सुरेश रैना के फूफा की हत्या के बाद राजस्थान के झुंझुंनूं में ऐसा कार्य कर रहे थे आरोपी

यह एक शातिर गिरोह है। जो कचना बीनने के बहाने रैकी करता है। ऐसे घर, प्रतिष्ठानों की तलाश में रहता है जहां पैसे व गहने ज्यादा मिलें और सुरक्षा कमजोर हो। पूरी तहकीकात के बाद आरोपी वारदात करते हैं। इस दौरान कोई विरोध करता है तो उसे मौत के घाट उतार दिया जाता है।

By: Rajesh

Updated: 16 Sep 2020, 10:37 PM IST


झुंझुनूं/चिड़ावा. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर सुरेश रैना के फूफा व फुफेरे भाई की पंजाब के पठानकोट के थरियाल गांव में हत्या करने के बाद संदिग्ध आरोपी राजस्थान के झुंझुनूं जिले के चिड़ावा व सुलताना में छिपे हुए थे। वे हत्या के बाद चिड़ावा आ गए। यहंा फरारी काट रहे थे। कोई उन पर शक नहीं करे, इसलिए कचरा व प्लास्टिक की बोतल बीनने का कार्य करते थे। इस गिरोह में कुल दस सदस्यों के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। इधर खतरनाक आरोपियों के जिले मेें मिलने के बाद पुलिस के खुफिया तंत्र व बीट सिस्टम पर भी सवाल उठने लगे हैं। आखिर पुलिस का सिस्टम उनका पता क्यों नहीं लगा पाया?

#suresh raina news jhunjhunu
जबकि पंजाब पुलिस ने इस मामले में पांच जनों को गिरफ्तार कर लिया है। दो को पहले दिन गिरफ्तार कर लिया था, जबकि तीन को बुधवार को गिरफ्तार किया है। हत्या में कुल दस से अधिक आरोपी शामिल थे। बुधवार को गिरफ्तार आरोपी तारूब, मोहब्बत और सावन हैं। यह हत्या की वारदात में शामिल थे। सुलताना से दो दिन पहले गिरफ्तार रेहान और रिजवान ने पंजाब पुलिस ने पूछताछ की तो अहम खुलासे हुए हैं। पंजाब पुलिस ने बताया, आरोपियों ने पठानकोट में दोहरे हत्याकांड और लूट की वारदात को कबूल कर लिया। सूत्रों के अनुसार आरोपी पंजाब में वारदात कर वापस चिडावा आ गए तथा गांवों से कचरा बीनने लगे। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि गैंग में 10 से ज्यादा लोग शामिल हैं। जो कि गैंग के साथ वारदात करते थे। पुलिस टीम अन्य आरोपियों की भी तलाश कर रही हैं। उधर, पंजाब पुलिस मुख्यालय ने वारदात के खुलासे में अहम योगदान देने पर झुंझनूं एसपी जेसी शर्मा, डीएसपी सुरेश शर्मा और डीएसटी टीम के सहयोग की सराहना की। वही इस सहयोग के लिए पंजाब में सम्मानित करने की घोषणा की।

#murder of suresh rainas relative

बुधवार को भी तलाश
हत्या के आरोपियों की तलाश में बुधवार को भी पंजाब पुलिस ने जगह-जगह तलाशी अभियान चलाया। जिसमें स्थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया गया। गौरतलब है कि पठानकोट के थरियाल गांव में क्रिकेटर रैना के रिश्तेदार के घर 19 अगस्त को लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसका विरोध करने पर आरोपियों ने दो जनों की हत्या कर दी थी। आरोपियों की लोकेशन के आधार पर चिड़ावा क्षेत्र में तलाश की गई। जिसमें सुलताना से दो जनों को हिरासत में लिया गया था।

#crime in pathankot
कचरे के बहाने रैकी, विरोध करने पर हत्या
यह एक शातिर गिरोह है। जो कचना बीनने के बहाने रैकी करता है। ऐसे घर, प्रतिष्ठानों की तलाश में रहता है जहां पैसे व गहने ज्यादा मिलें और सुरक्षा कमजोर हो। पूरी तहकीकात के बाद आरोपी वारदात करते हैं। इस दौरान कोई विरोध करता है तो उसे मौत के घाट उतार दिया जाता है।

Rajesh Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned