किसान हित की खबर : 31 जुलाई तक करवा सकते हैं फसल बीमा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ 2021 के लिए बीमा कराने की तिथि 31 जुलाई तय की गई है। बीमा स्वैच्छिक है यानि जो किसान बीमा करवाना चाहता है, वहीं करवा सकता है। अगर किसी ऋण किसान को बीमा नहीं कराना है तो उसके 24 जुलाई तक संबंधित बैंक में अपना बीमा नहीं कराने के लिए आवेदन कर सकता है। अगर किसी ने आवेदन नहीं किया गया तो उसकी स्वत: ही बीमा हो जाएगी।

By: Jitendra

Published: 27 Jun 2021, 06:59 PM IST

झुंझुनूं. ज्यादा बरसात या ओलावृष्टि या किसी अन्य कारण से फसलों में होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए फसल बीमा के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ 2021 के लिए बीमा कराने की तिथि 31 जुलाई तय की गई है। बीमा स्वैच्छिक है यानि जो किसान बीमा करवाना चाहता है, वहीं करवा सकता है। अगर किसी ऋण किसान को बीमा नहीं कराना है तो उसके 24 जुलाई तक संबंधित बैंक में अपना बीमा नहीं कराने के लिए आवेदन कर सकता है। अगर किसी ने आवेदन नहीं किया गया तो उसकी स्वत: ही बीमा हो जाएगी। वहीं, खरीफ 2020 में किसानों की बीमा की स्थित और क्लेम की बात की जाए तो जिले के 63 हजार से अधिक किसानों को 31.71 करोड़ रुपए क्लेम राशि दी गई। जबकि जिले के 2.48 लाख किसानों ने बीमा करवाया था।

कहां कौनसी फसल बीमा के लिए अधिकृत
तहसील बुहाना में पटवार स्तर पर बाजरा, ग्वार व तहसील स्तर पर कपास, चंवला व मूंग
-तहसील स्तर चिड़ावा में पटवार स्तर पर बाजरा, चंवला, ग्वार व मूंग व तहसील स्तर पर कपास
-तहसील झुंझुनूं में पटवार स्तर पर बाजरा, चंवला, ग्वार व मूंग-तहसील खेतड़ी में पटवार स्तर पर बाजरा, ग्वार तथा तहसील स्तर पर चंवला व मूंगफली
-तहसील मलसीसर में पटवार स्तर पर बाजरा, चंवला, ग्वार व मूंग
-तहसील नवलगढ़ में पटवार स्तर पर बाजरा, चंवला ग्वार व मूंग व तहसील स्तर पर मूंगफली
-तहसील सूरजगढ़ में पटवार स्तर पर बाजरा, कपास, चंवला, ग्वार व मंूंग
-तहसील स्तर उदयपुरवाटी में पटवार स्तर पर बाजरा, मूंंगफली, ग्वार व तहसील स्तर पर चंवला व मूंग

क्या रहेगी प्रीमियम राशि
फसल प्रीमियम (प्रति हैक्टेयर)
बाजरा 551
कपास 1377.95
चंवला 859.30
मूंगफली 2083.31
ग्वार 774.72
मूंग 827.98

इन आपदाओं पर फसल नष्ट होने पर मिलेगा लाभ
कृषि अधिकारियों के अनुसार आपदाओं से नष्ट होने की स्थिति जैसे ओलावृष्टि, भू-स्खलन, बादल फटना, प्राकृतिक आग, जलपलायन की स्थानीय आपदाओं पर लाभ मिल सकेगा। अधिसूचित फसल को नुकसान की स्थिति में फसल का आंकलन व्यक्तिगत बीमित फसली कृषक स्तर पर किए जाने का प्रावधान किया गया है।

इनका कहना है...
खरीफ 2021 के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जिले में फसलों की बीमा की अधिसूचना जारी कर दी गई है। जिसके तहत तहसील व पटवार स्तर पर फसलों का निर्धारण किया गया है। इसके लिए किसान 31 जुलाई तक स्वैच्छिक अपना बीमा करवा सकता है। वहीं, खरीफ 2020 में 63 हजार से अधिक किसानों को 31.71 करोड़ रुपए का बीमा क्लेम राािश् जारी की गई है।
डा. राजेंद्र लांबा, उप निदेशक कृषि विस्तार (झुंझुनूं)

Jitendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned