scriptपौधे लगाकर भूलते नहीं ट्रस्ट के लोग, पेड़ बनने तक सींचते हैं | Patrika News
झुंझुनू

पौधे लगाकर भूलते नहीं ट्रस्ट के लोग, पेड़ बनने तक सींचते हैं

पौधों को जानवरों से बचाने के लिए ट्री गार्ड भी ट्रस्ट की तरफ से ही लगाए गए हैं। इससे पौधों को आवश्यकतानुसार हवा व रोशनी मिलती है, साथ ही जानवरों से भी वे सुरक्षित रहते हैं। रोज पानी, खाद, सर्दी, गर्मी से बचाने के लिए उपाय भी ट्रस्ट के सदस्य करते हैं।

झुंझुनूJun 26, 2024 / 01:31 pm

Jitendra

#jhunjhununews
लोग बारिश या विशेष अवसरों पर पौधे लगाते हैं लेकिन उसके बाद उनके संरक्षण की तरफ ध्यान नहीं देते। लेकिन बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट की ओर से पौधरोपण करने के साथ-साथ पौधों के पेड़ बनते तक उनका संरक्षण भी किया जा रहा है। ट्रस्ट ने पिछले तीन साल में बिसाऊ के विभिन्न स्थानों पर लगाए गए 611 पौधों को सींचकर पेड़ की शक्ल दे डाली है। इसी का परिणाम है कि आज कस्बे में कई जगह हरियाली छाई हुई है। यहां नीम, शीशम, अशोक, पीपल, गुलमोहर सहित विभिन्न प्रजातियों के पेड़ लगाए गए हैं।

पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड

पौधों को जानवरों से बचाने के लिए ट्री गार्ड भी ट्रस्ट की तरफ से ही लगाए गए हैं। इससे पौधों को आवश्यकतानुसार हवा व रोशनी मिलती है, साथ ही जानवरों से भी वे सुरक्षित रहते हैं। रोज पानी, खाद, सर्दी, गर्मी से बचाने के लिए उपाय भी ट्रस्ट के सदस्य करते हैं।

देखरेख के लिए ट्रस्ट की टीम है तैनात

ट्रस्ट के स्थानीय संयोजक पंकज जेजानी ने बताया कि 3 वर्ष पहले बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट ने शहर के सिंघानिया स्कूल से बाइपास तक, बाइपास से थाना सर्किल होकर गागिंयासर रोड, शहर के चारों तरफ 1058 पौधे लगाए हैं। इनमें से एक भी पौधे को मुरझाने नहीं दिया गया है। ट्रस्ट का मानना है कि पौधों की संया बढ़ाने से बेहतर है कि जो पौधा लगाया जाए, उसका पालन कर उसे वृक्ष की शक्ल देने का जिमा उठाया जाए। प्रत्येक पौधा सुरक्षित रहे, इसके लिए ट्रस्ट की टीम तैनात की गई है।

भामाशाहों का मिलता है सहयोग

बिसाऊ शहर के निवासी एवं प्रवासी दोनों ही ट्रस्ट के कार्यों को बड़े़ ही तन मन धन उत्साह के साथ पूरा करते हैं। शहर के सौंदर्यीकरण, पर्यावरण, चिकित्सा, शिक्षा आदि अनेक कार्य ट्रस्ट की ओर से किए जा रहे हैं।

Hindi News/ Jhunjhunu / पौधे लगाकर भूलते नहीं ट्रस्ट के लोग, पेड़ बनने तक सींचते हैं

ट्रेंडिंग वीडियो