रों पर नहीं पहुंच रहे हैं। इसके अलावा केंद्रों पर आने वाले बच्चों को पोषाहार भी नहीं मिल रहा है।

झुंझुनू

Published: April 14, 2022 09:51:23 pm

केस-01: झाडिय़ों के बीच जर्जर भवन
केहरपुरा कलां पंचायत के श्यामपुरा गांव के आंगनबाड़ी केंद्र को ही ले लीजिए। गांव के बीच मेंं स्वयं का भवन होने के बावजूद आंगनबाड़ी केंद्र को सरकारी विद्यालय में संचालित किया जा रहा है। दरअसल, आंगनबाड़ी केंद्र का निर्माण वर्षों पहले किया गया था। जो कि मरम्मत के अभाव में पूर्ण रूप से जर्जर हो गया। ढलान में होने के कारण बरसात में पानी भरने लगा। ऐसे में गत वर्ष जुलाई में आंगनबाड़ी केंद्र को राजकीय प्राथमिक विद्यालय में शिफ्ट कर दिया गया। जहां कमरे कम होने के कारण फिर से समस्या खड़ी हो गई। सूत्रों के अनुसार विद्यालय में चार कमरे हैं। जिसमें एक में आंगनबाड़ी तो एक को स्टोर रूम बना रखा है। ऐसे में दो कमरों में विद्यालय की पांच कक्षाओं के बच्चों को बिठाया जा रहा है। वहीं आंगनबाड़ी केंद्र के जर्जर भवन में भी आंगनबाड़ी का कुछ सामान रखा हुआ है। पोषाहार वितरण के समय बच्चों और परिजनों को आंगनबाड़ी केंद्र के भवन पर ही बुलाया जाता है। जहां सामग्री वितरित होती है। विद्यालय और केंद्र की दूरी करीब पांच सौ मीटर होने से भी परेशानी होती है।
ना बच्चे पहुंच रहे, ना पोषाहार मिल रहा
ना बच्चे पहुंच रहे, ना पोषाहार मिल रहा
केस-02: दरवाजे ही गायब
पचलंगी. जहाज के मावता गांव में जर्जर निजी भवन में आंगनबाड़ी केंद्र चल रहा है। पचलंगी में पुराने पंचायत भवन में व बाघोली में सामुदायिक भवन में आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हैं। केंद्र पर बिजली, पानी व शौचालय सहित अन्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। भवन भी इतना जर्जर है कि कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।
झुंझुनूं. जिले में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति बेहतर नहीं है। कहीं किराए पर, कहीं विद्यालयों और कहीं अन्य भवनों में संचालित हो रहे इन आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के लिए कोई विशेष इंतजाम भी नहीं हैं। चाहे वह शौचालय, बैठने के लिए दरी और पानी की व्यवस्था की बात हो। कई आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन तो मरम्मत का इंतजार कर रहे हैं और कइयों में बने शौचालयों की स्थिति ठीक नहीं है। जिले में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों पर 16 हजार बच्चों का नामांकन हैं। इनमें से वर्तमान में आधे भी बच्चे आंगनबाड़ी केंद्रों पर नहीं पहुंच रहे हैं। इसके अलावा केंद्रों पर आने वाले बच्चों को पोषाहार भी नहीं मिल रहा है। इस बारे में जब अधिकारियों से बात की गई तो उनका कहना है कि पोषाहार पीछे से पर्याप्त मात्रा में नहीं आ रहा है। जिले के कुल 1595 आंगनबाड़ी केंद्रों में से विभागीय भवन में 494, विद्यालयों में 731, किराए पर 93 और अन्य भवनों में 277 आंगनबाड़ी केंद्र चल रहे हैं। फिलहाल राज्य सरकार ने नए केंद्रों के खोलने पर रोक लगा रखी है।
ब्लॉक आंगनबाड़ी केंद्र
झुंझुनूं 228
अलसीसर 156
चिड़ावा 154
सूरजगढ़ 189
बुहाना 201
खेतड़ी 216
उदयपुरवाटी 224
नवलगढ़ 227
कुल 1595
नामांकन 16000

1595 केंद्रों पर 16 हजार के करीब नामांकन है। कोरोना के कारण अभी बच्चे कम ही आ रहे हैं। माता-पिता की इच्छा पर निर्भर है कि वे अपने बच्चों को भेजे या नहीं । पोषाहार नामांकन से कम आ रहा है। मांग के अनुसार नहीं मिल रहा है। छाया-पानी, शौचालय आदि सभी की बच्चों के लिए व्यवस्था है।
विजेंद्र राठौड़, उप निदेशक, आईसीडीएस (झुंझुनूं)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

India-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शवFarmers protest: विरोध कर रहे किसानों से मिलेंगे CM मान, आखिर क्यों धरने पर बैठे किसान?जब कांस के दौरान खो गई दीपिका पादुकोण की ड्रेस तो आखिरी समय में किया गया ये बदलावबेटा IPL 2022 में ढा रहा कहर, मां इस बात से अनजान, भारतीय क्रिकेटर ने किया चौंकाने वाला खुलासा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.