झुंझुनूं. प्रसिद्ध क्रिकेटर सुरेश रैना के फूफा व फूफेरे भाई की हत्या में शामिल आरोपियों को तलाशने पंजाब के पठानकोट की पुलिस सोमवार शाम को मोबाइल लोकेशन के आधार पर झुंझुनूं जिले के सुलताना गांव में आई। टीम रातभर बाजरे व ग्वार के खेत में आरोपियों को तलाशती रही। पुलिस ने दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है, जबकि उनके साथी देर रात तक खेतों में छिपे रहे। पंजाब के पठानकोट की पुलिस ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से सोमवार शाम को सुलताना गांव में श्रीअमरपुरा रोड पर अलग-अलग जगहों से दो संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया है। हालांकि पंजाब और स्थानीय पुलिस ने घटना से जुड़ी कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया। जानकारी के अनुसार शाम करीब 5-6 बजे लोकेशन के आधार पर सुलताना के टेकड़ा मोड़ क्षेत्र पर दबिश दी। जहां खड़े संदिग्ध युवक घरों में होते हुए श्रीअमरपुरा रोड की तरफ भाग गए। जिनका पुलिस ने पैदल ही पीछा किया। पुलिस ने ग्वार और बाजरे की फसल में छिपे दो युवकों को हिरासत में ले लिया। जबकि उनके अन्य साथी अलग-अलग खेतों में भाग गए। जिनकी चिड़ावा डीएसपी सुरेश शर्मा, पठानकोट डीएसपी परमवीरसिंह के नेतृत्व में झुंझुनूं स्पेशल टीम, क्यूआरटी, सुलताना चौकी पुलिस और पंजाब पुलिस के 50 से ज्यादा जवान तलाश में जुटे रहे। देर रात तक अंधेरा होने के बावजूद पुलिस टीमें खेतों में संदिग्ध युवकों की तलाश में जुटी रही। इस संबंध में चिड़ावा डीएसपी सुरेश शर्मा का कहना है कि पंजाब पुलिस आरोपियों की तलाश में आई है। जिनका सहयोग किया गया। उन्होंने घटना से जुड़ी कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया। जिन दो युवकों को हिरासत में लिया है, उनका नाम व पता पुलिस अभी नहीं बता रही। दोनों भी अपना नाम और पता बार-बार बदल रहे हैं।


पठानकोट में हुई थी हत्या
पंजाब के पठानकोट के थरियाल में 19 अगस्त को अज्ञात बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया था। जिसमें घर के मुखिया व उनके पुत्र की बदमाशों ने हत्या कर दी थी। मृतक क्रिकेटर सुरेश रैना के फूफा और फुफेरा भाई बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि सुलताना में पुलिस ने इसी वारदात के आरोपियों की तलाश में दबिश दी है। इस वारदात में चिडावा क्षेत्र का युवक भी शामिल बताया जा रहा है।


लोकेशन के आधार पर की छापेमारी
पंजाब पुलिस को कुछ दिनों से संदिग्ध लोगों की लगातार लोकेशन मिल रही थी। पुलिस ने आरोपियों की तस्दीक के लिए सादा वर्दी में संदिग्ध जवान भी तैनात कर रखे हैं। उधर, पंजाब के पठानकोट के थरियाल में संदिग्ध मोबाइल मिला था। जिससे अहम सुराग मिलने की जानकारी भी हासिल हुई है।

घुमन्तु जाति के हैं आरोपी
सूत्रों के अनुसार संदिग्ध आरोपी घुमन्तु जाति के बताए जा रहे हैं। ये लगातार अपने ठिकाने बदलते रहते हैं। ये आरोपी हिंदी, पंजाबी और अन्य भाषाओं के अच्छे जानकार बताए जा रहे हैं।

दो दिन पहले मिला था मोबाइल
दो दिन पहले पठानकोट के पास मुतफरका गांव में मोबाइल व चार्जर खेतों में बरामद हुआ था। पुलिस ने इसे कब्जे में ले लिया और इसकी जांच की गई। इस मोबाइल को थरियाल लूट एवं हत्या मामले के साथ जोड़कर भी देखा जा रहा था। जानकारी के अनुसार शनिवार को गांव के एक किसान ने खेतों में झाडिय़ों में मोबाइल और चार्जर को पड़े देखा। इसकी सूचना सरपंच प्रेमचंद को दी थी। पंचायत की शिकायत पर पुलिस टीम ने मोबाइल और चार्जर को कब्जे में लिया। इसके साथ ही थरियाल में पीडि़त परिवार के पास जाकर मोबाइल संबंधी बातचीत की। लेकिन परिवार के सदस्यों ने इस फोन को अपना नहीं बताया और इसकी जानकारी से इंकार किया। बताया जा रहा है कि मोबाइल की जांच में कुछ अहम सुराग हाथ लगे थे।

ग्रामीणों में अफरा-तफरी
अचानक आरोपियों की धरपकड़ की कार्रवाई के बाद ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। युवकों के पीछे पुलिस के जवान देखकर लोग सकते में आ गए। लोग तरह-तरह के कयास लगाते रहे। उधर, पुलिस की टीमें श्रीअमरपुरा रोड, किशोरपुरा रोड व चनाना रोड पर खेतों में दबिश देती रही।


इनका कहना है
मुझे इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। आप इस संबंध में सीओ से बात कर लो।
-जेसी शर्मा, एसपी झुंझुनूं

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned