scriptShekhawati's powerful mother Savitri, son IPS, daughter IAS | शेखावाटी की पावरफुल मां सावित्री, बेटा आइपीएस, बेटी आइएएस | Patrika News

शेखावाटी की पावरफुल मां सावित्री, बेटा आइपीएस, बेटी आइएएस

मुझे उस दिन सबसे ज्यादा खुशी हुई जब एक ही दिन बेटा आइपीएस और बेटी आइएएस बनी। दोनों ने मसूरी में एक ही दिन ट्रेनिंग शुरू की। एक ही बैच में ट्रेनिंग पूरी की। अब बेटा और बेटी बड़े पदों पर है।

झुंझुनू

Published: May 08, 2022 08:54:57 pm


राजेश शर्मा

झुंझुनूं. मां पहली गुरु होती है। उसकी डांट, उसके संस्कार, उसकी दुलार सभी का बच्चों के जीवन पर गहरा असर पड़ता है। मां सब कुछ जानती है। बेटे की उदासी का कारण भी बिना पूछे ही जान जाती है। वह चाहती है उसके बेटे बेटियां नाम कमाएं। आगे बढ़ें। चाहे उसके लिए उसे कितनी भी मेहनत करनी पड़े। आज मातृत्व दिवस है। आज हम बता रहे हैं ऐसी दो मां के बारे में खुद तो ज्यादा नहीं पढ़ी लेकिन उनके बेटी-बेटियां आइएसएस और आइपीएस हैं।
शेखावाटी की पावरफुल मां सावित्री, बेटा आइपीएस, बेटी आइएएस
शेखावाटी की पावरफुल मां सावित्री, बेटा आइपीएस, बेटी आइएएस
मैं तो एक ही बात कहती थी, पढ़ोगा तो आगे बढ़ोगा

मेरा पीहर कालेरों का बास गांव में है। मुझे याद नहीं है मैं स्कूल कितने दिन गई। शादी के बाद अलसीसर आ गई। पीहर की बजाय अलसीसर बड़ा कस्बा था। यहां बच्चों को हर दिन स्कूल जाते हुए देखती। उनको देखकर ठान लिया, मैं तो नहीं पढ़ी लेकिन मेरे बच्चों को जरूर पढ़ाऊंगी। यह कहना है अलसीसर के निकट रामू की ढाणी निवासी सावित्री देवी का। सावित्री ने बताया कि मैंने बच्चों को खूब पढ़ाया। घर से स्कूल एक कोस से ज्यादा दूर था। बच्चे स्कूल नहीं जाते तो खुद पैदल-पैदल छोड़कर आती। पांचवीं तक ढाणी के निकट सरकारी स्कूल में पढ़ाया। रोज बच्चों से कहती जो स्कूल में पढाया है उसे घर पर पढो। कल क्या पढ़ाएंगे उसे एक दिन पहले ही पढ़कर जाओ। उनको एक ही बात कहती मैं तो नहीं पढ़ी लेकिन मैं चाहती हूं कि तुम अफसर बनो। बेटा अनिल कुमार बड़ा हुआ। पढाई में मन लगाने लगा। वर्ष 1995 में दसवीं में मेरिट में आया। बारहवीं में भी मेरिट में आया। फिर डॉक्टर की पढा़ई की। अब उत्तरप्रदेश में भारतीय पुलिस सेवा में है। वर्तमान में अनिल भदोई जिले में एसएसपी हैं। इसी प्रकार बेटी मंजू को पढ़ाया। पहले उसने डॉक्टर बनने की पढाई की। डॉक्टर बनने के बाद आइएएस की तैयारी करने दिल्ली चली गई। वहां उसने मन से तैयार की। मैं रोज उसे फोन कर खाने व पढऩे के बारे में पूछती। उसी भी यही कहती बेटी पढऩे में ध्यान रखना। उसने भी आइएएस की परीक्षा उत्तीर्ण की। वर्तमान में मंजू अलवर में यूआइटी की सचिव है। मुझे उस दिन सबसे ज्यादा खुशी हुई जब एक ही दिन बेटा आइपीएस और बेटी आइएएस बनी। दोनों ने मसूरी में एक ही दिन ट्रेनिंग शुरू की। एक ही बैच में ट्रेनिंग पूरी की। अब बेटा और बेटी बड़े पदों पर है। उनके पास खूब काम है, लेकिन दोनों हर दिन एक बार वीडियो कॉल जरूर करते हैं।

-------------------------
खुद आठवीं, बेटे को बना दिया आइएएस
नवलगढ़ तहसील के देलसर खुर्द गांव निवासी सुनीता ने बताया कि उसका पीहर घोड़ीवारा में है। वह तो ज्यादा नहीं पढ़ी, लेकिन बच्चों की पढाई पर ध्यान दिया। उनके सुबह उठने, तैयार होने व पढाई का पूरा ध्यान रखा। मैं तो आठवीं तक पढ़ी थी। उस समय अंग्रेजी जानती नहीं थी। लेकिन पांचवीं के बाद बेटे को अंग्रेजी मीडियम में पढाया। मुझे अंग्रेजी नहीं आती थी, लेकिन फिर भी अंग्रेजी में पाठ सुनती। बीच में उसे यूं ही टोक देती, गलत पढ़ रहा है दुबारा सुना। उसे कहती बेटा पढाई को कोई चुरा नहीं सकता। जिसने पढाई कर ली उसे कोई आगे बढऩे से नहीं रोक सकता। आज बेटा नवीन कुमार भारतीय प्रशासनिक सेवा का अधिकारी है। उसकी ड्यूटी अभी बिहार की राजधानी पटना में पटना सदर अनुमंडल पदाधिकारी की है। छोटा बेटा कार्तिक बिजनेस संभाल रहा है। सुनीता ने बताया कि आइएएस बनने के बाद बेटे की शादी हुई तो आइआरएस बहू महिमा के पीहर वालों ने दहेज व कार देने का प्रस्ताव रखा लेकिन मैंने मना कर दिया। जीवन में वही धन समृद्धि देता है जो खुद का कमाया हुआ हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज शाम 5 बजे होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: 30 जून को फ्लोर टेस्ट के लिए मुंबई वापस पहुंचेगा शिंदे गुट, आज किए कामाख्या देवी के दर्शनMumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज ही होगी सुनवाईनवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतUdaipur Kanhaiya Lal Murder: बैकफुट पर गहलोत सरकार, अब मंत्री बोले, 'ऐसे लोगों को ठोके पुलिस' और दी जाए 'फांसी'Udaipur Murder Case: राजस्थान में एक माह तक धारा 144, पूरे उदयपुर में कर्फ्यू, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंअमरनाथ यात्रा 2022 : जम्मू से कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवानानुपुर शर्मा के सपोर्टर की उदयपुर में हत्या के बाद हाई अलर्ट पर UP, अफसरों को सतर्क रहने के निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.