ये काम कर लिया तो पुलिस अधिकारी बना लेंगे मित्र, देंगे सम्मान

ये काम कर लिया तो पुलिस अधिकारी बना लेंगे मित्र, देंगे सम्मान

manish mishra | Updated: 14 Jul 2019, 11:01:07 PM (IST) Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan, India

झुंझुनूं. थानाधिकारी की अनुशंषा पर एक अधिक व्यक्तियों का चयन किया जा सकता है।

झुंझुनूं. अपराध नियंत्रण के लिए पुलिस महकमा अब कई तरह के नवाचार कर रहा है।इसके लिए पुलिस अब जिले के सभी थानों में मित्र बनाएगी।जो कि अपराधों की रोकथाम के लिए के लिए आमजन को जागरूक करेगी। ये पुलिस मित्र थाना क्षेत्र में हो रही चोरियों, नशा मुक्ति, ट्रेफिक व्यवस्था में सुधारने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर प्रयास करेंगे। प्रदेश में रहने वाला कोई भी व्यक्ति इसके लिए राजस्थान पुलिस की वेबसाइट पर आवेदन कर सकता है।

 

 

जानकारी के मुताबिक पुलिस मित्रों के मोबाइल पर एक संदेश भेजकर उन्हें बताया जाएगा कि किस तरह से सहयोग व किस तरह के काम करने हैं। संदेश के आधार पर पुलिस मित्र अपराध नियंत्रण में पुलिस की मदद करेंगे। साथ ही अतिक्रमण हटाने, बाल दुव्र्यवहार, एंटी नारकोटिक्स अभियान, सभा, धार्मिक आयोजन, जुलूस, अपने-अपने क्षेत्रों में रात्रिगश्त सहित अपनी रुचि के हिसाब से काम कर सकेंगे। इसके लिए आवेदन के दौरान युवाओं को क्षेत्र चुनना होगा।


पुलिस मित्र बनने के लिए थानों में संख्या सीमित नहीं होगी। थानाधिकारी की अनुशंषा पर एक अधिक व्यक्तियों का चयन किया जा सकता है। विभाग के अधिकारियों की माने तो इसमें राजनीतिक पार्टियों के पदाधिकारी या अपराधिक छवि वाले व्यक्तियों को मित्र नहीं बनाया जा सकता है। आवेदन से पहले संबंधित थाना पुलिस ऐसे व्यक्ति की पूरी जांच के बाद शामिल करेगी। पुलिस से जुडऩे के बाद किसी व्यक्ति के खिलाफ शिकायत मिलने पर सही पाए जाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


इस तरह करना होगा आवेदन
जानकारी के मुताबिक पुलिस मित्र बनने के लिए राजस्थान पुलिस की वेबसाइट पर जानकार ऑनलाइन पुलिस मित्र का फॉर्म भरना होगा। इसके बाद पुलिस की ओर से आवेदन कर्ता के रेकॉर्ड की जांच करेगी। जांच के दौरान आवेदन कर्ता के रेकॉर्ड सही नहीं पाया जाने पर आवेदन रद्द कर दिया जाएगा।पुलिस मित्र बनने वाले की उम्र २१ वर्ष निर्धारित की गई है।


इनका कहना है
आमजन से जुडऩे के लिए पुलिस मित्र योजना शुरू की गई है। इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन भी थाने में आवेदन किया जा सकता है।आवेदन प्राप्त होने पर उसकी जांच करवाई जाएगी।योजना में आमजन के जुडऩे से अपराध नियंत्रण में मदद मिलेगी।
गौरव यादव, पुलिस अधीक्षक झुंझुनूं।

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned